ट्रंप का नया दुश्मन पुरानी यूरोपियन कारें, बताया अमेरिका की सुरक्षा के लिए खतरा

Advertisements

NEWS IN HINDI

ट्रंप का नया दुश्मन पुरानी यूरोपियन कारें, बताया अमेरिका की सुरक्षा के लिए खतरा

वॉशिंगटन । अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने फैसलों को लेकर हमेशा से सुर्खियों में रहते है। अब उनके सचिव ने उन्हें एक रिपोर्ट सोंही है जिसमें उनके एक नए दुश्मन का उल्लेख है। और यह नया दुश्मन है पुरानी यूरोपियन कारें। अमेरिका के कॉमर्स सेक्रेटरी विल्बर रोस ने एक रिपोर्ट हाल ही में ट्रंप को सौंपी है जिसमें कहा है कि पुरानी यूरोपियन कारों को आयात करना अमेरिका की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा है। अमेरिका और यूरोपियन यूनियन के बीच संबंध डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने के वक्त से ही उतार-चढ़ाव से भरे रहे हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने तो आतंकवाद से निपटने के लिए यूरोपियन मिलिटरी फोर्स बनाए जाने की भी मांग की है क्योंकि यूएस सुरक्षा बलों से सहायता का उन्हें अब भरोसा नहीं है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी यूरोप से आयात होनेवाली कारों पर 25 प्रतिशत अतिरिक्ट टैरिफ लगाने की धमकी दे चुके हैं। ट्रंप ने खास तौर पर यह धमकी जर्मनी से आयात होनेवाली कारों के लिए दी थी।

अमेरिका के बाजार की हालत देखें तो अमेरिकन ऑटो बाजार में यूरोपियन कारों की धमक नहीं है। 2017 में 17 मिलियन कार अमेरिका में बिकी, जिनमें से आधी ही इंपोर्टेड थीं। अमेरिका में बिकनेवाली ज्यादातर कारें या तो मेक्सिको की हैं या फिर कनाडा। ट्रंप ने पूर्व में कनाडा पर भी मेक्सिको में कार फैक्ट्रियां लगाने को लेकर निशाना साधा था। हालांकि, बाद में मेक्सिको और कनाडा के साथ अमेरिका ने बाद में संशोधित ट्रेड डील जरूर साइन की है। जर्मनी का कहना है कि अमेरिका में सिर्फ 470,000 कार निर्यात की जाती है। जर्मन मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन की तरफ से यह डेटा दिया गया है। इसका सीधा मतलब है कि अमेरिका की सड़कों पर दौड़नेवाली बीएमडब्लू और मर्सेडीज जैसी कारों का निर्माण अमेरिकी यूनिट में ही हो रहा है। अमेरिका के अलबामा में मर्सेडीज और साउथ कैरलिना में बीएमडब्लू का प्लांट है। ट्रंप के कॉमर्स सचिव की तरफ से दी गई रिपोर्ट हकीकत में ट्रंप के विचारों का ही आईना भर है। ट्रंप की व्यापार नीति का सीधा आधार है कि कौन ज्यादा बेच रहा है और कौन ज्यादा खरीद रहा है। अमेरिका का यूरोपियन यूनियन के साथ ट्रेड डेफेसिट का है। यही कारण है कि भारत के साथ भी वाणिज्यिक संबंधों पर ट्रंप जीरो टैरिफ नीति को खत्म करने पर विचार कर रहे हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Trump’s new enemy, old European cars, threatened the security of the United States

Washington. American President Donald Trump always holds headlines about his decisions. Now his secretary has given him a report in which his new enemy is mentioned. And this is the new enemy Old European cars America’s commerce secretary Wilbur Ross has handed a report recently to Trump, stating that importing old European cars is a big threat to US security. The relationship between the United States and the European Union has been fluctuating from the time the Donald Trump was elected. French President Immanuel Macroon has also demanded the creation of a European Military Force to deal with terrorism, because he is no longer confident of assistance from US security forces. The US President has also threatened to impose a 25 per cent surcharge tariff on cars importing from Europe. Trump specifically gave this threat to cars importing from Germany.

In the US market, the American auto market does not threaten European cars. In 2017 17 million cars sold in the US, half of which were imported. Most of the cars sold in America are either Mexico or Canada. Trump had earlier targeted in Canada on the use of car factories in Mexico. However, later, with Mexico and Canada, the US has subsequently signed a modified trade deal. Germany says that only 470,000 cars are exported in the US. This data is provided by the German Manufactures Association. It means that cars like BMW and Mercedes running on America’s roads are being built in the American unit. Mercadies in Alabama, USA and BMW Plant in South Carolina. The report given by Trump’s commerce secretary is a mirror of reality in Trump’s ideas. There is a direct base of Trump’s business policy, who is selling more and who is buying more. America has a trade deficit with the European Union. This is the reason why India is also considering eliminating Trump Zero Tariff Policy on commercial relations with India.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat