मुंबई ब्लास्ट मामले में दाऊद इब्राहिम के दो पंटरों के खिलाफ आरोप तय

Advertisements

NEWS IN HINDI

मुंबई ब्लास्ट मामले में दाऊद इब्राहिम के दो पंटरों के खिलाफ आरोप तय

मुंबई। मुंबई की विशेष अदालत ने वर्ष 199३ में मुंबई में हुए सीरियल बम विस्फोट मामले में अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम के दो पंटरों के खिलाफ सोमवार को आरोप तय किए हैं. दोनों आरोपियों यासीन मंसूर मोहम्मद फारूक उर्फ फारूक टकला और अहमद कमल शेख उर्फ लंबू पर आतंकवादी एवं विध्वंसक गतिविधि (निरोधक) अधिनियम (टाडा) के साथ ही भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत हत्या और आपराधिक साजिश रचने के संबंध में आरोप लगाए गए. अभियोजन के मुताबिक दोनों मामले के मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहिम के करीबी सहयोगी थे और उन बैठकों में शामिल थे जिनमें विस्फोटों को अंजाम देने की साजिश रची गई. विशेष टाडा अदालत ने मामले की अगली सुनवाई अगले गुरुवार को तय की है. बता दें कि फारूक को पिछले साल मार्च में दुबई में गिरफ्तार करने के बाद प्रत्यर्पित किया गया था जबकि शेख को पिछले साल जून में अहमदाबाद से गिरफ्तार किया गया था. गौरतलब हो कि 12 मार्च 1993 को मुंबई में विभिन्न स्थानों पर 12 बम विस्फोट हुए थे जिनमें 257 लोगों की जान गई थी और 700 से अधिक लोग घायल हुए थे.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Dawood Ibrahim’s two pants in Mumbai blast case fixed

Mumbai. The Special Court of Mumbai has fixed charges against two punders of underworld don Dawood Ibrahim on Monday in the 1993 serial bomb blast case in Mumbai. The accused, Yasin Mansoor Mohammad Farooq alias Farooq Takhla and Ahmed Kamal Sheikh alias Bimalu, were accused in connection with the Terrorist and Destructive Activities (Prevention) Act (TADA) in connection with the murder and criminal conspiracy under various sections of the Indian Penal Code. According to the prosecution, the main accused of both the cases was close associate of Dawood Ibrahim and was involved in the meetings in which conspiracy to carry out the blasts was planned. The special TADA court has fixed the next hearing on the matter next Thursday. Explain that Farooq was extradited after being arrested in Dubai in March last year, while Sheikh was arrested from Ahmedabad in June last year. It may be noted that 12 bomb blasts took place in different locations in Mumbai on March 12, 1993, in which 257 people were killed and more than 700 were injured.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.