कर्ज माफी : किसान के खाते में चढ़ा पांच रुपए का कर्ज, होगा माफ

Advertisements

NEWS IN HINDI

कर्ज माफी : किसान के खाते में चढ़ा पांच रुपए का कर्ज, होगा माफ

खंडवा। कर्जमाफी को लेकर जिले में कि सानों की जानकारी जुटाने के साथ ही फॉर्म भरे जाने का सिलसिला चल रहा है। इस दौरान किसानों पर चढ़े कर्ज को लेकर रोचक मामले भी सामने आ रहे हैं। रामेश्वर सेवा सहकारी समिति की सूची में एक कि सान पर पांच रुपए का कर्ज दर्शाया गया है। जबकि कु छ किसानों पर 30-30 रुपए के कर्ज की स्थिति सामने आई है। कर्जमाफी के लिए ऐसे किसानों से भी फॉर्म भरवाए जा रहे हैं। प्रदेश सरकार के आदेश के मुताबिक 31 मार्च 2018 को जिन किसानों पर कृषि ऋण बकाया था, उसे माफ करने के निर्देश दिए हैं। शहरी क्षेत्र के किसानों को योजना का लाभ देने के लिए नगर निगम और पड़ावा स्थित रामेश्वर सेवा सहकारी समिति में किसानों से फॉर्म भरवाए जा रहे हैं। रामेश्वर सेवा समिति के बाहर ऐसे किसानों की सूची लगाई गई है जिन पर कर्ज चढ़ा हुआ है।

सूची में खंडवा के कि सान रामचरण कन्हैयालाल पर पांच रुपए का कर्ज दर्शाया गया है। इसी तरह कि सान श्रवण पिता सुपड़ू और जगन्न्ाथ पिता सुपड़ू के नाम पर 30-30 रुपए का कर्ज सूची में दर्शाया गया है।

समिति में कि सानों के फॉर्म भरने के लिए नियुक्त हुए नोडल अधिकारी राजेश गुप्ता ने बताया कि नियमानुसार प्रत्येक कि सान के फॉर्म मय दस्तावेज के भरे जा रहे हैं। समिति से मिली जानकारी के अनुसार खंडवा ब्लॉक में 1053 कि सानों को योजना का लाभ दिया जाना है।

इसमें अब तक 667 कि सानों के फॉर्म भरे जा चुके हैं। 386 कि सान ऐसे हैं जिनके फॉर्म भरे जाना है। इसमें 371 शहरी क्षेत्र के कि सान शामिल हैं जबकि 15 कि सान ग्रामीण क्षेत्रों के हैं, जिन्हें योजना का लाभ दिया जाना है।

तीन रंगों में भरे जा रहे फॉर्म

किसानों को कर्जमाफी का लाभ देने के लिए तीन अलग-अलग रंगों के फॉर्म आए हैं। ऐसे कर्जदार कि सान जिनकी मौत हो गई है उनके परिजन से गुलाबी रंग का फॉर्म भरवाया जा रहा है। इस फॉर्म के साथ मृतक का प्रमाण पत्र और संबंधित वारिस का आधार कार्ड भी देना अनिवार्य है।

इसी तरह सफेद फॉर्म ऐसे कि सानों से भरवाया जा रहा है जिनके आधार कार्ड नहीं हैं। जबकि ऐसे कि सान जिनके खाते आधार से लिंक हैं उनसे हरे रंग का फॉर्म भरवाया जा रहा है। शासन से मिले निर्देशों के मुताबिक कि सानों के फॉर्म भरकर ऑनलाइन डाटा फीड करने की अंतिम तिथि 5 फरवरी तय की गई है।

कम राशि भी होगी माफ

शासन के नियमानुसार 31 मार्च 2018 को जिन कि सानों ने ऋण की राशि जमा नहीं की है उनका दो लाख रुपए तक का कर्ज माफ कि या जाएगा। ऐसे कि सानों की सूची निकालने पर कि सी कि सान पर बकाया राशि कम भी आ रही है। नियमानुसार यह भी माफ की जाएगी।

-शरीफ खान मंसूरी, प्रबंधक, रामेश्वर सेवा सहकारी समिति, खंडवा

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Debt Waiver: A loan of five rupees in the farmer’s account, will be forgiven

Khandva. There is a continuous process to fill the form along with collecting information about the sanction of the district in respect of loan waiver. Interesting cases are also coming up in the interest of farmers who have taken loans during this period. In the list of Rameshwar Seva Sahakari Samiti, a loan of Rs. Five rupees has been shown on one stone. However, the situation of debt of farmers has come down to 30-30 rupees. Forms are also being made from such farmers for loan waiver. According to the order of the state government, on March 31, 2018, the farmers who had owed agricultural loans were instructed to forgive them. In order to give benefit to the scheme to the farmers of the urban areas, forms are being formulated from the farmers in the municipal corporation and Rameshwar Seva Sahakari Samiti of the hamlet. Outside the Rameshwar Seva Samiti, a list of farmers who have a loan has been set up.

In the list, a loan of five rupees has been shown on the Sanam Rachan Kanhaiyalal of Khandwa. In the same way, San Shravan father Suprabhu and Jagannath are shown in the debt list of 30-30 rupees in the name of Father Supdhu.

According to the rules, the nodal officer appointed to fill the forms of the sanctioned Rajesh Gupta said that according to the rules, the forms of each of the forms are being filled up. As per the information received from the committee, the benefits of the scheme to the beneficiaries of the 1053 in the Khandwa block are to be given.

So far 667 Kgs have been filled. 386 are the ones whose form is to be filled. It includes 371 urban areas, while 15 are from rural areas, which have the benefit of the scheme.

Form fill in three colors

There are three different colors forms to give farmers the benefit of waiving. The pink color form is being filled with the relatives of the borrower who has died. With this form it is mandatory to give the certificate of the deceased and the base card of the respected heir also.

In the same way, white forms are being filled with sanctions which do not have base cards. Whereas those who are linked to their account base are being filled with a green form. According to instructions from the government, the last date for feeding online data by filling the forms of the form is fixed on February 5.

Less amount will also be forgiven

According to the rules of the rule, on March 31, 2018, the sanctioned loan amount will not be waived up to two lakh rupees for the loan amount. With such a list removed, the outstanding amount is also coming down on the key. According to the rules, it will also be forgiven.

-Sharif Khan Mansuri, Manager, Rameshwar Service Co-operative Society, Khandwa

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.