कर्जमाफी पर बोले मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान – 10 दिन में कर्जा नहीं हुआ माफ, अब मुख्यमंत्री बदलें राहुल गांधी

Advertisements

NEWS IN HINDI

कर्जमाफी पर बोले मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान – 10 दिन में कर्जा नहीं हुआ माफ, अब मुख्यमंत्री बदलें राहुल गांधी

नई दिल्ली/भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने किसानों की कर्जा माफी के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए शिवराज सिंह ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि, राहुल गांधी ने कहा था कि मध्य प्रदेश में सरकार बनने के दस दिन के भीतर अगर किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ तो वो मुख्यमंत्री बदल देंगे। आज सौ दिन से ज्यादा बीत गए, लेकिन मध्य प्रदेश में किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ है। ऐसे में तो राहुल गांधी को दस सीएम बदलने पड़ेंगे।

शिवराज सिंह के निशाने पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ भी रहे। उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों का कर्जा माफ करने की सरकार की मंशा सवाल खड़े कर रही है। क्योंकि जिस दिन लोकसभा चुनाव का ऐलान हुआ और आचार संहिता लागू हुई। उसी दिन कमलनाथ सरकार ने आनन-फानन में किसानों के फोन पर मैसेज भेजा था। जिसमें लिखा था कि चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। ऐसे में चुनाव के बाद आपका कर्जा माफ होगा। इस पर सवाल खड़े करते हुए शिवराज सिंह ने मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का हवाला देते हुए कहा कि, इसमें ये लिखा गया है कि चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद भी जो पुरानी योजनाएं चल रही हैं, जिसमें हितग्राहियों की पहचान हो चुकी है। ऐसी योजना को जारी रखा जा सकता है, ऐसे में प्रदेश सरकार झूठ बोल रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत को किसानों के खातों में पैसा पहुंचा है तो फिर मध्य प्रदेश में किसानों का कर्जा क्यों नहीं माफ हुआ।

शिवराज सिंह चौहान ने किसानों की कर्जमाफी के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा बजट में किए गए प्रावधान पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने बताया कि प्रदेश में किसानों पर 48 हजार करोड़ का कर्ज है। लेकिन सरकार ने इसके लिए बजट में केवल 5 हजार करोड़ का प्रावधान किया। इसमें से भी केवल 13 सौ करोड़ रुपए बैंकों तक पहुंचे। इसमें से 600 करोड़ सहकारी बैंकों तक तो बाकी 700 करोड़ अन्य बैंकों तक पहुंचा है। ऐसे में लोन की राशि बैंकों को नहीं मिलने से अब वो किसानों को कर्जा चुकाने के लिए नोटिस भेज रहे हैं। केवल मध्य प्रदेश ही नहीं राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी यही हाल हो रहा है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Former Madhya Pradesh Chief Minister and BJP’s National Vice-President Shivraj Singh Chauhan – Debt Waiver, Loan Against Loan In 10 Days, Now Change Chief Minister Rahul Gandhi

New Delhi / Bhopal Former Madhya Pradesh chief minister and BJP national vice president Shivraj Singh Chauhan has targeted Congress president Rahul Gandhi on the issue of farmers’ debt forgiveness issue. Through a press conference, Shivraj Singh accused Rahul Gandhi that Rahul Gandhi had said that within ten days of formation of government in Madhya Pradesh, if the farmers’ debt is not waived then they would change the chief. Today, more than 100 days have passed, but the farmers’ debt in Madhya Pradesh is not waived. In such a situation, Rahul Gandhi will have to change ten CMs.

Madhya Pradesh Chief Minister Kamal Nath is also on the target of Shivraj Singh. He alleged that the government’s intention to forgive the farmers’ debts was raising questions. Because the day the Lok Sabha elections were announced and the Code of Conduct was implemented. On the same day Kamalnath Sarkar sent a message to the farmers’ phones in the forest. It said that election code of conduct has been implemented. In such a situation, your loan will be forgiven after the election. While questioning this, Shivraj Singh referred to the Model Code of Conduct, saying that it has been mentioned in the old schemes, which have been identified after the election code of conduct, in which the beneficiaries have been identified. Such a plan can be continued, in such a way the state government is lying. This is because the Prime Minister has given money to the farmers ‘accounts under the Kisan Adhikar Nidha, then why not forgive the farmers’ loans in Madhya Pradesh.

Shivraj Singh Chauhan also questioned the provisions made by the Madhya Pradesh government in the budget for the debt waiver of the farmers. He said that there is a loan of Rs 48 thousand crore on farmers in the state. But the government made a provision of only 5 thousand crores for this in the budget. Out of this, only 13 hundred crore rupees reached banks. Out of this 600 crore cooperative banks have reached the remaining 700 crore other banks. In such a situation, after getting the loan amount from the banks, now they are sending the notice to the farmers to repay the loan. Not only in Madhya Pradesh, this is happening in Rajasthan and Chhattisgarh too.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: