सुरक्षाकर्मियों की अनदेखी से सतपुड़ा डेम पर लोग दिन भर लेते रहे सेल्फी,घटित हो सकती है बडी़ दुर्घटना, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधिवक्ता अय्युब मंसूरी से सुरक्षा कर्मियों ने की बदसलूकी

Advertisements
सुरक्षाकर्मियों की अनदेखी से सतपुड़ा डेम पर लोग दिन भर लेते रहे सेल्फी, घटित हो सकती है बडी़ दुर्घटना
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधिवक्ता अय्युब मंसूरी से सुरक्षा कर्मियों ने की बदसलूकी

बैतूल/सारनी। एक ओर तो जिला प्रशासन चीख चीख कर कह रहा है कि लगातार हो रही बारिश को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन ने कड़ी व्यवस्था की है। लेकिन वहीं दूसरी ओर सतपुड़ा ताप विद्युत गृह के सतपुडा जलाशय के डैम के लगातार गेट खोले जा रहे हैं। और इस दृश्य को देखने के लिए वहां आम जनता की भीड़ सैकड़ों की तादात में इकट्टा हो रही है। जैसे मानो कोई नया अजूबा घटित हो गया हो और पब्लिक उसे देखने के लिए मर रही है सेल्फी प्वाइंट की तरह वहां सेल्फी लिये जा रहे हैं। वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी इन लोगों को डांट फटकार का हटाने की जगह सब कुछ अनदेखा कर विचरण करने की अनुमति देना। बड़ी लापरवाही की ओर इशारा कर रही है। अगर कोई बड़ी अप्रिय घटना सेल्फी लेते हुए घटित हो गई तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। क्या जिला प्रशासन ऐसे लापरवाह सुरक्षा कर्मियों तथा अधिकारियों पर कार्रवाई करने में कोताही की बढ़ती जा रही है। क्या इस बात का इंतजार किया जा रहा है। कि कोई अपनी घटना घटित हो तब ऐसे मामले को गंभीरता से लिया जाएगा।

कुछ ऐसा ही मामला बैतूल जिले के सारणी सतपुड़ा जलाशय के डेम का है। जहां पर शनिवार खुलेआम लोग डैम पर विचरण करते नजर आए। और तो और सेल्फी लेने में भी किसी ने एक-दूसरे को पीछे नहीं छोड़ा। खुलेआम डैम पर घूमने की बात पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधिवक्ता अय्यूब मंसूरी से बदसलूकी भी सुरक्षाकर्मियों व्दारा की गयी। वही सतपुड़ा अधिवक्ता न्याय मंच के अध्यक्ष तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधिवक्ता अय्यूब मंसूरी नै बताया कि सतपुड़ा थर्मल पावर प्लांट के डेम में एसआईएसएफ के जवानों से बड़ी चूक हुई। सुरक्षा की दृष्टि से उन्हें लोगों को अंदर जाने के लिए मना करने के लिए उनकी ड्यूटी लगी है। लेकिन जिन्हें अंदर जाने की परमिशन सिविल विभाग देता है। उनके अलावा भी इन्होंने छोटी सी बहस में करीब 40-50 लोगों को भी अंदर जाने दिया। और कहा कि हमारे लिए सब बराबर है। कोई भी जाए अंदर हम किसी को नहीं रोकेंगे‌। और लगातार लोग बिना परमिशन के गेट खुले हुए हैं लोग अंदर जा रहे हैं। एसआईएसएफ के जवानों में एक तिवारी हैं। और दो और लोग हैं। जिसमें से एक तौलिया और बनियान पर ही महिलाओं से बदतमीजी करने लगा। अंदर जाने वालों ने इन्हें बताएं कि हमने परमिशन ले लिए हैं।
हमें सिविल के रियाज खान ने परमिशन दी है। तो तिवारी का ऐसा कहना है कि हम कोई भी रियाज को नहीं जानते। इन्होंने उनकी बात रियाज खान से फोन पर कराई। तो इन्होंने रियाज खान को भी कहा कि हम तुम्हें नहीं जानते कौन हैं। हमें तो सिविल के डीई रोकड़े साहब परमीशन देंगे तभी हम अंदर जाने देंगे। इसी बहस में यह तीनों एसआईएसएफ के जवान तैश में आ गए। और गेट खोल कर सभी आमजन को भी डैम के अंदर जाने दे रहे थे। और उसके बाद शाम तक डैम के गेट खुले रहे हैं। और लोग अंदर आवाजाही कर रहे हैं। छोटे-छोटे बच्चे महिलाएं पुरुष करीब 40-50 की संख्या में लगातार डैम में विचरण कर रहे हैं। और कोई रोक टोक नहीं हो रही है। इससे पहले भी एसआईएसएस के जवानों ने सतपुड़ा थर्मल पावर प्लांट के कई डब्ल्यूसीएल के कर्मचारियों से तथा डब्ल्यूसीएल और सारणी के कई लोगों से मारपीट कर चुके हैं और इस तरह की घटना अब इनके लिए आम हो गई है।
मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड ने एसआईएसएफ की टुकड़ियों को पावर प्लांट की डैम की सुरक्षा के लिए तैनात किया है। लेकिन यह यहां पर अपनी वर्दी के माध्यम से आमजन तो क्या अधिकारी और सभी लोगों को रौब बता कर दहशतगर्दी फैलाने का काम कर रहे हैं। इस मामले में मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड के पीआरओ अमित बंन्सोड से दूरभाष पर संपर्क करने की कोशिश की गई पर उन्होंने फोन उठाना मुनासिब नहीं समझा।
Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: