जिले में अभी तक 806.9 मिमी वर्षा, कलेक्टर ने ताप्ती एवं माचना नदी क्षेत्र की बस्तियों का भ्रमण किया, अधिकारियों को सजग रहने के निर्देश

Advertisements

जिले में अभी तक 806.9 मिमी वर्षा

बैतूल। जिले में 25 अगस्त की सुबह बीते 24 घंटे के दौरान 88.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई। चालू बरसात के सीजन में अभी तक 806.9 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। अधीक्षक भू-अभिलेख से प्राप्त जानकारी के अनुसार चालू बरसात के सीजन में अभी तक वर्षामापी केन्द्र बैतूल में 687.8 मिमी, घोड़ाडोंगरी में 766.8 मिमी, चिचोली में 925.0 मिमी, शाहपुर में 762.0 मिमी, मुलताई में 825.6 मिमी, प्रभातपट्टन में 501.4 मिमी, आमला में 721.0 मिमी, भैंसदेही में 1199.8 मिमी, आठनेर में 638.9 मिमी एवं भीमपुर में 1039.5 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। जिले की औसत सामान्य वर्षा 1083.9 मिमी है। गत वर्ष औसत वर्षा 616.0 मिमी दर्ज हुई थी।


कलेक्टर ने ताप्ती एवं माचना नदी क्षेत्र की बस्तियों का भ्रमण किया, अधिकारियों को सजग रहने के निर्देश

बैतूल। कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक ने रविवार को जिले के ताप्ती नदी के किनारे स्थित सराड़ एवं चिचढाना ग्रामीण क्षेत्र का भ्रमण किया। इसके अलावा उन्होंने ताप्ती बैराज, बैतूल स्थित माचना नदी के करबला घाट की पुलिया एवं इंदिरा नगर बस्ती का भी भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान उन्होंने साथ में मौजूद अधिकारियों को इन क्षेत्रों को सतत् निगरानी बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निरंतर वर्षा की स्थिति को देखते हुए अधिकारी सजग रहें। इस बात का भी ध्यान रखें कि किसी भी स्थान पर कोई नुकसान की स्थिति न बने।

जल संसाधन विभाग के अधिकारियों से सतत् संपर्क
कलेक्टर श्री नायक जल संसाधन विभाग के अधिकारियों से भी सतत् संपर्क बनाए हुए हैं। इसके अलावा कलेक्टर श्री नायक द्वारा पारसडोह बांध के गेट खुलने के पहले बांध का निरीक्षण किया जा चुका है। बांध क्षेत्रों में आवश्यक सुरक्षा एवं सजगता के लिए जल संसाधन, राजस्व एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों को कलेक्टर द्वारा आवश्यक निर्देश भी दिए गए हैं।


आरसीएफ कंपनी की 2612 मे. टन यूरिया और आना प्रस्तावित

बैतूल। जिला विपणन अधिकारी श्री कल्याण सिंह ठाकुर ने बताया कि कृभको कंपनी की बारीक दाने की 3001 मे. टन यूरिया की रेक शनिवार को बैतूल पहुंच चुकी है। कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक के प्रयास से माह अगस्त में यूरिया की तीन रैक उपलब्ध कराई गई है। आरसीएफ कंपनी की 2612 मे.टन की रेक एक-दो दिवस में आना प्रस्तावित है। जिले में किसानों को समिति एवं डबल लॉक केन्द्र से पर्याप्त मात्रा में निरंतर यूरिया उपलब्ध कराया जा रहा है।


सोमवार को जिले के ग्रामों में पहुंचेंगे क्लस्टर अधिकारी, वर्षा की स्थिति का लेंगे जायजा

बैतूल। कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को सोमवार को समूचे जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जिले में हो रही सतत् वर्षा की स्थिति के मद्देनजर ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति का अवलोकन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए अधिकारियों को कहा है। कलेक्टर श्री नायक ने कहा है कि अधिकारी सोमवार को पूर्वान्ह में ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण कर सायं 4 बजे स्थिति से उनको अवगत कराएं। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर द्वारा जिले में प्रभावी की गई क्लस्टर व्यवस्था के तहत विभिन्न विभागों के करीब 60 अधिकारियों को क्लस्टर प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है। प्रत्येक अधिकारी को लगभग 10 ग्राम पंचायतें आवंटित की गई है। अधिकारियों से कहा गया है कि वे अपने क्लस्टर अंतर्गत आवंटित समस्त ग्राम पंचायतों का भ्रमण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करें।


सोमवार को लगभग डेढ़ सौ वाहन जिले के भ्रमण पर रहेंगे, वर्षा की स्थिति का जायजा लेंगे

बैतूल। कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक ने बताया कि सोमवार को जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में वर्षा की स्थिति का जायजा लेने के लिए लगभग डेढ़ सौ वाहनों से जिले के अधिकारियों को रवाना किया जाएगा। ये अधिकारी ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचकर वर्षा की स्थिति का जायजा लेंगे। कलेक्टर स्वयं शाहपुर क्षेत्र के भ्रमण पर रहेंगे। सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी बैतूल के आसपास के क्षेत्र का भ्रमण करेंगे। अपर कलेक्टर श्री साकेत मालवीय भैंसदेही क्षेत्र में ताप्ती के निचले क्षेत्र का भ्रमण करेंगे। डिप्टी कलेक्टर श्री नितिन टाले घोड़ाडोंगरी क्षेत्र में वर्षा की स्थिति का अवलोकन करने के लिए निकलेंगे। इसके अलावा जिले के क्लस्टर प्रभारी अधिकारी अपने क्लस्टर क्षेत्रों में भ्रमण पर रहेंगे।


अतिवर्षा की स्थिति से युद्ध स्तर पर निपटने की प्रशासन की तैयारी, निचली बसाहटों में लाउड स्पीकर से मुनादी की व्यवस्था

बैतूल। जिले में लगातार हो रही वर्षा की स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक ने बताया कि वे लगातार समूचे जिले की स्थिति पर नजर रख रहे हैं। किसी भी स्थान पर राहत अथवा सहयोग की जरूरत पडऩे पर वहां आवश्यक सहूलियत उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। ताप्ती नदी के निचले क्षेत्रों एवं जिले की अन्य निचली बसाहटों में आवश्यकता पडऩे पर लाउड स्पीकर से मुनादी कराकर भी लोगों को जरूरी सूचनाएं उपलब्ध कराई जाएगी। कलेक्टर ने बताया कि जिला प्रशासन की नजर से कोई भी गांव छूटा नहीं है। कहीं भी आवश्यकता पडऩे पर तत्परता से राहत व्यवस्था करने के लिए प्रशासन मुस्तैद है।


Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat
%d bloggers like this: