16 मार्च को चिचोली के पास ग्राम झारकुंड में डैम के पास बोरे में मिले शव की घटना का पुलिस ने किया खुलास

Advertisements

16 मार्च को चिचोली के पास ग्राम झारकुंड में डैम के पास बोरे में मिले शव की घटना का पुलिस ने किया खुलास


बैतूल/शाहपुर, (आशीष राठौर/ब्रजकिशोर भारद्वाज)। 16 मार्च को चिचोली के पास बोरे में बंधा एक युवक का शव मिलने से जहां क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी और मौके पर पुलिस ने पहुंचकर इस मामले में अपनी तहकीकात शुरू कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने अपनी छानबीन पूरी करके आरोपियों को अपनी गिरफ्त में लिया है, और 19 मार्च को शाहपुर पुलिस ने 3 दिन के अंदर ही इस पूरे मामले का खुलासा किया है। थाना प्रभारी शाहपुर ने बताया कि इस मामले में पुलिस अधीक्षक बैतूल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बैतूल के निर्देशन पर अनुविभागीय पुलिस अधिकारी शाहपुर के मार्गदर्शन में थाना शाहपुर से एक अनुसंधान दल तैयार किया गया। जिसने इस मामले में पूरी तहकीकात की और इस मामले का खुलासा किया है। थाना प्रभारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार 16 मार्च को ग्राम कोटवार के माध्यम से यह सूचना दी गई कि ग्राम झारकुंड के पास डैम में पानी के अंदर बोरे में भरी हुई तथा बोरे को रस्सी की मदद से डैम के अंदर सूखे पेड़ से बांधी हुई लाश डली हुई है। उक्त सूचना पर मौके पर पुलिस द्वारा निरीक्षण किया गया। मौके पर ही देहाती मार्ग रिपोर्ट दर्ज कर जांच की गई। शव का निरीक्षण एफएसएल टीम द्वारा भी किया गया। बोरी के अंदर सड़ी गली अवस्था में 20 से 25 दिन पुराना अज्ञात पुरुष का शव पाया गया था। जिसकी शिनाख्त शव के कपड़ों गमछा, दांतो की बनावट, हाथ में पहने बेल्ट व के धागा के आधार पर राजकुमार पिता मानक उइके उम्र 22 साल निवासी गोधरा थाना चिचोली के तौर पर हुई। मृतक राजकुमार के संबंध में 21 फरवरी 2019 को थाना चिचोली में गुम इंसान क्रमांक 19/19 बी होना पाया गया था। शव की स्थिति एवं घटनास्थल से साक्ष्य में पाया गया कि अज्ञात पुरुष को कुछ अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा हत्या कर नष्ट करने के उद्देश्य से डैम ने लाकर कर डाला गया है, जोमर्ग जांच पर से अगले दिन ही अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 132/19 धारा 302, 201 का पंजीबद्ध किया गया था। मामला अज्ञात व्यक्ति की हत्या कर लाश छिपाने के संबंध जघन्य श्रेणी का अपराध होने से जिले के आला अधिकारीयो ने इस मामले में खोजबीन कर खुलासा करने के आदेश दिए।


इस प्रकरण में संदेही के आधार पर मृतक राजकुमार की पत्नी लक्ष्मी एवं साला रामरतन को ग्राम आमढाना थाना चिचोली से हिरासत में लेकर गहन पूछताछ की गई तो उनके द्वारा हत्या करने की बात कुबूल की गई है। इस हत्या करने के अपराध से संबंधित अन्य साक्षी रिंकेश एवं पप्पू वरकड़े के नाम बताए गए सभी से बारीकियों से पूछताछ करने पर हत्या के अपराध का खुलासा हो गया। आरोपीगणो द्वारा मृतक की ज्यादितियो से आये दिन परेशान करना, मारपीट से तंग आकर उसकी हत्या कर देना बताया गया। आरोपीगणों से पूछताछ में घटना में प्रयुक्त डंडा, मृतक का मोबाइल व लाश को डैम तक ले जाने उपयोग हेतु 2 नग मोटरसाइकिल बरामद की गई है। प्रकरण के मुख्य आरोपी रामरतन पिता बिरजू कड़वे उम्र 22 साल निवासी आमढाना थाना चिचोली, पप्पू पिता फुंदन वरकड़े उम्र 27 साल निवासी शितलझिरी, रिंकेश पिता डमरु इवने उम्र 21 साल निवासी नहरपुर आमढाना, लक्ष्मी पति स्वर्गीय राजकुमार उम्र 20 साल निवासी आमढाना नहरपुर के साथ मिलकर अपने घर के पास ही ग्राम आमढाना थाना चिचोली में गमछे से गला घोट कर उसकी हत्या की गई थी। तथा गमछे को मृतक के गले में छोड़ दिया था जो शव से पूर्व में बरामद हो चुका है, शव का पीएम मेडिकल लीगल इंस्टीट्यूट से कराया गया है, पीएम रिपोर्ट अभी प्राप्त है। प्रकरण में हत्या का स्थल ग्राम आमढाना थाना चिचोली होना पाया गया है। इस वारदात का खुलासा करने में थाना शाहपुर से निरीक्षक दीपक पराशर, उप निरीक्षक विजय शंकर द्विवेदी, उप निरीक्षक प्रीति पाटील, उपनिरीक्षक मोहित दुबे, सहायक उपनिरीक्षक कमल सिंह ठाकुर, सहायक उपनिरीक्षक विनोद मालवीय, प्रधान आरक्षक बलिराम, प्रधान आरक्षक अरुण लोही, प्रधान आरक्षक शंकरराव करोले, आरक्षक महेश, नितिन ठाकुर, बुदेश, नर्मदा प्रसाद निमोदा, प्रमोद नागर, संजय, विवेक यादव, देवेंद्र प्रजापति, सोमनाथ, आरक्षक चालक नितिन एवं महिला आरक्षक सविता, महिला सैनिक मिला का योगदान रहा।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: