मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर भोपाल से लेकर इंंदौर तक छापे, मध्यप्रदेश में बढ़ा सियासी पारा

Advertisements

NEWS IN HINDI

मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर भोपाल से लेकर इंंदौर तक छापे, मध्यप्रदेश में बढ़ा सियासी पारा

भोपाल, मध्यप्रदेश में सीएम कमलनाथ के ओएसडी और रिश्तेदारों के यहां आयकर विभाग के छापे पर सियासत शुरू हो गई है. आयकर विभाग ने रविवार तड़के मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी (विशेष कार्याधिकारी) प्रवीण कक्कड़ और अन्य लोगों के भोपाल और इंदौर स्थित आवास और अन्य ठिकानों पर छापेमारी जारी है. अब तक छापों में बड़ी मात्रा में नकदी मिलने की बात सामने आ रही है. छापेमारी में बरामद जेवरों की कीमत का हिसाब लगाया जा चुका है. रविवार को शुरू हुई यह कार्रवाई सोमवार को भी जारी है. हालांकि फिलहाल किसी की गिरफ्तारी की संभावना नहीं जताई जा रही है.

दिल्ली से आई आयकर विभाग की टीम ने रविवार तड़के भोपाल और इंदौर में एक साथ छापेमारी शुरू की. आयकर विभाग की टीम ने भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा बिल्डिंग की छठी मंजिल (जो कक्कड़ का निजी दफ्तर है) और नादिर कॉलोनी स्थित आवास पर छापा मारा. इसके अलावा इंदौर के योजना 74 के आवास, विजयनगर स्थित कार्यालय, डीसीएम हाइट्स के कार्यालय सहित अन्य स्थानों पर छापे मारे गए.
दो बैग लेकर बाहर निकले दो लोग

कक्कड़ राज्य पुलिस सेवा के पूर्व अधिकारी हैं. कक्कड़ को राष्ट्रपति पुरस्कार भी मिल चुका है. वह पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के भी ओएसडी रहे हैं. सरकारी नौकरी छोड़ चुके कक्कड़ अभी मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी हैं. इसके अलावा आयकर विभाग की टीम ने भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा में ही चौथी मंजिल पर एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) चलाने वाले अश्विनी शर्मा के यहां भी छापा मारा.

रविवार देर रात अश्विन शर्मा के दफ्तर से दो लोगों को दो बैग लेकर निकलते देखा गया. इस बाबत उनसे सवाल भी पूछा गया लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. आयकर विभाग के कुछ अधिकारी अभी भी आर के मिगलानी के घर के अंदर इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की जांच कर रहे हैं. वहीं आयकर विभाग इससे पहले आरके मिगलानी की गाड़ियों से भी कुछ दस्तावेज बरामद कर चुका है.

प्लेटिनम प्लाजा के नीचे कई महंगी गाड़ियां मिली हैं, जो अश्विनी शर्मा की बताई जा रही हैं. इसी बिल्डिंग में रहने वाले प्रतीक जोशी के यहां भी आयकर टीम ने छापा मारा. जोशी का कक्कड़ से करीबी रिश्ता है. उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक अलग अलग छापे में करोड़ों रुपए और इससे जुड़े कागजात बरामद किए गए हैं. छापेमारी की यह कार्रवाई अंत समय तक गुप्त रखी गई थी और मध्य प्रदेश पुलिस भी इस ऑपरेशन में शामिल नहीं थी. सीआरपीएफ के कर्मचारियों और अधिकारियों को छापे के अलग अलग स्थानों पर स्पेशल बसों से रवाना किया गया था.
भोपाल पुलिस ने जारी किया बयान

इस बीच आयकर टीम की कार्रवाई को लेकर भोपाल पुलिस ने बयान जारी किया है. इसमें कहा गया है कि 7 अप्रैल को वल्नरेबल हेमलेट जोन अंबेडकर नगर, कर्टसी प्लेटिनम प्लाजा और पंचशील नगर में एरिया डोमिनेशन और कॉन्फिडेंस बिल्डिंग मेजर्स के तहत कार्रवाई करते हुए फ्लैग मार्च किया जा रहा था, जिसमें टीटी नगर और हबीबगंज संभाग का पुलिस बल शामिल था. जब फ्लैग मार्च प्लेटिनम प्लाजा के सामने से गुजर रहा था तब यह सूचना मिली कि प्लेटिनम प्लाजा के लोगों और व्यवसायियों को बंद कर दिया गया है. उन्हें आने जाने से भी रोका जा रहा है. प्लेटिनम प्लाजा में रहने वाले किसी व्यक्ति की तबीयत खराब थी और उसे भी आने-जाने में असुविधा हो रही थी.

प्लेटिनम प्लाजा पहुंचने पर यह देखा गया कि वहां पर मीडिया की भीड़ लगी हुई है. आम जनता भी काफी संख्या में मौजूद थी और कुछ सीआरपीएफ का बल भी मौजूद था. वहां एक 108 एंबुलेंस भी खड़ी थी. वहां मौजूद सीआरपीएफ के अधिकारियों से चर्चा की गई कि लोगों को आने जाने से क्यों रोका गया है, तो उन्होंने बताया कि अंदर रेड चल रही है जिसके कारण गेट बंद किया गया है. भोपाल पुलिस की ओर से आगे कहा गया कि आयकर टीम अपना काम करे लेकिन लोगों की सुविधा का ध्यान रखते हुए कार्रवाई की जानी चाहिए. बाद में भोपाल पुलिस की टीम अपने एरिया डोमिनेशन के लिए कर्टसी क्षेत्र में रवाना हो गई.

उधर छापेमारी पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि हार सामने नजर आ रही है, इसलिए विपक्ष को डराने की इस तरह की कार्रवाई की जाने लगी है. राज्य में आयकर विभाग के छापों पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ की ओर से एक बयान जारी किया गया है. इसमें कहा गया है कि आयकर छापों की सारी स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई है. सारी स्थिति स्पष्ट होने पर ही इस पर कुछ कहना उचित होगा लेकिन पूरा देश जानता है कि संवैधानिक संस्थाओं का किस तरह और किन लोगों के खिलाफ और कैसे इस्तेमाल पिछले पांच साल में किया जाता रहा है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Chief Minister Kamal Nath raided from Bhopal to Indore, increased political favor in Madhya Pradesh

In Madhya Pradesh, CM Kamal Nath’s OSD and relatives have started the politics of raising the income tax department. The Income Tax Department was conducting raids on Madhya Pradesh Chief Minister Kamal Nath’s OSD (Special Operations) Pravin Kakkar and other people on Bhopal and Indore-based housing and other bases. So far, the issue of getting huge amounts of cash in the impressions is coming out. The price of jewelery recovered in the raid has been calculated. This action, which began on Sunday, continues on Monday. However, the possibility of arrest of someone is not being expected at this time.

The team from IIT Delhi started raids together in Bhopal and Indore on Sunday. The Income Tax Department team raided the sixth floor of Bhopal’s Platinum Plaza Building (which is the private office of Kakkad) and lodged at Nadir Colony. Apart from this, raid was carried out at Indore’s Plan 74, Office of Vijayanagar, offices of DCM Heights and other places.
Two people out with two bags

Kakad is a former officer of the State Police Service. Kakad has also got the President’s Award. He is also the OSD of former Union Minister Kantilal Bhuria. Kakkar, who quit the government job, is now the chief minister of Kamal Nath OSD. Apart from this, the Income Tax Department team also raided Ashwini Sharma, who runs an NGO run (NGO) on the fourth floor in Platinum Plaza, Bhopal.

On Sunday night, two people were seen carrying two bags from Ashwin Sharma’s office. He was asked a question in this regard but he did not respond. Some officials of the Income Tax Department are still investigating electronic gadgets inside RK Miglani’s house. The Income Tax Department has also recovered some documents from RK Miglani’s trains earlier.

Below Platinum Plaza, there are many expensive carts that are being reported to Ashwani Sharma. In the same building, Joshi, who was living in this building, was raided by the income tax team. Joshi has a close relationship with Kakad. According to highly placed sources, crores rupees and related papers have been recovered in different raid. This operation of the raids was kept secret till the end and Madhya Pradesh Police was not involved in the operation. CRPF employees and officers were evacuated from special buses at different places of the raid.
Bhopal police issued statement

Meanwhile, Bhopal police issued a statement regarding the action of the income tax team. It has been stated that on April 7, a flag march was being conducted on April 7 under the action of Wrenerable Hamlet Zone Ambedkar Nagar, Courtesy Platinum Plaza and Panchsheel Nagar under Area Domination and Confidence Building Measers, which included police force of TT Nagar and Habibganj division. . When the flag march was passing in front of Platinum Plaza, it was reported that the people and businessmen of Platinum Plaza have been closed. They are being stopped even after coming. A person living in Platinum Plaza was in poor condition and was also having difficulty in coming and going.

On reaching Platinum Plaza, it was seen that there was a mob of media. The general public was also present in large numbers and some CRPF force was also present. There was also a 108 ambulance standing. It was discussed with the CRPF officials that why the people have been prevented from coming to them, they said that the gate is closed due to which the gate is underway. It was further said that the income tax team should do its work but action should be taken keeping in mind the convenience of the people. Later, the team of Bhopal Police left for the Kurtsi area for their area domination.

On the raids, Chief Minister Kamal Nath has accused the BJP of saying that defeat is being seen in front of him, so this kind of action has been taken to scare the opposition. Responding to the income tax department’s impressions in the state, a statement has been issued by Chief Minister Kamal Nath. It says that all the conditions of income tax impressions are not yet clear. Only after all the situation is clear, it would be fair to say something but the whole country knows about the kind of constitutional institutions and against which people have been used and how they are used in the last five years.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: