थाना कोतवाली ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, 24 घंटे के अंदर किया गया हत्या के आरोपी को गिरफ्तार

Advertisements

थाना कोतवाली ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, 24 घंटे के अंदर किया गया हत्या के आरोपी को गिरफ्तार


बैतूल, (ब्यूरो)। पुलिस चौकी पाढर थाना कोतवाली बैतूल में सूचना मिली थी कि बैतूल के रहने वाले राजेश सोनी जो कि सोसाइटी में सेल्समैन है, जिनका फॉर्म हाउस साथ इमली में हनुमान मंदिर के पास है उस फॉर्म हाउस पर 3-4 महीने से अन्ना नाम का एक आदमी काम कर रहा था। वह विगत पिछले 20-25 दिनों से दिखाई नहीं दे रहा था जिसके बाद पाढर चौकी में अन्ना की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई। जिस पर चौकी प्रभारी कपिल सौराष्ट्रीय ने अन्ना की जांच शुरू कर दी जांच के दौरान पुलिस को कुछ ऐसे तथ्य मिले जिसमें अन्ना को मौत के घाट उतारना तथा किसी को पता ना चले इस कारण उसके शव को साथ इमली के हनुमान मंदिर के पास दफनाना सामने आया।

यह मामला बहुत ही जघन्य एवं गंभीर प्रकृति का होने से बैतूल पुलिस अधीक्षक कार्तिकेयन के. ने तत्काल ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राम स्नेही मिश्रा एवं एसडीओपी बैतूल आनंद राय को टीम बनाने हेतु निर्देशित किया। जिन के निर्देशन में थाना प्रभारी महेंद्र सिंह चौहान ने पाढर चौकी प्रभारी कपिल सौराष्ट्रीय के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की। जिनमें उपनिरीक्षक अशोक बघेल, सहायक उपनिरीक्षक वहीद खान, प्रधान आरक्षक जगदीश, आरक्षक विजय बडोले, संतोष मालवीय, चंद्रप्रकाश, राकेश करपे, लाल सिंह, आकाश सेठिया, महिला आरक्षक भारती, झमोला शामिल थे। जिस टीम के द्वारा सभी बिंदु पर जांच शुरू की गई तथा हनुमान मंदिर के पीछे जंगल में तलाश शुरू की गई जहां पर अन्ना की लाश को जमीन से निकलवाया गया। शव को निकालती क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

मृतक के द्वारा पहने कपड़ों के आधार पर मृतक की पहचान राजेन्द्र सोनी के यहां पर काम करने वाले अन्ना के रूप में हुई। पुलिस ने मौके पर मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया तथा डॉ पैनल के द्वारा पीएम करवाया गया। जिसमें मृतक की हत्या कर दफनाना सामने आया। राजेश सोनी के फार्महाउस पर काम करने वाले मजदूरों से पूछताछ करने पर राजेश सोनी की दूसरी पत्नी बुधियाबाई तथा वहां पर काम करने वाले पप्पू के द्वारा शराब के नशे में अन्ना की हत्या करना बताया गया तथा जब राजेश सोनी को बात पता चली तो उसने पप्पू और उसकी पत्नी बुधियाबाई के साथ मिलकर अन्ना के शव को मंदिर के पीछे गड्ढा खोदकर गाड़ दिया।

जिस पर थाना कोतवाली बैतूल तीनों आरोपियों के विरुद्ध हत्या करने तथा साक्ष्य छुपाने के कारण भारतीय दंड विधान की धारा 302, 201, 34 भादवि कायम कर उपनिरीक्षक कपिल सौराष्ट्रीय को विवेचना सौपी गई। पुलिस टीम ने संदेही राजेश सोनी, बुधियाबाईं, पप्पू को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की, जिसमें पहले तो आरोपी मना करने लगे लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपी ने बताया कि कुछ दिन पहले मृतक अन्ना एवं बुधियाबाई का झगड़ा हुआ था तो अन्ना ने बुधियाबाई को डंडे से मार दिया था, बुधियाबाई इस बात का बदला लेना चाहती थी।

जिसके बाद 15 सितंबर 2019 की शाम को पार्टी में बुधियाबाई तथा पप्पू ने शराब पीकर अन्ना के साथ डंडे से मारपीट की डंडे की मार से अन्ना की मौत हो गई। पुलिस के द्वारा 24 घंटे के अंदर ही तीनो आरोपीयो को गिरफ्तार किया गया, जिसमें बुधियाबाई पति राजेश सोनी उम्र 44 साल निवासी डुंडा बोरगांव थाना कोतवाली, राजेश पिता स्वर्गीय रूपलाल सोनी उम्र 45 साल निवासी मालवीय वार्ड खंजनपुर बैतूल, पप्पू पिता मोहरी गायकी उम्र 32 साल निवासी आमढाना रतनपुर थाना चिचोली को माननीय न्यायालय बैतूल पेश किया गया जहां पर आरोपियों का जेल वारंट तैयार कर जेल भेज दिया गया।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error:
WhatsApp chat