पुलिस पर हमला कर भागा इनामी बदमाश भीमा दबोंचा

Advertisements

NEWS IN HINDI

पुलिस पर हमला कर भागा इनामी बदमाश भीमा दबोंचा

ग्वालियर। पुलिस पार्टी पर हमला कर फरार हुए होमगार्ड सैनिक की हत्या के आरोपी इनामी बदमाश भीमा यादव को पुलिस ने उत्तरप्रदेश के फिरोजाबाद से पकड़ लिया गया है। भीमा पर 30 हजार रुपए का इनाम था।पुलिस ने भीमा के भाई देवेंद्र यादव को भी पकड़ा है। जानकारी रहे कि गत 6 दिसंबर को भोपाल पुलिस हत्या के एक मामले में पेशी के लिए भीमा यादव को ग्वालियर लेकर आई थी। उसी दौरान लक्ष्मणगढ़ पुलिया के पास भीमा के भाई देवेंद्र यादव और अन्य साथियों ने भोपाल पुलिस पार्टी पर हमला कर उसे छुड़ा लिया था। भीमा और अन्य सभी आरोपी उस समय भाग निकले थे। जाते-जाते भीमा एक पुलिसकर्मी की इनसास राइफल भी छीन ले गया गया। हालांकि बाद में पुलिस को ये राइफल मिल गई थी। पुलिस ने इस घटना के बाद भीमा पर 30 हजार और उसके भाई देवेंद्र यादव पर 30 हजार इनाम घोषित किया था। पुलिस ने इन दोनों अपराधी भाइNयों को मक्खनपुर फिरोजाबाद उत्तरप्रदेश से पकड़ा। ये दोनों भाई मक्खनपुर में पहचान छिपाकर ईंट के भट्टों में काम कर रहे थे। लेकिन पुलिस को मुखबिर से इनके यहां छिपने की सूचना मिली। जिसके बाद दोनो को गिरफ्तार कर लिया गया। जानकारी के अनुसार भीमा और उसके भाई पर हत्या, हत्या के प्रयास, अवैध वसूली सहित कई गंभीर अपराध दर्ज हैं। पुलिस के लिए ये बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।पुलिस ने पकडे गए बदमाशों से पूछताछ प्रारंभ कर दी है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Running an attack on the police, the prize crusher Bhima

Gwalior The police, who was accused of assassinating the Home Guard soldier, attacked the police party and was arrested by the police from Firozabad in Uttar Pradesh. Bhima had a reward of 30 thousand rupees.Police has also caught Bhima’s brother Devendra Yadav. Be aware that on December 6, Bhopal police had brought Bhima Yadav to Gwalior for a muscle in a case of murder. At the same time, Bhima’s brother Devendra Yadav and other colleagues had attacked Bhopal Police party near Laxmangarh Pulia and rescued him. Bhima and all other accused fled at that time. On the way, Bhima, a policeman’s INSAS rifle was also taken away. However, police later got the rifle. Police had declared 30 thousand prizes on Bhima on Bhima and his brother Devendra Yadav after this incident. The police caught both of the criminals, brothers, from Makkanpur Firozabad Uttar Pradesh. Both of these brothers were working in the brick kilns hidden in Makkhhanpur. But the police got an informant to hide them here. After which both of them were arrested. According to information, Bhima and his brother have recorded several serious offenses, including murder, attempt to murder, illegal recovery. This is believed to be a big success for the police.The policeman has started interrogation with the rookies.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: