आयुर्वेद में है गुर्दा रोगियों का उपचार

Advertisements

NEWS IN HINDI

आयुर्वेद में है गुर्दा रोगियों का उपचार

नई दिल्ली । हाल में हुए दो शोधों से पता चला है कि अब आयुर्वेद में गुर्दा रोगियों का उपचार संभव है। आयुर्वेदिक दवाएं गुर्दे की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को पुनर्जीवित कर सकती हैं। औषधीय पौधा पुनर्नवा से बनी दबाएं इस बीमारी पर काम करती है। हालांकि यह उपचार गुर्दे की खराबी का आरंभ में पता चलने पर ज्यादा प्रभावी होगी। अब तक हुए दो अध्ययनों में इसकी पुष्टि हुई है। आयुष मंत्रालय वैकल्पिक चिकित्सा को बढ़ावा देने के लिए इस पर काम कर रहा है। शोध परिणाम में पुष्ट हुई कि पुनर्नवा से बनी दवा से गुर्दे की बीमारी ठीक होती है बल्कि यह हीमोग्लोबिन भी बढ़ाती है। एक दूसरे शोध के मुताबिक, पुनर्नवा तथा चार अन्य बूटियों -गोखरू, वरुण, पत्थरपूरा, पाषाणभेद से बनी दवा नीरी केएफटी का परीक्षण चूहों पर किया गया। शोध के नतीजे बताते हैं कि जिन समूहों को नियमित रूप से दवा दी जा रही थी, उनके गुर्दो का संचालन बेहतरीन पाया गया। उनमें भारी तत्वों, मैटाबोलिक बाई प्रोडक्ट जैसे क्रिएटिनिन, यूरिया, प्रोटीन आदि की मात्रा नियंत्रित पाई गई। वहीं जिस समूह को दवा नहीं दी गई, उनमें इन तत्वों का प्रतिशत बेहद ऊंचा था। आयुष मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि बीएचयू का एक शोध प्रकाशित हुआ है, जिसमें गुर्दे की बीमारी से पीड़ित एक महिला को एक महीने तक पुनर्नवा सीरप दिया गया। इससे उसके रक्त में क्रिएटिनिन का स्तर 7।1 से घटकर महज 4।5 एमजी रह गया, जबकि यूरिया का स्तर 225 से घटकर 187 एमजी तक आ गया। इतना ही नहीं हीमोग्लोबिन का स्तर 7।1 से बढ़कर 9।2 हुआ।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Treatment of kidney patients in Ayurveda

new Delhi . Recent research has shown that it is now possible to treat kidney patients in Ayurveda. Ayurvedic medicines can revive kidney damaged cells. Pressed made of medicinal plant recycled, it works on the disease. Although this treatment would be more effective at diagnosing renal failure at the beginning. This has been confirmed in two studies so far. The Ministry of AYUSH is working on this to promote alternative medicine. The results of the research confirmed that kidney disease is cured by recycling medicine but it also increases hemoglobin. According to a second research, the renaissance and four other booths – Nazar KFT of Gypsum, Varun, Patharpura, Vaishnavism, were tested on rats. The results of the research show that the groups which were being given regular medication were found to have good operation of their kidneys. They were found to contain heavy elements, metabolic byproducts such as creatinine, urea, protein etc. At the same time, the group which was not given medication, had a very high percentage of these elements. Sources of AYUSH Ministry said that a study of BHU has been published, in which a woman suffering from kidney disease has been given a re-infection for one month. With this, creatinine levels in his blood reduced from 7.1 to just 4.5 mg, while urea levels decreased from 225 to 187 mg. Not only that, the level of hemoglobin increased from 7.1 to 9.2.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: