भाजपा कार्यकर्ताओं ने भाजपा का 39वां स्थापना दिवस व ‘‘नववर्ष-गुड़ी पड़वा’’धूमधाम से मनाया

Advertisements

NEWS IN HINDI

भाजपा कार्यकर्ताओं ने भाजपा का 39वां स्थापना दिवस व ‘‘नववर्ष-गुड़ी पड़वा’’धूमधाम से मनाया

इंदौर । भारतीय जनता पार्टी के नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, महामंत्री मुकेशसिंह राजावत, गणेश गोयल, घनश्याम शेर ने बताया कि आज भारतीय जनता पार्टी का 39वां स्थापना दिवस व नववर्ष गुड़ी पड़वा भाजपा कार्यकर्ताओं के द्वारा सभी विधानसभाओं में बौद्धिक कार्यक्रम कर, सभी बूथों पर पार्टी ध्वज लगाकर मनाया गया। कार्यकर्ताओं ने नववर्ष गुड़ी पड़वा गुड़ धनिया बांटकर एक दूसरे को बधाई देकर मनाया।
आज प्रातः क्षेत्र क्रमांक 1 में सुबह 9 बजे बड़ा गणपति चौराहा पर बौद्धिक कार्यक्रम कर पार्टी का स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर लोकसभा के संयोजक व विधायक श्री रमेश, मेंदोला, श्री संतोष मेहता, भाजपा नगर उपाध्यक्ष जयदीप जैन, श्री कमल वाघेला, पूर्व महापौर डॉ उमाशशि शर्मा, मंडल अध्यक्ष राजेश शर्मा, विजय बिंजवा, गणपत कसेरा उपस्थित थे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लोकसभा संयोजक व विधायक श्री रमेश मेंदोला एवं श्री संतोष मेहता ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की लंबी एवं संघर्षपूर्ण यात्रा पर चर्चा करने का आज अवसर है। भारतीय जनता पार्टी का मूल श्यामाप्रसाद मुखर्जी द्वारा 1951 में निर्मित भारतीय जनसंघ है। यह यात्रा केवल 39 वर्षों की नहीं है, इस यात्रा का आरंभ 21 अक्टूबर 1951 को जनसंघ की स्थापना के साथ हुआ था एवं इसके प्रथम अध्यक्ष श्रद्धेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी थे। 1977 में आपातकाल की समाप्ति के बाद जनता पार्टी के निर्माण हेतु जनसंघ का अन्य दलों के साथ विलय हो गया। इससे 1977 में पदस्थ कांग्रेस पार्टी को 1977 के आम चुनावों में हराना सम्भव हुआ। तीन वर्षों तक सरकार चलाने के बाद 1980 में जनता पार्टी विघटित हो गई और पूर्व जनसंघ के पदचिह्नों को पुर्नंसंयोजित करते हुये भारतीय जनता पार्टी का निर्माण किया गया। यद्यपि शुरुआत में पार्टी असफल रही और 1984 के आम चुनावों में केवल दो लोकसभा सीटें जीतने में सफल रही। कुछ राज्यों में चुनाव जीतते हुये और राष्ट्रीय चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करते हुये 1996 में पार्टी भारतीय संसद में सबसे बड़े दल के रूप में उभरी। इसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया गया जो 13 दिन चली। इस प्रकार यह यात्रा निरंतर चलते हुए आज 68 वर्ष हो गए हैं एवं भाजपा की यात्रा को 39 वर्ष हुए।
क्षेत्र क्रमांक 3 में विशाल रक्तदान शिविर लगाया
विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 3 में भाजपा कार्यालय के नीचे बने पाण्डाल में बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी की स्थापना दिवस पर रक्तदान किया। रक्तदान की पूरी व्यवस्था विधायक आकाश विजयवर्गीय, नगर उपाध्यक्ष हरप्रीतसिंह बक्षी, मंडल अध्यक्ष सचिन मौर्य, रामदास गर्ग, गंगाराम यादव, सुनील गुप्ता, शालिनी शर्मा, विवेक तिवारी एवं एम.वाय हॉस्पिटल की टीम के द्वारा की गई।
बौद्धिक कार्यक्रम में पूज्य संत श्री अन्ना महाराज ने उपस्थित कार्यकर्ताओं को आर्शीवचन दिये, पश्चात लोकसभा प्रभारी श्री अरविन्द कवठेकर ने भाजपा की स्थापना से जुड़े रोचक पहलू बताकर कहा कि आना वाला जीवन कैसे जियेंगे ? हिन्दुस्तान कैसा बनायेंगे ? आज यह संकल्प का दिवस है। भारतीय जनता पार्टी का अस्तित्व शून्य से शुरू आज यहां तक पहुंचा हैं। देश की जनता चाहती है, कि भारत विश्वगुरू के स्थान पर पहुंचे और भारत माता की जय-जयकार हो। आपने परम वैभव की परिभाषा बताते हुए कहा कि हम इतने सामर्थ्यवान हो जाये, जिसमें सभी को सभी सुविधा प्राप्त हो सके, आपने पश्चिम बंगाल की विभत्सव हिंसाओं की बात करते हुए कहा कि उन्हें जनता अब माफ करने वाली नहीं है। देश जागरूक हो रहा और हमारे साथ खड़ा हो रहा है।

पूर्व राज्यसभा सांसद व वरिष्ट नेता श्री नारायण केसरी ने कहा की जब देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बने तो देश की बहुत सारी समस्याओं का समाधान हुआ अब पुनः मोदीजी प्रधानमंत्री बनेगे तो 50 वर्ष की समस्याओ का समाधान हो जाऐगा। इसलिए देश की जनता भारतीय जनता पार्टी के साथ है।
संभागीय संगठन मंत्री जयपालसिंह चावड़ा ने भाजपा की रीति – नीति और विचार धारा पर विस्तारपूर्वक बोलते हुए कहा की आज पूरा विश्व जिस अपेक्षा के साथ भारत की ओर देख रहा है, इसे हमे आज यहा से संकल्प लेकर भारतीय जनता पार्टी के लिए कार्य करते हुए श्री नरेन्द्रजी मोदी को पुनः देश का प्रधानमंत्री बनाकर विकास की गती को और तेज बनाना है।

प्रदेश उपाध्यक्ष श्री सुदर्शन गुप्ता ने कहा कि भारतीय जनसंघ की स्थापना डॉ॰. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने प्रबल कांग्रेस पार्टी के धर्मनिरपेक्ष राजनीति के प्रत्युत्तर में राष्ट्रवाद के समर्थन में की थी। इसे व्यापक रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आर॰एस॰एस॰) की राजनीतिक शाखा के रूप में जाना जाता था, जो स्वैच्छिक रूप से हिन्दू राष्ट्रवादी संघटन है और जिसका उद्देश्य भारतीय की “हिन्दू“ सांस्कृतिक पहचान को संरक्षित करना और कांग्रेस तथा प्रधानमन्त्री जवाहर लाल नेहरू के मुस्लिम और पाकिस्तान को लेकर तुष्टीकरण को रोकना था। जनसंघ का प्रथम अभियान जम्मू और कश्मीर का भारत में पूर्ण विलय के लिए आंदोलन था। मुखर्जी को कश्मीर में प्रतिवाद का नेतृत्व नहीं करने के आदेश मिले थे। संगठन का नेतृत्व दीनदयाल उपाध्याय को मिला और अंततः अगली पीढ़ी के नेताओं जैसे अटल बिहारी बाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी को मिला।
भारतीय जनता पार्टी का पूरा इतिहास संघर्षपूर्ण रहा है धर्मनिरपेक्षता एवं तुष्टीकरण का मुखर विरोध हमारी विशेषता रही है । विश्व पटल से पिछली शताब्दी में विफल हुए साम्यवाद , पूंजीवाद एवं तथाकथित समाजवाद से अलग हमारा एकात्म मानव दर्शन शुद्ध रूप से पूर्ण स्वदेशी एवं हमारे विद्वान मनीषियों के विचार श्रृंखला का सारभूत निचोड़ है। इस दर्शन को राजनीतिक विचार के रूप में पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने समाज के सामने रखा था।
विधानसभा राऊ में वरिष्ठ नेता श्री कृष्णमुरारी मोघे का व्याख्यान
विधानसभा क्षेत्र राऊ में वरिष्ठ नेता श्री कृष्णमुरारी मोघे ने बौद्धिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता निष्ठावान है काम के प्रति पूरी सजगता एवं अंतिम व्यक्ति तक सरकार की सारी सुविधा पहुंचे यह चिंता करता है। देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्रजी मोदी की सफल नीतियों से देश एवं समूचे विश्व में भाजपा सरकार के प्रति लोगों का विश्वास और बड़ा है। हम सौभाग्यशाली हैं जो कि पार्टी को मोदी जैसा रत्न मिला है। आपने भारतीय जनता पार्टी की स्थापना संघर्ष और गौरवशाली इतिहास की गाथा कार्यकर्ताओं को बतायी।

उक्त कार्यक्रमों में प्रमुख रूप से रमेश मेंदोला, आकाश विजयवर्गीय, जीतू जिराती, उमेश शर्मा, मधु वर्मा, शंकर लालवानी, घनश्याम शेर, कमल वाघेला, जयंत भीसे, हरप्रीतसिंह बक्षी, जयदीप जैन, सुमित मिश्रा, बबलू अभिषेक शर्मा, हरिनारायण यादव, ईश्वर बाहेती, मुकेश मंगल, कमल वर्मा, ज्योति तोमर, सचिन मौर्य, गंगाराम यादव, शोभा गर्ग, उस्मान पटेल, रामदास गर्ग, दीपिका नाचन,विवेक तिवारी, शालिनी शर्मा, शारदा खण्डेलवाल, माधुर जायसवाल, गायत्री बाथम, मीना अग्रवाल, चन्द्रकांता तलरेजा, सुषमा पटेल, सरोज मसीह, ममता सोनकर, कीर्ति शर्मा, डॉ आर.एस. मिश्रा, शंकर यादव, पार्षद श्री संतोष गौर, राजेश चौहान, दीपक टीनू जैन, चंदगीराम यादव, अश्विनी शुक्ला, मांगीलाल रेडवाल, लक्ष्मीनारायण साहू, सुरेंद्र वाजपेई, विमल बड़जात्या, निरंजन चौहान सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

BJP workers celebrated 39th raising day of BJP and ‘New Year-Gudi Padwa’ with Dhumdham

Indore Bharatiya Janata Party’s city president Gopikrishna Nema, Maha Mukesh Singh, Ganesh Goyal, Ghanshyam Sher said that today the Bharatiya Janata Party’s 39th raising day and the new year’s Gudi Padwa, by doing BJP’s intellectual program in all the assemblies, by putting a party flag on all the booths Celebrated. The workers celebrated New Year’s Gudi Padva Pad jaggery coriander by congratulating each other.
In today’s area, number 1 at 9 in the morning at the big Ganpati intersection, the establishment day of the party was organized on the intellectual program. On this occasion, Lok Sabha Convenor and Mr. Ramesh, Mandola, Mr. Santosh Mehta, BJP City Vice President Jaideep Jain, Mr. Kamal Vaghela, Former Mayor Dr. Umashish Sharma, Mandal Chairman Rajesh Sharma, Vijay Binjwa and Ganpat Kapur were present on this occasion.

The chief guest of the program, Lok Sabha Convenor and MLA Mr. Ramesh Mandola and Mr. Santosh Mehta said that there is a chance to discuss the long and struggling journey of the Bharatiya Janata Party. Bharatiya Janata Party’s origin is the Jana Sangh created by Shyamaprasad Mukherjee in 1951. This journey is not only of 39 years, this journey was started on 21 October 1951 with the establishment of Jana Sangh and its first President was the revered Dr. Shyama Prasad Mukherjee. After the end of the Emergency in 1977, the Jana Sangh merged with other parties to form the Janata Party. It was possible to defeat the Congress Party, which was held in 1977 in the 1977 general elections. After running the government for three years, the Janata Party was dissolved in 1980 and the Bharatiya Janata Party was formed by reorganizing the footprints of the former Jana Sangh. Although the party was initially unsuccessful and managed to win only two Lok Sabha seats in the 1984 general elections. By winning elections in some states and performing well in national elections, the party emerged as the largest party in the Indian parliament in 1996. It was invited to form a government which lasted 13 days. In this way, this journey has been going on continuously for 68 years and BJP’s journey to 39 years.
Large blood donation camp in area number 3
A large number of BJP workers donated blood on the foundation day of the party in Pandal, which was made under BJP’s office in Assembly Area No. 3. The entire arrangement of blood donation was done by the MLA, Akash Vijayvargiya, city vice president Harpreet Singh Buxi, Mandal Chairman Sachin Maurya, Ramdas Garg, Gangaram Yadav, Sunil Gupta, Shalini Sharma, Vivek Tiwari and M.Y. Hospital.
In the intellectual program, the holy saint Shri Anna Maharaj gave an undertaking to the present workers, after which Shri Arvind Kawhetkar, in-charge of Lok Sabha, described the interesting aspects of the establishment of the BJP and said how come life will come alive? How will Hindustan make? Today is the day of resolution. The existence of the Bharatiya Janata Party has reached here since zero today. The people of the country want that India reach the place of world guru and Jai-Cheer of Bharat Mata Describing the definition of supreme glory, we said that we should become so powerful in which everybody can get all the facilities, while talking about the different violent incidents of West Bengal, the public is not going to forgive them. The country is becoming aware and is standing with us.

Former Rajya Sabha MP and senior leader Shri Narayan Kesari said that when the country’s Prime Minister Narendra Modi became Chief Minister, many problems of the country were resolved. Now again Modi will become the Prime Minister, then the problems of 50 years will be resolved. So the people of the country are with the Bharatiya Janata Party.
Divisional organization minister Jaipal Singh Chavda, while elaborating on BJP’s policy and views section, said that today, with the resolution of the whole world looking at India, today we have taken a resolution with this and working for the Bharatiya Janata Party Making Narendra Modi the prime minister of the country again, the speed of development is to make it faster.

State Vice President, Shri Sudarshan Gupta said that the establishment of the Indian Jana Sangh, Dr. Shyamaprasad Mukherjee in support of nationalism in response to the prevailing Congress Party’s secular politics. It was widely known as the political arm of Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS), which is a voluntary Hindu nationalist organization and whose purpose is to preserve the Indian “Hindu” cultural identity and the Congress and the Prime Minister Jawaharlal Nehru had to stop the appeasement of Muslims and Pakistan. Jana Sangh’s first campaign was the movement for Jammu and Kashmir’s complete merger in India. Mukherjee had received orders not to lead a counter-insurgency in Kashmir. The leadership of the organization met Deendayal Upadhyay and eventually got the next generation leaders like Atal Bihari Bajpai and LK Advani.
The Bharatiya Janata Party’s entire history has been struggling. The vocal opposition of secularism and appeasement is our specialty. Our integral human philosophy, apart from communism, capitalism and the so-called socialism that failed in the last century from the world panel, is a purely squeezing of the purely indigenous and thought-provoking series of our scholarly intellectuals. Pandit Deendayal Upadhyay placed this philosophy in front of the society as a political thought.
Leader of the Legislative Assembly in Rao, Mr. Krishanmurari Moghe
Senior Krishi Murmu Moghe, Senior Leader in Assembly Area Rau

Addressing the gathering, he said that every worker of Bharatiya Janata Party is loyal to the whole consciousness of the work and the entire person gets all the facilities of the government. With the successful policies of the country’s Prime Minister, Hon’ble Narendra Modi, the faith of the people of the BJP in the country and the entire world is bigger. We are fortunate that the party has got a Modi-like gem. You established the Bhartiya Janta Party to tell the story of struggle and glorious history to the workers.

The above programs include Ramesh Mandola, Akash Vijayvargiya, Jitu Jirari, Umesh Sharma, Madhu Verma, Shankar Lalwani, Ghanshyam Sher, Kamal Vaghela, Jayant Bhise, Harpreet Singh Buxi, Jaideep Jain, Sumit Mishra, Bablu Abhishek Sharma, Harinarayan Yadav, Ishwar Baheti, Mukesh Mangal, Kamal Verma, Jyoti Tomar, Sachin Maurya, Gangaram Yadav, Shobha Garg, Usman Patel, Ramdas Garg, Deepika Nachan, Vivek Tiwari, Shalini Sharma, Sharda Khandelwal, Madhur Jaiswal, Gayatri Batham, Meena Agarwal, Chandrakanta Talreja, Sushma Patel, Saroj Christ, Mamta Sonkar, Kirti Sharma, Dr. R.S. A large number of workers including Mishra, Shankar Yadav, councilor Shri Santosh Gaur, Rajesh Chauhan, Deepak Tinu Jain, Chandigiram Yadav, Ashwini Shukla, Mangilal Redwal, Lakshminarayan Sahu, Surendra Vajpai, Vimal Barjatya, Niranjan Chauhan were present.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: