सदियों से भारत में गो पालन आजीविका का प्रमुख माध्यम

Advertisements

NEWS IN HINDI

सदियों से भारत में गो पालन आजीविका का प्रमुख माध्यम

इन्दौर । सदियों से भारत में गो पालन आजीविका का प्रमुख माध्यम रहा है, गो माता के दूध और गोबर के कंडो से घर का खर्चा आसानी से चलता था। आजादी के आंदोलन के साथ गोहत्या पर प्रतिबंध का आंदोलन भी चलता था। ब्रिटिश हुकूमत ने भी देश को लूटा। लेकिन भारत की संस्कृति, संस्कार पर आँच नहीं आई। गो माता हमारी संस्कृति का महत्वपूर्ण अंग है। विदेशी षड़यंत्रो ने भारत की अखंडता को तोड़ने के लिए अनेक षड़यंत्र रचे गए। यह विचार संस्था गो सेवा भारती इंदौर महानगर एवं चैतन्य भारत के संयुक्त वार्षिक उत्सव कार्यक्रम में दिल्ली से पधारे पत्रकार, लेखक, प्रखर राष्ट्रवादी चिंतक संदीप देव ने षड़यंत्रो से जुझता भारत विषय पर अपने उदबोधन में व्यक्त किये। राजेंद्र असावा ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के सदस्य हुकुमचंद सावला ने अपने उदबोधन में कहा भगवान श्रीकृष्ण भी गाय की सेवा करके गोपाल, गोविन्द आदि नामों से पुकारे गये। जब तक गौ आधारित स्वावलंबी खेती होती रही तब तक भारत विकसित धनवान राष्ट्र रहा, यहाँ की सम्पदा के लालच में अन्य देशों के लोग भारत पर आक्रमण करते रहे। भारत भूमि में विधर्मी, अधर्मी, निधर्मी षड़यंत्र रच कर जातिवाद व तुष्टिकरण की राजनीति कर देश की अखंडता के साथ खिलवाड़ करते हैं। सकारात्मक सोच देशभक्ति है।महापुरुषों को भी जातियों मे बाँटा जा रहा है जो देश के खिलाफ षड़यंत्र है। मुख्य अतिथि समाजसेवी इंद्रकुमार सेठी व दिनेश दोशी थे। अध्यक्षता महापौर श्रीमती मालिनी गौड़ ने की। विरेंद्र सिंह धाकड़, अशोक गुप्ता व कैलाशचंद्र खंडेलवाल ने बताया की हुकुमचंद सावला के राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के सदस्य मनोनीत होने से कार्यक्रम मे बड़ी संख्या में उपस्थितजनों ने उनका शाल व बुके भेंट कर बधाई दी। बड़ी संख्या मे गोभक्त एवं राष्ट्र भक्त उपस्थित थे। चैतन्य भारत के अध्यक्ष डॉ. अभय झवेरी एवं महामंत्री विष्णु गोयल ने बताया कि गरिमापूर्ण कार्यक्रम में श्रीमती सुषमा गोयल ने राष्ट्र व गोमाता भक्ति पर आधारीत गीत गाए। इस अवसर पर पारस जैन व निर्मलसिंह चौधरी भी उपस्थित थे। संस्था परिचय उपेंद्र जैन एव विष्णु गोयल ने दिया। अतिथि परिचय प्रदीप गोयल व बुरहानुददीन शकरूवाला ने दिया। स्वागत रामचंद्र काकाणी, दिनेश आगार, प्रदीप बाहेती, उपाध्यक्ष नरेश वंसाइनी, नितेश चौधरी मिलिंद, आपोतिकर ने किया। संचालन सोनम गुता ने तथा आभार प्रदर्शन प्रदीप गोयल ने किया।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Goverment in India is the main medium of livelihood for centuries.

Indore Over the centuries, cow’s livelihood has been the main means of livelihood in India, with the consumption of goa’s milk and cow dung, the cost of the house was easy. Movement of ban on cow slaughter was also accompanied by freedom movement. The British rule also looted the country. But India’s culture, rituals did not come. Go Mata is an important part of our culture. Many conspiracies have been organized to break the integrity of the foreign conspirators. This idea is expressed in its manifestation on the theme of conspiracy against the conspiracy of the conspiracy of journalist, author, author, writer, journalist, writer, from Delhi, in the joint annual festival program of Go Seva Bharti Indore Metropolitan and Caitanya India. Rajendra Aswaa said that Hukumchand Sawla, the Vice President of the International Vishwa Hindu Parishad and member of the National Kamdhenu Commission, in his exclamation, said Lord Krishna was also called by the names of Gopal, Govinda etc. by serving the cow. As long as the cow-based self-supporting cultivation continued, India was a prosperous nation, while the people of other countries continued to attack India in the greed of wealth. India fosters the country’s integrity in the country by creating a heterogeneous, unrighteous, secular conspiracy and politics of casteism and appeasement. Positive thinking is patriotism.Maharajas are also being divided into castes, which is a conspiracy against the country. The chief guest was social worker Indra Kumar Sethi and Dinesh Doshi. Presided over by Mayor Mrs. Malini Gaur. Virendra Singh Thakurd, Ashok Gupta and Kailashchandra Khandelwal told that a large number of attendees greeted him by offering his shawl and book in the event of the nomination of Hukumchand Sawla’s National Kamdhenu Commission. In large numbers, Gobhakt and the nation’s devotees were present. Chaitanya Bharat President Dr. Abhay Zaveri and Maha Vishnu Goyal said that in the dignified program, Mrs Sushma Goyal sang songs based on nation and Gomata devotion. Paras Jain and Nirmal Singh Chaudhary were also present on this occasion. The institution was introduced by Upendra Jain and Vishnu Goyal. Guest introduction by Pradeep Goyal and Burhanuddin Sharkruwala. Welcome Ramchandra Kakani, Dinesh Aagar, Pradeep Baheti, Vice President Naresh Vansini, Nitesh Chaudhary Milind, Aotikikar. Operation Sonam Guta and thanked Pradip Goyal for their performance.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.