शैक्षणिक सत्र के मद्देनजर शिक्षकों के तबादलों पर प्रतिबंध, मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान डेढ़ सौ करोड़ रुपए करने का निर्णय

Advertisements

शैक्षणिक सत्र के मद्देनजर शिक्षकों के तबादलों पर प्रतिबंध, मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान डेढ़ सौ करोड़ रुपए करने का निर्णय

भोपाल। प्रदेश विधानसभा के समिति कक्ष में मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि- मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान डेढ़ सौ करोड़ रुपए करने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के तबादलों के मामले अब सीएम समन्वय में नहीं आएंगे, जिले के अंदर होने वाले तबादलों के लिए मंत्रियों को अधिकार दिया गया है। शैक्षणिक सत्र के मद्देनजर शिक्षकों के तबादलों पर प्रतिबंध रहेगा। जनसंपर्क मंत्री ने बताया कि कैबिनेट ने मुख्यमंत्री अधोसंरचना विकास योजना के चरण को मंजूरी दे दी है। इसके तहत नगरी निकाय अब लोन ले सकेंगे, सरकार अनुदान के तौर पर अपना हिस्सा देगी। इसके साथ ही शहरी विकास संस्थान का गठन होगा, जो निकायों के लोगों को प्रशिक्षण देने और उनके नियोजन पर काम करेगा। इसके लिए एक बोर्ड भी बनाया जाएगा, जिसमें पहली बार नियुक्ति सरकार करेगी। भिंड गोली चालन की रिपोर्ट पर यह निर्णय लिया गया कि इसके परीक्षण के लिए एक मंत्रिमंडलीय समिति बनाई जाएगी।

मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि राजस्व परिपत्र पुस्तिका में संशोधन करके पान की खेती करने वाले किसानों को 25 से 33 फीसदी फसल का नुकसान होने पर अब आर्थिक सहायता 30000 रुपए प्रति हैक्टेयर दी जाएगी। 33 प्रतिशत से अधिक नुकसान होने पर 40000 रुपए प्रति हेक्टेयर की आर्थिक सहायता मिलेगी। शहरी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं के उन्नयन के लिए 3600 रुपए की कार्य योजना को मंजूरी दी गई है। डोलोमाइट लाइमस्टोन सहित अन्य गौण खनिजों की रॉयल्टी में 50 प्रतिशत के करीब वृद्धि की गई है। नगर निकाय 400 करोड़ रुपए के ऋण प्राप्त कर सकेंगे। नगरीय निकायों के लिए सरकार 136 करोड़ रुपए का अनुदान देगी। सड़क विकास निगम एवं लोक निर्माण विभाग की 16 सड़क के ओएमटी मॉडल पर दी जाएंगी। इन सड़कों से कमर्शियल व्हीकल से टोल वसूला जाएगा।

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.