कमलनाथ सरकार के खिलाफ लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा आंदोलन करने की तैयारी में भाजपा

Advertisements

NEWS IN HINDI

कमलनाथ सरकार के खिलाफ लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा आंदोलन करने की तैयारी में भाजपा

भोपाल। लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी अब कमलनाथ सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन की तैयारी में है। इसके लिए विभिन्न स्तरों पर भाजपा ने रणनीति तैयार कर ली है। संभवत: 5 मार्च के बाद भाजपा प्रदेश भर में सरकार के खिलाफ विभिन्न मुद्दों को लेकर आंदोलन की शुरूआत करेगी। जिसमें मप्र भाजपा समेत केंद्र के नेता भी शामिल होंगे।

सत्ता से बेदखल होने के बाद भाजपा अभी तक विभिन्न मुद्दों को लेकर सिर्फ बयानों तक सीमित रही है। सरकार के खिलाफ किसी भी तरह का आंदोलन करने से भाजपा बचती रही है, लेकिन अब कमलनाथ सरकार की नाकामियों को लेकर सरकार उतरने की रणनीति बना रही है। जिसे लोकसभा चुनाव में भुनाया जाएगा। हाल ही में भाजपा की प्रदेश स्तर एवं संभागीय मुख्यालयों पर विभिन्न बैठकों का आयेाजन किया गया है, जिसमें कमलनाथ सरकार के खिलाफ आंदोलन की रणनीति पर चर्चा हो चुकी है। जिसमें तय किया गया कि भाजपा किसानों से जुड़े मुद्दे को ज्यादा तूल देगा, क्योंकि अभी तक कांग्रेस सरकार ने किसानों की कर्जमाफी के अलावा अन्य किसी तरह का कोई बड़ा काम नहीं किया है। कर्जमाफी के जरिए ही कांग्रेस लोकसभा चुनाव में जनता के बीच जाएगी। लेकिन भाजपा इसी कर्जमाफी को भुनाने की तैयारी में है।

– आचार संहिता का इंतजार

सरकार ने प्रदेश के करीब 51 लाख किसानों की कर्जमाफी का दावा किया है। जिसमें से 25 लाख 29 हजार करीब किसानों की कर्जमाफी पहले चरण यानी 2 मार्च तक की जाना है। शेष किसानों को लोकसभा चुनाव बाद यानी जून के बाद कर्जमाफी का फायदा मिलेगा। भाजपा इसी को लोकसभा चुनाव में मुद्दा बनाएगी। इसके लिए भाजपा किसान मोर्चा की टीम सक्रिय हो गई है। जल्द ही किसान मोर्चा मोदी सरकार की उपलब्धियां, जिसमें किसानों को हर साल 6 हजार रुपए देने की योजना भी शामिल है एवं कमलनाथ सरकार की नाकामियों को लेकर जनता के बीच जाएगी। आचार संहिता लागू होते ही भाजपा नेता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के 10 दिन में कर्जमाफी, सुनवाई नहीं करने पर मंत्रियों को हटाने समेत अन्य वादों को भुनाना शुरू कर देगी।

– ये भी रहेंगे मुद्दे

कर्जमाफी के अलावा प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था, अधिकारियों के तबादले, सभी विभागों के विकास कार्य ठप, फसल प्रोत्साहन राशि नहीं मिलना, भ्रष्टाचार आदि को भी मुद्दा बनाया जाएगा। भाजपा जल्द ही सतना समेत अन्य जिलों में हुई अपहरण की घटनाओं को लेकर कमलनाथ सरकार के खिलाफ आंदोलन की तैयारी में है।

इनका क्या है कहना

कांग्रेस ने दो लाख तक के कर्जे को माफ करने की घोषणा की थी और यह कर्जमाफी भी 10 दिनों में होनी थी। सरकार वादे तो पूरे कर नहीं रही,किसानों को परेशान किया जा रहा है। हम किसानों के साथ धोखाधड़ी नहीं होने देंगे। भाजपा हमेशा किसानों के लिए लड़ती रहेगी।

शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, भाजपा

कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मप्र में अपराधिक घटनाएं बढ़ी हैं, किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ। रोजगार के नाम पर तबादला उद्योग फल-फूल रहा है। जिससे मप्र की प्रशाासनिक स्थिति चरमरा गई। भाजपा इन बातों को लेकर व्यापक परणनीति बना रही है और जल्द गांव-गांव,शहर-शहर जाएंगे।

दीपक विजयवर्गी, मुख्य प्रवक्ता भाजपा

भाजपा को किसानों के हित की बात करने का हक नहीं है। भाजपा अब किसानों के पक्ष में खड़ा होने की नौटंकी कर रही है। जब किसानों ने मुख्यमंत्री के रूप में शिवराज सिंह से मांग की थी कि कर्ज माफ करो, फसलों के अच्छे दाम दिलाओ, आय दो गुनी करो। तब उनकी बात नहीं सुनी। अब किस मुंह से बोल रहे हैं।

नरेन्द्र सलूजा, मीडिया समन्वयक, पीसीसी अध्यक्ष

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

BJP prepares to make a big agitation ahead of Lok Sabha elections against Kamal Nath

Bhopal. Prior to the Lok Sabha elections, the Bharatiya Janata Party is now preparing for a big movement against the Kamal Nath government. For this, the BJP has formulated strategy at various levels. Probably after March 5, the BJP will launch a movement against various issues against the government across the state. Including leaders of MP including MP BJP.

 After being ousted from power, the BJP has so far limited the issues with various issues. The BJP has been saving from any kind of agitation against the government, but now Kamalnath is formulating a strategy to come down to Government about the failures of the government. Which will be redeemed in the Lok Sabha elections. Recently, various meetings have been conducted on BJP’s state level and divisional headquarters, in which the strategy for the agitation against Kamal Nath government has been discussed. In which it was decided that the BJP would give more issues to the farmers, because the Congress government has not done any major work other than the debt waiver of farmers. Only through debt waiver will the Congress go to the public in the Lok Sabha elections. But the BJP is in the process of redemption of debt waiver.

– Waiting for code of conduct

The government has claimed debt relief of about 51 lakh farmers of the state. Out of which 25 lakh 29 thousand farmers have to pay the debt waiver to the first phase ie March 2. The remaining farmers will get the benefit of debt waiver after the Lok Sabha elections ie after June. BJP will make this an issue in the Lok Sabha elections. For this, the BJP Kisan Morcha team has become active. Soon, the achievements of the farmers’ front Modi government, including a plan to give 6 thousand rupees to the farmers every year, will be among the public about the failures of the Kamal Nath government. As soon as the code of conduct comes into effect, the BJP will start redemption of other promises, including the removal of ministers, in the 10 days of debt waiver, Congress President Rahul Gandhi and not hearing.

– These will also be issues

In addition to debt waiver, there will be an issue in the state of deteriorating law and order, transfer of officials, stalling the development work of all the departments, getting no crop incentive and corruption. The BJP is in the process of agitation against Kamal Nath government soon after the incident of kidnapping in other districts including Satna.

What are they saying

Congress had announced to waive loans of up to two lakhs and this debt waiver was also in 10 days. The government is not fulfilling promises, farmers are being disturbed. We will not allow fraud with the farmers. BJP will always fight for farmers.

Shivraj Singh Chauhan, Former Chief Minister and National Vice President, BJP

After the formation of the Congress government, criminal incidents have increased in MP, farmers’ debt is not waived. The industry transferred to the name of employment is flourishing. Thereby, the administrative position of MP was overwhelming. The BJP is making comprehensive policy on these issues and will soon go to village-village, city-city.

Deepak Vijayvargi, Chief Spokesperson BJP

BJP has no right to talk about farmers’ interest. The BJP is now making gimmicks to stand in favor of farmers. When the farmers had demanded that as the Chief Minister, Shivraj Singh had loan forgiveness, give good prices for crops, double the income. Then they did not listen to them. Now, what are you talking with?

Narendra Saluja, Media Coordinator, PCC President

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.