Advertisements

NEWS IN HINDI

भाजपा नेताओं की हत्याओं के बाद प्रदेश की सियासत गरमाई, कई जगह पर हुआ प्रदर्शन

भोपाल। भाजपा नेताओं की लगातार हत्याओं के मामले ने मध्यप्रदेश की राजनीति में बवाल ला दिया है। मंदसौर में भाजपा नेता प्रहलाद बंधवार और बड़वानी में मनोज ठाकरे की हत्या के विरोध में भाजपा ने आज प्रदेशभर में कमलनाथ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। भोपाल में मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला जलाया गया। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन मामलों को साजिश करार दिया है।

बीते दिनों में मंदसौर नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार और फिर बड़वानी में भाजपा नेता मनोज ठाकरे की हत्या कर दी गई। इसमें बंधवार के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है लेकिन सेंधवा विकासखंड के बलवाड़ी में मॉर्निंग वॉक पर निकले बलवाड़ी भाजपा मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की दिनदहाड़े हुई हत्या को लेकर पुलिस का हाथ खाली हैं। अज्ञात हमलावरों ने ठाकरे के सिर और चेहरे पर पहले धारदार हथियार से हमला किया और फिर उन्हें घसीटते हुए खेत तक ले गए। यहां सिर पर पत्थर पटकर उनकी हत्या कर दी गई।

भाजपा नेताओं की हत्याओं की इन घटनाओं पर भाजपा ने कड़ा रुख अपनाया है और इनसे प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। भाजपा ने कई स्थानों पर प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री कमलनाथ के पुतले जलाए। कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

उधर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इसे साजिश करार दिए जाने के बाद राजनीतिक बवाल मच गया है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए शिवराज ने कमलनाथ सरकार को चेतावनी तक दे डाली। शिवराज ने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार आते ही अपराधियों के हौंसले बुलंद हो गए हैं और भाजपा नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है। वहीं उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ को हिदायत दी कि वे अपने मंत्रियों को गैर जिम्मेदाराना बयान देने से रोके। वे प्रदेश के मंत्री गली-मोहल्ले के नेताओं जैसे बयान दे रहे हैं।

कांग्रेस अब सरकार में है और पार्टी के नेताओं को जिम्मेदारी का परिचय देना चाहिए । कमलनाथ जी को अपने मंत्रियों को हिदायत देनी चाहिए कि वो गली-मोहल्ले के नेताओं जैसे बयान न दें। राज्य की कानून एवं व्यवस्था सरकार की जवाबदेही है। ऐसे में मंत्रियों को अफवाहें फैलाने से बचना चाहिए।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

After the killings of BJP leaders, state’s politics of warmth

Bhopal. The issue of constant killings of BJP leaders has brought the issue of politics in Madhya Pradesh. In protest against the killing of Manhaj Thackeray in BJP’s Prahlad Bondwari in Bamdwani and BJP in Mandsaur, the BJP today protested against the Kamal Nath government across the state. Chief Minister Kamal Nath’s effigy was burnt in Bhopal. Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan has termed these cases as conspiracy.

In the past, Mandsaur municipal president Prahalad Bandwar was killed and then BJP leader Manoj Thakre was killed in Badwani. Police have disclosed the case of the bond but the police’s hand is on the killing of Balwadi BJP Mandal President Manoj Thackeray’s day-long murder on the morning walk in Balwadi of Sandhwa development block. The unidentified attackers attacked Thackeray’s head and face with the first sharp weapon and then dragged him to the field. He was murdered on the head by stone stone.

The BJP has adopted a stern stand on these incidents of killing of BJP leaders and the politics of the state has been heated up. The BJP burnt effigies of the state government and Chief Minister Kamal Nath at many places. The workers shouted slogans against the Congress government.

Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan has declared political conspiracy after it was declared conspiracy. Raising questions on the law and order in the state, Shivraj gave a warning to the Kamalnath government. Shivraj said that when the Congress government came to power in the state, the culprits have been overwhelmed and BJP leaders are being targeted. At the same time he instructed Chief Minister Kamal Nath to stop his ministers from giving irresponsible statements. They are giving statements like the leaders of the state minister Ghali-Mohalla.

Congress is now in government and party leaders should introduce responsibility. Kamal Nath should instruct his ministers that they should not make statements like street-leaders. State law and order is accountability of the government. In such a way, ministers should avoid spreading rumors.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: