NTRO का बड़ा खुलासा, एयर स्ट्राइक के वक्त आतंकी कैंपों में एक्टिव थे 300 मोबाइल

Advertisements

NEWS IN HINDI

NTRO का बड़ा खुलासा, एयर स्ट्राइक के वक्त आतंकी कैंपों में एक्टिव थे 300 मोबाइल

नई दिल्ली: पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर तबाह कर दिया था. कहा जा रहा है कि इन आतंकी ठिकानों पर हुए हमले में 300 आतंकियों की मौत हो गई थी. इसके बाद से ही विपक्ष के कई नेताओं ने एयर स्ट्राइक के सबूत देने और मारे गए आतंकियों की संख्या बताने को लेकर केंद्र सरकार से सवाल पूछना शुरू कर दिया था. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, सूत्रों की मानें तो, राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान संगठन (NTRO) ने बताया है कि एयर स्ट्राइक दौरान आतंकी कैंपों में 300 मोबाइल फोन एक्टिव थे.

सूत्रों के अनुसार, भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमले के दौरान टेक्निकल सर्विलांस से पता चला था कि आतंकी कैंपों में 300 मोबाइल एक्टिव थे. इससे साफ पता चलता है कि वहां पर 300 लोग मौजूद थे. सूत्रों के अनुसार, NTRO ने भारतीय वायुसेना से अनुमति मिलने के बाद खैबरपख्तुनवा क्षेत्र के आतंकी ठिकानों को सर्विलांस में लिया था. एयर स्ट्राइक के बाद ये सभी मोबाइल स्विच ऑफ हो गए थे.

हमारा काम आतंकी ठिकानों को तबाह करना है- वायुसेना प्रमुख धनोवा

पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की ओर से गई एयर स्‍ट्राइक पर सोमवार को वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की. इस दौरान उन्‍होंने साफतौर पर कहा ‘हमारा काम आतंकी ठिकानों को तबाह करना है, हमारा (वायुसेना का) काम उनके शवों की गिनती करना नहीं है.’ वायुसेना प्रमुख ने एयर स्‍ट्राइक पर सवाल उठाने वालों पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर हम कोई लक्ष्‍य साधते हैं, तो हम उसे तबाह कर देते हैं. अगर हम लोगों ने जंगलों पर बम गिराये होते तो पाकिस्तान के पीएम इमरान खान प्रतिक्रिया क्‍यों देते.

पाक विमानों ने की भारतीय वायुसीमा में घुसने की कोशिश
पाकिस्तान के विमानों ने सोमवार को एकबार फिर भारतीय वायुसीमा में घुसने की कोशिश की. बताया जा रहा है कि राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में पाकिस्तान के विमानों ने भारतीय वायुसीमा में घुसने की कोशिश की. इसके जवाब में भारतीय वायुसेना के विमानों ने तत्काल उड़ान भरकर पाक विमानों को वापस लौटने पर मजबूर कर दिया. खबर है कि बीकानेर में एक पाकिस्तानी ड्रोन को भी मार गिराया गया है.

भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 युद्धक विमानों ने की थी एयर स्ट्राइक

भारतीय सेना ने पुलवामा हमले के बदला लेते हुए 26 फरवरी को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया था. भारत ने PoK में चल रहे आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए भारतीय वायुसेना के विमानों से बमबारी की. सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस एयर स्ट्राइक ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया. वायुसेना के मिराज-2000 ने पीओके में घुसकर आतंकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा के बम गिराए. भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 200 से 300 आतंकी मारे गए और कई आतंकी ठिकाने और लॉन्च पैड तबाह हो गए हैं.

विपक्ष ने मांगे एयर स्ट्राइक के सबूत

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महासचिव दिग्विजय सिंह ने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में आतंकी ठिकानों पर की गई एयर स्ट्राइक पर कहा था कि अगर कोई सरकार से एयर स्ट्राइक सबूत मांगता है तो भारत सरकार को सबूत देकर उनका मुंह बंद कर देना चाहिए. दिग्विजय ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को रिहा करने के फैसले पर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को बधाई भी दी थी. वहीं, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने भी सवाल उठाते हुए कहा था कि बीजेपी के मंत्री पाकिस्तान में हवाई हमले में हताहतों की संख्या के बारे में मीडिया में ”बढ़ा चढ़ाकर” आंकड़े लीक कर रहे हैं.

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीमा पार जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर हवाई हमले के असर को लेकर सरकार से सबूत मांगे थे. भारत ने 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद यह हवाई हमला किया. पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

The big disclosure of the NTRO was, at the time of the Air strikes, the terrorist camps were active 300 mobile

New Delhi: After the Pulwama attack, the Indian Air Force had destroyed the Pakistan-occupied Kashmir (PoK) by air strikes on Jaish-e-Mohammad’s terrorist bases. It is being said that 300 terrorists were killed in the attack on these terrorist bases. Since then, many opposition leaders had begun to question the Central Government about giving evidence of air strikes and telling the number of terrorists killed. According to the news agency ANI, according to the sources, the National Technical Research Organization (NTRO) has stated that 300 mobile phones were active in the terror camps during the air strikes.

According to sources, during the attack on Indian security agencies in Balakot, the technical surveillance revealed that 300 mobile activists were involved in terrorist camps. It clearly shows that there were 300 people there. According to the sources, NTRO took the terrorists’ bases of the Khyber Pakhtunkawa area in the surveillance after getting the permission from the IAF. After the air strikes, all these mobile switches were off.

Our work is to destroy terrorist bases – Air Force chief Dhanova

Terrorist bases of Jaish-e-Mohammed in Pakistan-occupied Kashmir (PoK) on Monday went air strike by the Indian Air Force Air Chief BS Dnoa the press conference. During this time, he clearly said, ‘Our work is to destroy terrorist bases, our (Air Force) work is not to count their dead bodies.’ The Chief of the Air Force, aiming at those who questioned the air strikes, said that if we make any target, then we destroy it. If we had dropped bombs on the forests, why would Pakistan PM Imran Khan react?

Pak planes try to enter Indian air force
Pakistan’s aircraft tried to enter Indian Air Force once again on Monday. It is being told that in Pakistan’s border areas, Pakistan’s planes tried to enter the Indian air force. In response, the Indian Air Force aircraft forced to return to Pakistan aircraft immediately after flying. It is reported that a Pakistani drone has also been killed in Bikaner.

Indian Air Force’s 12 Mirage-2000 warplanes had air strikes

Taking the revenge of the Pulwama attack, Indian Army had entered Pakistani Occupied Kashmir (POK) and destroyed the targets of the terrorists. India bombing the Indian Air Force aircraft, targeting the terrorist camps operating in the PoK. It is reported by sources that the Air strikes operation was executed by the Indian Air Force’s 12 Mirage-2000 aircraft. IAF’s Mirage-2000 enters the PoK and drops more than 1000 kg of bomb on terrorist bases. In this action of the IAF, 200 to 300 terrorists were killed and many terror hideouts and launch pads were destroyed.

Opposition seeks proof of air strike

Senior Congress leader and general secretary Digvijay Singh had said on the air strike conducted by the Indian Air Force on the terrorists in Pakistani Occupied Kashmir (PoK), that if any air strike asks for a government, then the government should stop giving evidence to the government. needed. Digvijay congratulated Pakistan’s Imran Khan on the decision to release Wing Commander Abhinandan Varthman. At the same time, Trinamool Congress (TMC) national spokesman Derek O’Brien also raised the question, saying that the BJP ministers are leaking figures “increasingly” in the media about the number of casualties in air strikes in Pakistan.

Earlier, West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee had sought evidence from the government about the effect of an air strike on the border of Jais-e-Mohammed across the border. India attacked this airstrike on February 14 after the Pulwama attack. 40 CRPF personnel were martyred in the Pulwama attack.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: