वार्ड क्रमांक 25 में लगातार हो रही बारिश से गरीब का आशियाना ढहा

Advertisements

वार्ड क्रमांक 25 में लगातार हो रही बारिश से गरीब का आशियाना ढहा


सारनी, (ब्यूरो)। पिछले कई दिनों से लगातार तेज बारिश के कारण नदी नाले उफान पर है, ओर लगातार जलस्तर बढ़ है, जिससे लोगों का नुकसान भी हो रहा है लगातार हो रही बारिश के कारण फसलों का नुकसान, मकानों का धराशाई होने की सूचना भी लगातार सामने आ रही है। जिसको लेकर प्रशासन भी बड़ी गंभीरता दिखा रहा है और तत्काल ऐसी सूचनाओं पर हर संभव मदद करने का प्रयास कर रहा है। लेकिन वहीं दूसरी ओर वार्ड क्रमांक 25 के पार्षद महोदया को जब दूरभाष पर पीड़ित परिवार ने अपने आवास ढह जाने की सूचना दी तो उन्होंने आकर पीड़ित परिवार का हाल जानना तक उचित नहीं समझा।

क्या जनता से बढ़कर जनप्रतिनिधियों के लिए कोई और काम हो सकता है आखिर आम जनता जनप्रतिनिधि इसलिए चुनते है, की आम जनता को जब उनकी जरूरत हो तब उनका साथ देवे। ऐसा करना बेहद ही गलत बात है ऐसे मामलों में तो चुने हुए जनप्रतिनिधियों को खुलकर जनता के दुख दर्द में शामिल होना चाहिए ताकि जिस काम के लिए जनता ने चुना है उस पर हम खरा उतरें। कुछ ऐसा ही मामला बैतूल जिले की सारनी नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 25 का है, जहां पर तेज बरसात के कारण एक गरीब परिवार का मकान रात दो बजे पूर्णता धराशायी हो गया। जिसके बाद मासूम छोटे-छोटे बच्चों सहित पूरा परिवार बैगर होता नजर आ रहा है।

वही धराशायी मकान मालिक शंकर प्रजापति ने बताया कि मेरा मकान पहले से ही मिट्टी का था। तेज बरसात के कारण पूर्णतः धराशायी हो गया है। जिससे मुझे खाद्य सामग्री सहित बर्तन और कई अन्य कीमती चीजों के टूट फूट होने से काफी नुकसान हुआ है। अभी वर्तमान में बरसात लगातार जारी होने के कारण हम कहां जाएं यह समझ में नहीं आ रहा है। क्योंकि हमारा पूरा मकान मिट्टी निर्मित है इसलिए हमें भय लग रहा है, कि कहीं हमारा पूूूरा मकान तेज बारिश के कारण धाराशायी ना हो जाये‌ और बरसात केेे दिनों में तो खुलेआम जहरीले जीव-जंतुु घूमते रहते हैं। तो उनका भी भय सता रहा है कि कहींं जहरीला जीव जंतुओं से सामना ना हो जाए। हमारे संवाददाता द्वारा पीड़ित परिवार से पूछा गया आपने इस मामले के बारे में प्रशासनिक अमले और जनप्रतिनिधियों को सूचना दी। ओर धराशाई मकान की सूचना वार्ड पार्षद को दी थी और उन्होंने कहा कि आज रविवार होने के कारण मैं नहीं आ पाऊंगी जो होना है कल ही हो पाएगा।

जिसके बाद हम लोगों ने किसी को कुछ भी कहना उचित नहीं समझा क्योंकि जो हमारे वार्ड का पार्षद ही हमें सोमवार देखने आएगा। ऐसा बोलकर उन्होंने इस मामले से पल्ला झाड़ लिया। वार्ड में रहने वाले पार्षद को तो रविवार और सोमवार से क्या लेना देना। कौन सा होने शासकीय कार्यालय की जिम्मेदारी है कि वो सोमवार ही आ पाएंगे। वही जब इस मामले में हमने पार्षद माला धुर्वे से बात की तो उनका कहना था कि मेरी तबीयत ठीक नहीं होने के कारण मैंने सोमवार को मिलने की बात कही फिलहाल मेरे द्वारा तहसीलदार घोड़ाडोगरी से बात हो चुकी है, जल्द ही पीड़ित परिवार प्रशासनिक स्तर पर मदद की जाएगी। वही घटना की जानकारी लगते ही वार्ड के पूर्व पार्षद रमेश पवार तत्काल पीड़ित परिवार के पास पहुँचकर उनका हाल-चाल जानकर उन्हें हर संभव मदद दिलाने की बात कही।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: