कृष्ण के 8 और महाभारत के 18 अंक का सबसे बड़ा रहस्य

Advertisements

NEWS IN HINDI

कृष्ण के 8 और महाभारत के 18 अंक का सबसे बड़ा रहस्य

पंचम वेद महाभारत में भारत का प्रचीन इतिहास है। यह ग्रंथ हमारे देश के मन-प्राण में बसा हुआ है। यह भारत की राष्ट्रीय गाथा है। इस ग्रंथ में तत्कालीन भारत (आर्यावर्त) का समग्र इतिहास वर्णित है। अपने आदर्श स्त्री-पुरुषों के चरित्रों से हमारे देश के जन-जीवन को यह प्रभावित करता रहा है। इसमें सैकड़ों पात्रों, स्थानों, घटनाओं तथा विचित्रताओं व विडंबनाओं का वर्णन है। प्रत्येक हिंदू के घर में महाभारत होना चाहिए। महाभारत में कई रहस्य भरे हुए हैं।महाभारत युद्ध में 8 और 18 संख्‍या का बहुत महत्व है। आओ जानते हैं 8 और 18 अंक का महाभारत में क्या रहस्य है।

श्रीकृष्ण से जुड़ा 8 अंक का रहस्य-
8 को शनि का अंक माना जाता है। इस अंक का स्वामी ग्रह शनि है। कुछ अंक शास्त्री आठ अंक को अशुभ मानते हैं क्योंकि यह शनि से जुड़ा है। आठ अंक के व्यक्ति को हर चीज को पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है तब कहीं जाकर वह कुछ हासिल कर पाता है। यह अंक शनि का है और शनि व्यक्ति को तपाकर ही फल प्रदान करते हैं। श्रीकृष्ण के जीवन में आठ अंक का अजब संयोग है। आओ जानते हैं इस रहस्यमी और अजीब संयोग को…

-भगवान विष्णु ने आठवें मनु वैवस्वत के मन्वंतर के अट्ठाईसवें द्वापर में आठवें अवतार श्रीकृष्ण के रूप में देवकी के गर्भ से आठवें पुत्र के रूप में मथुरा के कारागर में जन्म लिया था।

-उनका जन्म भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की रात्रि के सात मुहूर्त निकल गए और जब आठवां उपस्थित हुआ तभी आधी रात के समय सबसे शुभ लग्न में हुआ था। उस लग्न पर केवल शुभ ग्रहों की दृष्टि थी। रोहिणी नक्षत्र तथा अष्टमी तिथि के संयोग से जयंती नामक योग में ईसा से 3112 वर्ष पूर्व उनका जन्म हुआ। ज्योतिषियों अनुसार उस समय शून्य काल (रात 12 बजे) था।

– भगवान श्रीकृष्ण वसुदेव के आठवें पुत्र थे। उनकी आठ सखियां, आठ पत्नियां, आठ मित्र और आठ शत्रु थे।

– गुरु संदीपनि ने कृष्ण को वेद शास्त्रों सहित 14 विद्या और 64 कलाओं का ज्ञान दिया था। इस तरह उनके जीवन में आठ अंक का बहुत संयोग है।

महाभारत से जुड़ा 18 अंक का रहस्य-

– महाभारत की पुस्तक में 18 अध्याय हैं।

– कृष्ण ने कुल 18 दिन तक अर्जुन को ज्ञान दिया।

– 18 दिन तक ही युद्ध चला। गीता में भी 18 अध्याय हैं।

– कौरवों और पांडवों की सेना भी कुल 18 अक्षोहिनी सेना थी जिनमें कौरवों की 11 और पांडवों की 7 अक्षोहिनी सेना थी।

– इस युद्ध के प्रमुख सूत्रधार भी 18 थे। इस युद्ध में कुल 18 योद्धा ही जीवित बचे थे। जिनके नाम है- कृष्ण, कृपाचार्य, कृतवर्मा, अश्वत्थामा, युयुत्सु, सात्यकि, युधिष्ठिर, अर्जुन, भीम, नकुल, सहदेव आदि। दुर्योधन भी युद्ध की समाप्ति के बाद मारा गया था।

– युद्ध के प्रमुख सूत्रधार भी 18 थे, जिनके नाम थे- धृतराष्ट्र, दुर्योधन, दुशासन, कर्ण, शकुनि, भीष्म, द्रोण, कृपाचार्य, अश्वत्थामा, कृतवर्मा, श्रीकृष्ण, युधिष्ठिर, भीम, अर्जुन, नकुल, सहदेव, द्रौपदी एवं विदुर।

सवाल यह उठता है कि सब कुछ 18 की संख्‍या में ही क्यों होता गया? क्या यह संयोग है या इसमें कोई रहस्य छिपा है?

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

8 of Krishna and the greatest mystery of the 18th episode of Mahabharata

Pancham Veda is the ancient history of India in Mahabharata. This book is nestled in the mind and soul of our country. This is the national story of India. This book describes the overall history of the then India (Aryavarta). It has been affecting the lives of our ideal men and women in our country’s public life. It describes hundreds of characters, places, events and strange stories and paradoxes. Every Hindu should have Mahabharata in the house. There are many mysteries in the Mahabharata. In the Mahabharata war, the numbers 8 and 18 are of great importance. Let’s know what is the secret of 8 and 18 points in Mahabharata.

The secret of 8 points connected to Shri Krishna –
8 is considered to be the number of Saturn. The master of this issue is the planet Saturn. Some points, Shastri, think eight points as inauspicious because it is related to Saturn. A person of eight points has to work hard to get everything, then somewhere he can get something. This number is of Saturn and Saturn gives results only by checking the person. There is an unusual combination of eight points in Shrikrishna’s life. Come know this mysterious and strange coincidence …

– Lord Vishnu took the eighth Manu Vaivasvat in the eighteenth dynasty of Manvant, in the form of eighth Avatar Sri Krishna, from the womb of Devaki, he was born as the eighth son in Mathura’s Karga.

– Their birth, seven days of the night in the Krishna side of Bhadrapad, went out and when the eighth appeared, then at the middle of the night it was the most auspicious wedding. That wedding was the only vision of auspicious planet. In the event of the birth of Rohini Nakshatra and Ashtami date, he was born 3112 years before his birth in Jyanti. According to the astrologers, there was zero time (12:00 pm) at that time.

– Lord Krishna was the eighth son of Vasudev. He had eight sisters, eight wives, eight friends and eight enemies.

– Guru Sandipani gave knowledge of Krishna to 14 scholars and 64 arts, including Vedic scriptures. In this way eight points in their life are very coincidental.

The secret of the 18-digit connection to the Mahabharata-

– There are 18 chapters in the book of Mahabharata.

– Krishna gave Arjuna knowledge for a total of 18 days.

– There is only war for 18 days. There are 18 chapters in the Gita too.

– The army of Kauravas and Pandavas was also a total of 18 Axis troops, 11 of the Kauravas and seven of the Pandavas had 7 axis.

– The main organizer of this war was also 18. In this war, only 18 warriors were alive. Those who have names – Krishna, Krupacharya, Lord Krishna, Ashwaththama, Yuyutsu, Satyaki, Yudhishtir, Arjun, Bhima, Nakul, Sahdev etc. Duryodhana was also killed after the end of the war.

– The main formulas of the war were also 18, whose names were – Dhritarashtra, Duryodhan, Dushasan, Karna, Shakuni, Bhishma, Drona, Krupacharya, Ashwaththama, Krishna, Krishna, Yudhishtir, Bhima, Arjun, Nakul, Sahadev, Draupadi and Vidur.

The question arises that why everything went up in number 18? Is this a coincidence or is there any secret hidden in it?

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: