सीएम कमलनाथ पहुँचे काँग्रेस प्रत्याशी रामु टेकाम के समर्थन में बाबा मठारदेव को नगरी में, पर बाबा के दर्शन भूले सीएम

Advertisements

सीएम कमलनाथ पहुँचे काँग्रेस प्रत्याशी रामु टेकाम के समर्थन में बाबा मठारदेव को नगरी में, पर बाबा के दर्शन भूले सीएम


सारनी, (ब्रजकिशोर भारद्वाज)। लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां कमर कस कर मेहनत कर रही है और अपने अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए समर्थन जुटा रही है। इसी क्रम में 22 अप्रैल को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ बैतूल जिले मे 3 ब्लॉकों में कांग्रेस प्रत्याशी रामू टेकाम के समर्थन में आम सभा को संबोधित करने पहुंचे। जहां पर उन्होंने सर्वप्रथम 11:30 बजे बाबा मठारदेव की पावन नगरी पाथाखेड़ा में स्थित फुटबॉल ग्राउंड में विशाल जन आम सभा को संबोधित किया। जहाँ हजारों की संख्या में आम जनता सीएम कमलनाथ को सुनने पहुंची। इस आम सभा में सीएम कमलनाथ ने जमकर भाजपा पर निशाना साधा। सीएम कमलनाथ ने अपने भाषण में कहा कि मैं छिन्दवाड़ा का सांसद रहते हुए सारनी से ही आता जाता था, मैंने भी सारनी की धूल खाई है, और शिवराज सरकार के 15 साल ओर मोदी सरकार के 5 साल बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है, उसमे भी हमारे सामने बहुत सारी चुनौतीया है, पर शिवराज सरकार ने हमे 15 साल बाद देश मे किसानो की आत्महत्या में नंबर 1, भ्रष्टाचार में नंबर 1, भ्रष्टाचार में नंबर 1, बेरोजगारी में नंबर 1, बलात्कार में नंबर 1, हत्या में नंबर 1 मध्य प्रदेश हमे भाजपा ने दिया है, जिसके बाद हमे 75 दिन मिले जिसके बाद आचार संहिता लागू हो गयी परंतु हमने सुधार करने का प्रयास किया है। पूरे प्रदेश में रामू टेकाम को मैंने स्वयं प्रत्याशी के रूप में चुना है, आप सभी रामु टेकाम को वोट देकर जिताये और रामू टेकाम को जीतना मतलब आप मुझे जिता रहे हैं। काँग्रेस प्रत्याशी रामु टेकाम के बारे में कहा कि रामु एक गरीब आदिवासी परिवार से है, रामु यहाँ तक समाजसेवा से पहुँचा है। इसलिए आप रामु को जिताये। वही इस आम जनसभा में कैबिनट मंत्री एवं मुलताई विधायक सुखदेव पांसे, प्रभारी मंत्री कमलेश्वर पटेल, काँग्रेस जिलाध्यक्ष सुनील शर्मा, समीर खान, ब्लाक काँग्रेस कमेटी सारनी ब्लॉक अध्यक्ष भगवान जावरे, नपा अध्यक्ष आशा महेंद्र भारती सहित काँग्रेस के कार्यकर्ता, पदाधिकारी एवं आमजनता मौजूद रही।


बाबा मठारदेव की नगरी में तो आये पर आशीर्वाद लेना भूले


प्रदेश के मुखिया सारनी क्षेत्र की जनता के बीच आमजनसभा में तो पहुँचे परंतु वे सारनी नगर में पहुँचने के बाद भी नगर के देवता श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव का आशीर्वाद लेना भूल गए। विधानसभा चुनाव में ठीक इससे पहले भी शिवराज सिंह चौहान जन आशीर्वाद यात्रा लेकर सारनी पहुंचे थे। वे रातों-रात सारनी से चले गए बिना बाबा मठारदेव के दर्शन किए जिसके बाद उन्हें पूरे प्रदेश से अपनी सत्ता को गवाना पड़ा। यह तो सर्वविदित है कि जो भी सारनी आता है वह बाबा मठारदेव के चरणों में नतमस्तक जरुर करता है और जो नहीं करता है वह दोबारा सत्ता सुख से वंचित हो जाता है।


660 मेगावॉट पर बोले कमलनाथ


सारनी में लगने वाली 660 मेगावॉट की इकाई पर हमेशा सारनी में राजनीतिक पार्टियां आमने सामने होती रहती है, जिस पर सीएम कमलनाथ ने अपने भाषण में जिक्र किया उन्होंने कहा कि हम नही चाहते कि पाथाखेड़ा उजड़े इसलिए हमने पहली ही केबिनेट मीटिंग में ही 660 मेगावॉट की इकाई का सेंशन किया ओर अगर 660 मेगावॉट की इकाई यहाँ खुलती है, तो आप सभी सोचिए कि उसके बाद 3 खदानों की भी आवश्यकता पड़ेगी।


काँग्रेस में हुए शामिल


कांग्रेस के पूर्व मंत्री एवं आदिवासी नेता प्रताप सिंह उईके की भी पुनः घर वापसी हुई। आपको बता दे कि विधानसभा चुनाव में घोड़ाडोंगरी विधानसभा से कांग्रेस पार्टी से बागी होकर छोड़कर सपा पार्टी से चुनाव लड़ने वाले कांग्रेस के पूर्व मंत्री एवं आदिवासी नेता प्रताप सिंह उइके कांग्रेस पार्टी में पुनः शामिल हुए। उसी प्रकार आमला विधानसभा से भाजपा से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले नेता मनोज डहेरिया, आमला विधानसभा से बसपा से प्रभू मस्तकर कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए। आमला विधानसभा में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से प्रत्याशी रहे राकेश महाले भी कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए आपको बता दें कि राकेश महाले ने आमला विधानसभा से बीजेपी तथा कांग्रेस के प्रत्याशी को काफी करारी टक्कर दी थी। प्रताप सिंह उईके, राकेश महाले, मनोज डेहरिया, प्रभु मस्तकर को सीएम कमलनाथ ने काँग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई।


कर्ज माफ पर हमें नही चाहिए शिवराज जी का सर्टिफिकेट


कर्ज माफी पर भी सीएम कमलनाथ बोले हवाओं ने कहा कि हमने तो 75 दिन में ही 40 प्रतिशत किसानो का कर्ज माफ किया है, जिस पर भी शिवराज जी कहते हैं कि हमने किसी का कर्जा माफ नहीं किया है इस पर हमें शिवराज जी का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए क्योंकि उन्होंने तो 15 साल झूठ तो बोल लिया है, और 15-20 दिन झूठ बोल ले। हमें तो किसानों का सर्टिफिकेट ही क्योंकि हमने तो उनका कर्जा माफ किया है।


मैं पिछले 20 साल से बैतूल को गोद लेने की आस में हूं


सीएम कमलनाथ ने अपने भाषण देते वक्त कहां की मैं पिछले 20 सालों से इस आस में हूँ कि आप हमें मौका दीजिए की मैं बैतूल जिले को गोद ले सकू। एक पड़ोसी के नाते नहीं बल्कि मेरे 40 साल पुराने संबंध यहां से रह चुके हैं जहाँ आकर मुझे मेरी जवानी भी याद आती है। उक्त कथनों से साफ तौर पर झलकता है, कि सीएम कमलनाथ पिछले 20 सालों से बैतूल जिले की सीट पर कांग्रेस का प्रत्याशी जिताना चाहते थे। परंतु 15 सालों बाद बैतूल जिले की सीट पर विधानसभा चुनाव में 4 सीटें कांग्रेस को मिली है, अब लोकसभा चुनाव में यह सीट किस पार्टी को मिलती है, यह तो नतीजों के बाद ही देखने को मिलेगा।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: