मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर रेड, सीआरपीएफ और मध्यप्रदेश पुलिस में भिड़ंत, सीआरपीफ एक और बटालियन को बुलाया गया

Advertisements

NEWS IN HINDI

मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर रेड, सीआरपीएफ और मध्यप्रदेश पुलिस में भिड़ंत, सीआरपीफ एक और बटालियन को बुलाया गया

भोपाल। मध्यप्रदेश में पश्चिम बंगाल की तरह पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों के बीच टकराव की खबर आ रही है. कमलनाथ सरकार की पुलिस प्लेटिनम प्लाजा पहुंच गई है और सीआरपीएफ के साथ भिड़ गई है. इसके अलावा पुलिस ने भोपाल और इंदौर में छापेमारी के ठिकानों पर घुसने की कोशिश भी की. पुलिस और सीआरपीएफ के बीच हुई भिड़ंत के बाद सीआरपीएफ ने और जवानों को प्लेटिनम प्लाजा पर बुलाया है. एक बस और सीआरपीएफ जवान पहुंचे हैं.

मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के करीबी अश्विनी शर्मा और प्रतीक जोशी के घर पर आयकर विभाग ने सीआरपीएफ की मदद से छापेमारी की है. अभी छापेमारी जारी है. इस बीच मध्यप्रदेश पुलिस ने शर्मा के घर प्लेटिनम प्लाजा को घेर लिया है. पुलिस की सीआरपीएफ के साथ नोंकझोंक भी हुई है. बता दें, भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा में आयकर विभाग ने छापेमारी की है. यहां की छठी मंजिल पर प्रतीक जोशी और अश्विनी शर्मा रहते हैं.

मध्यप्रदेश पुलिस ने कहा- लोगों की सहूलियत के लिए हम आएं, छापेमारी से कोई लेना-देना नहीं

भोपाल के एसपी सिटी भूपिंदर सिंह ने कहा कि छापेमारी से हमारा कोई लेना-देना नहीं है. यह एक आवासीय परिसर है, अंदर ऐसे लोग हैं जिन्हें चिकित्सा सहायता की आवश्यकता है, वे मदद के लिए स्थानीय एसएचओ को बुला रहे हैं. उन्होंने छापेमारी के कारण पूरे परिसर को बंद कर दिया है. हम लोगों की सहूलियत के लिए यहां पहुंचे हैं.

सीआरपीएफ ने कहा, हमें गालियां दे रहे हैं MP पुलिस के अफसर

सीआरपीएफ अधिकारी प्रदीप कुमार ने कहा कि मध्य प्रदेश पुलिस हमें काम नहीं करने दे रही है, वे हमें गालियां दे रहे हैं. हम केवल अपने सीनियर्स के आदेशों का पालन कर रहे हैं. सीनियर्स ने हमें किसी को भी अंदर नहीं जाने देने के लिए कहा है. कार्यवाही जारी है, इसीलिए हम किसी को अंदर नहीं जाने दे रहे हैं. केवल अपना कर्तव्य निभा रहे हैं.

एसएसपी को प्रवीण कक्कड़ के घर में घुसने से रोका

इंदौर में प्रवीण कक्कड़ के घर पर एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र, एसपी यूसुफ कुरैशी और पुलिस टीम के साथ मौजूद हैं. एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र को सीआरपीएफ ने प्रवीण के घर के अंदर जाने से रोका है. एसएसपी ने सीआरपीएफ के जवानों को अपना मोबाइल नंबर दिया और कहा कि कुछ आवश्यकता होने पर तत्काल सूचित करें.

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- मध्यप्रदेश में अभूतपूर्व संवैधानिक संकट

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं हैरान हूं कि राज्य सरकार और उसके सीएम आयकर विभाग को रोकने की कोशिश कर रहे हैं. सीआरपीएफ को उसकी ड्यूटी करने से रोका जा रहा है? क्या यह भ्रष्टाचारियों को बचाने का प्रयास नहीं है. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी वाले ऐसा कर रहे हैं? क्या बीजेपी ने वहां पैसा रखे हैं. राज्य में अभूतपूर्व संवैधानिक संकट उत्पन्न हो गया है. जैसे बंगाल में हुआ.

पहली बार आयकर की छापेमारी में सीआरपीएफ

आयकर विभाग की यह छापेमारी काफी गोपनीय थी. यहां तक की मध्यप्रदेश के आयकर अफसरों को कार्रवाई की जानकारी नहीं दी गई थी. दिल्ली की टीम ने मध्यप्रदेश पुलिस की भी मदद नहीं ली. पहली बार सीआरपीएफ को छापेमारी की कार्रवाई में शामिल किया गया.

कमलनाथ के करीबियों के 50 ठिकानों पर छापेमारी

आयकर विभाग ने कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी, निजी सचिव और पूर्व पुलिस अधिकारी प्रवीण कक्कड़, सलाहकार रहे राजेंद्र कुमार मिगलानी और भोपाल में प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा के करीब 50 ठिकानों पर छापेमारी की. अभी कई जगहों पर छापेमारी जारी है. आयकर विभाग को इस दौरान करोड़ों कैश के अलावा कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके facebook page पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

At the close of CM Kamal Nath, CRPF and CRPF battled a CRPF and Madhya Pradesh Police

Bhopal. In Madhya Pradesh, news of a conflict between police and central agencies like West Bengal is coming. The Kamalnath government’s police has reached Platinum Plaza and has clashed with the CRPF. Apart from this, the police also tried to penetrate the raids in Bhopal and Indore. After the clashes between the police and the CRPF, the CRPF has called the jawans on Platinum Plaza. A bus and CRPF jawans have reached.

 The Income Tax Department has raided Ashwini Sharma and close proximity to Chief Minister Kamal Nath OSD Praveen Kaskar with the help of CRPF. Right now the raids continue. Meanwhile, Madhya Pradesh Police surrounded Sharma’s Platinum Plaza. The police have also been involved with the CRPF. Explain, the Income Tax Department has raided Platinum Plaza in Bhopal. There is Prashod Joshi and Ashwini Sharma on the sixth floor here.

Madhya Pradesh Police said: “We come for the convenience of the people, nothing to do with raiding

Bhopal SP City Bhupinder Singh said that we do not have any involvement with the raids. It is a residential complex, inside people who need medical assistance, they are calling local SHOs for help. They have closed the entire premises due to the raid. We have come here for the convenience of the people.

CRPF said, “We are giving abuses to the MP police officer

CRPF officer Pradeep Kumar said that the Madhya Pradesh Police is not allowing us to work, they are giving us abuses. We are only following the orders of our senior citizens. Seniors told us not to let anyone in. The proceedings are on, so we are not letting anyone in. Only your duty is playing.

SSP prevented from entering the house of Praveen Kadkar

SSP Interested Vardhan Mishra, SP Yusuf Qureshi and police team are present at the house of Pravin Kakad in Indore. SSP Interesty Vardhan Mishra has been stopped by the CRPF from entering Praveen’s house. The SSP gave the CRPF jawans their mobile number and said that they should inform immediately if there is any requirement.

Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan said: unprecedented constitutional crisis in Madhya Pradesh

Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan said that I am surprised that the state government and its CM are trying to stop the Income Tax Department. The CRPF is being stopped from doing its duty? Is it not an attempt to save the corrupt? Congress is alleging that BJP is doing this? Is the BJP reserving the money there? An unprecedented constitutional crisis has arisen in the state. Just like in Bengal

For the first time, the CRPF

The raids of the Income Tax Department were quite confidential. Even Madhya Pradesh’s Income Tax officials were not informed of action. The Delhi team did not even get help from the Madhya Pradesh police. For the first time the CRPF was involved in the raiding operation.

Raid on 50 locations of Kamal Nath close relatives

 The Income Tax Department raided Kamalnath’s brother-in-law Ratul Puri, private secretary and former police officer Praveen Kakkar, Rajendra Kumar Miglani, advisor, and Bhopal in 50 places around Pratik Joshi and Ashwin Sharma. Impressions are continuing in many places right now. The Income Tax Department received several important documents in addition to crores of cash during this period.

To get the latest updates, click on the link: facebook page Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: