नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ उत्तरप्रदेश के गोरखपुर में नमाज के बाद हिंसक हुए लोग, पुलिस पर किया पथराव

Advertisements

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ उत्तरप्रदेश के गोरखपुर में नमाज के बाद हिंसक हुए लोग, पुलिस पर किया पथराव

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ उत्तर प्रदेश में गुरुवार को हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद आज फिर वही हालात पैदा होते नजर आ रहे हैं। आज दोपहर में जुम्मे की नमाज के बाद गोरखपुर और बहराइच में प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए हैं। दोनों ही शहरों में नमाज पढ़ने के बाद सड़कों पर उतरे प्रदर्शनकारी पुलिस पर पथराव करने लगे। हिंसक होते लोगों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। हालांकि, गोरखपुर में अधिकारियों का कहना है कि स्थिति फिलहाल काबू में है। वहीं दूसरी तरफ फिरोजाबाद में भी लोग सड़कों पर उतर आए और पथराव करने लगे।

इससे पहले गुरुवार को राज्य की राजधानी लखनऊ के अलावा संभल और अलीगढ़ में जिस तरह से प्रदर्शनकारियों ने हिंसा का रास्ता चुना और उसके बाद अब सरकार के साथ ही प्रशासन भी सतर्क है। एहतियातन गुरुवार से ही लखनऊ के अलावा गाजियाबाद व अन्य कईं जिलों में प्रशासन ने इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है और यह रोक शनिवार तक जारी रहेगी। वहीं दूसरी तरफ संभल में हुई भीषण हिंसा के बाद सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आज जुम्मे की नमाज के बाद किसी तरह की आशांति ना फैले इसके लिए पुलिस सतर्क है। संभल में हुई हिंसा के बाद पुलिस ने सपा नेता के अलावा 17 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

गुरुवार को लखनऊ, संभल, गाजियाबाद और अन्य जिलों में प्रदर्शन के नाम पर उपद्रवियों ने जमकर हिंसा की। लोगों ने 20 दोपहिया वाहनों, 10 कारों और 2 बसों के अलावा अन्य कईं जगहों को आग के हवाले कर दिया। इस हिंसा में सिर्फ लखनऊ में ही 16 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। संभल में हिंसा करने वाले 30 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं वहीं लखनऊ में 200 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जहां भी हिंसा हुई है वहां पर दोषियों को जेल भेजा जाए साथ ही जो नुकसान हुआ है वो हिंसा करने वालों की संपत्तियों को बेजकर भरा जाएगा।

इस बीच पुलिस ने लोगों से सोशल मीडिया में वायरल हो रहे फर्जी मैसेजेस से बचने के लिए लोगों से अपील की है।

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.