487 करोड़ के कोयला आयात घोटाले की केंद्रीय जांच ब्यूरो ने जांच शुरू की

Advertisements

NEWS IN HINDI

487 करोड़ के कोयला आयात घोटाले की केंद्रीय जांच ब्यूरो ने जांच शुरू की

नई दिल्ली। सीबीआइ ने 487 करोड़ रुपये के कोयला आयात घोटाला मामले की जांच शुरू कर दी है। इंडोनेशिया से आयातित घटिया किस्म के कोयले को उत्तम श्रेणी का बताकर एनटीपीसी और अरावली पावर कारपोरेशन को सौंपा गया था। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने राजस्व गुप्तचर निदेशालय की जांच के आधार पर कार्रवाई शुरू की है। एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि राजस्व गुप्तचर निदेशालय ने वर्ष 2011-12 और 2014-15 के दौरान आयात में गड़बड़ी पाया।

सीबीआइ ने कोस्टल इनर्जी प्राइवेट लिमिटेड चेन्नई के प्रमोटर अहमद एआर बुहारी और नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन (एनटीपीसी), मेटल एंड मिनरल ट्रेडिंग कारपोरेशन (एमएमटीसी), अरावली पावर कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की है। एजेंसी ने सभी को आपराधिक साजिश धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के तहत आरोपी बनाया है। एफआइआर के अनुसार, एनटीपीसी और अरावली पावर कारपोरेशन लिमिटेड ने कोयले की आपूर्ति के लिए वैश्विक निविदा जारी की थी। पावर प्लांट संचालन के कुछ निश्चित स्तर के लिए कोयले की श्रेणी और गुणवत्ता महत्वपूर्ण थी।

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एमएमटीसी और चेन्नई की कोस्टल इनर्जी प्राइवेट लिमिटेड निविदा में सफल हुई। कंपनी ने सीधे इंडोनेशिया से कोयला नहीं मंगाकर दुबई की सहयोगी कंपनी के माध्यम से आपूर्ति कराई और गुणवत्ता से समझौता किया। एनटीपीसी, एमएमटीसी और अरावली पावर कंपनी लिमिटेड एनटीपीसी हरियाणा एवं दिल्ली सरकार की संयुक्त उपक्रम कंपनी है। कोयला आधारित ताप बिजली घर संचालित करती हैं और इसके लिए वैश्विक निविदा के माध्यम से कोयले का आयात किया जाता है।

 

NEWS IN English

487-crore coal import scam probe launched by Central Bureau of Investigation

new Delhi. The CBI has started investigating the Rs 487 crore coal import scam case. NTPC and Aravali Power Corporation were handed over to the low-quality coal imported from Indonesia by mentioning the best category. The Central Bureau of Investigation (CBI) has initiated action on the basis of investigation of the Directorate of Revenue Intelligence. An official said on Tuesday that the Revenue Intelligence Directorate found a disturbance in imports during 2011-12 and 2014-15.

The CBI has registered an FIR against the promoters of Coastal Energy Private Limited, Chennai, promoters Ahmed AR Bhari and National Thermal Power Corporation (NTPC), Metal and Mineral Trading Corporation (MMTC), unknown officials of Aravali Power Company Private Limited. The agency has made all accused under the criminal conspiracy fraud and the Prevention of Corruption Act. According to the FIR, NTPC and Aravali Power Corporation Limited issued global tenders for the supply of coal. Coal range and quality were important for certain level of power plant operation.

Public sector company MMTC and Chennai’s Coastal Energy Private Limited have been successful in the tender. The company did not supply coal directly from Indonesia and supplied it through a Dubai subsidiary and entered into an agreement with quality. NTPC, MMTC and Aravali Power Company Ltd. NTPC is a Joint Venture Company of Haryana and Delhi Government. Coal based thermal power plants are operated and for this, coal is imported through global tender.

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.