नेत्रदान कर हम लोगों को अंधेरों से आजादी दिलाएँ : मंत्री वर्मा

Advertisements

NEWS IN HINDI

नेत्रदान कर हम लोगों को अंधेरों से आजादी दिलाएँ : मंत्री वर्मा

इन्दौर । स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष से हमें आजादी मिली, अब हम समाजसेवा के माध्यम से लोगों की भलाई कर उनके बलिदान का कर्ज उतार सकते हैं, भारत में दृष्टिहीनों की संख्या काफी है। हम नेत्रदान कर अनेक दृष्टिहीन लोगों को दृष्टि का उपहार देकर उन्हें अंधेरे से आजादी दिला सकते हैं। हम सभी को नेत्रदान का संकल्प लेना चाहिए। यह बात लोक निर्माण मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने कहीं। आप आजाद हिन्द फौज के सीक्रेट सर्च वारंट ऑफ‍िसर केशवराव कामले की पुण्यतिथि पर आयोजित कामले अलंकरण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे। अध्यक्षता म.प्र. कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष श्रीमती अर्चना जायसवाल, विनय बाकलीवाल, मनोहर धवन, नरेन्द्र सलूजा ने की। इस प्रसंग पर एम.के. इंटरनेशनल आई. बैंक की संस्थापक एवं प्रबंधक श्रीमती उमा झंवर को नेत्रदान के प्रति जागरूकता एंव उसे जन आंदोलन बनाने के लिऐ केशवराव कामले अलंकरण से अलंकृत किया गया। अतिथियों ने शॉल, श्रीफल, स्मृतिचिन्ह एवं अभिनंदन पत्र भेंट कर उनके योगदान को नमन किया। श्रीमती उमा झंवर ने इस मौके पर कहा कि मृत्यु पश्चात् हमारा शरीर जलकर राख हो जाता है, हम नेत्रदान कर किसी को दृष्टिदान कर समाज का उपकार कर आपकी मृत्यु को सार्थक बना सकते है। उन्होंने उपस्थितों के समक्ष नेत्रदान के बारे में विस्तृत जानकारी देकर अनेक क्रांतियों के बारे में अवगत कराया। अतिथियों का स्वागत श्याम कामले, राजू कामले, निखिल कामले, संजय सीतलानी आदि ने किया। संचालन आयोजक मदन परमालिया ने किया व आभार विशाल आमणापुरकर ने माना।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Let us liberate people from darkness by making eye donation: Minister Verma

Indore We got independence from the struggle of freedom fighters, now we can take the debt of their sacrifice by doing good for the people through social service, the number of blinds in India is quite large. By giving eye-to-eye gifts to people with blind eye, we can give them freedom from darkness. We all should take a resolution of eye donation. Public Works Minister Sajjansinh Verma has said this somewhere. You were addressing the Kamal ornamentation function organized on the death anniversary of the Secret Search Warrant Officer Keshavrao Kamale of Azad Hind Fauj as Chief Guest. Presided by The Vice President of Congress Committee, Mrs. Archana Jaiswal, Vinay Bakliwal, Manohar Dhawan, Narendra Saluja MK at this event Uma Zanwar, founder and manager of the International Eye Bank, was embellished with Keshavrao Kamale ornamentation to create awareness of eye donation and to make him a mass movement. The guests bowed down to their contribution by offering shawls, shrimps, mementos and congratulations. Mrs Uma Zanwar said on this occasion that after death our body becomes ashes, we can make your death meaningful by donating eye donation and by giving a vision to the society, giving thanks to society. He made aware of many revolutions by giving detailed information about eye donation in front of the attendees. Guests were welcomed by Shyam Kamale, Raju Kamale, Nikhil Kamale, Sanjay Seetalani etc. Operation organizer Madan Parimalia did and thanked the great Amanapurkar.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: