अफगान राष्ट्रपति ने पाकिस्तानी PM का फोन नहीं उठाया, मोदी से की खूब बात

Advertisements

NEWS IN HINDI

अफगान राष्ट्रपति ने पाकिस्तानी PM का फोन नहीं उठाया, मोदी से की खूब बात

नई दिल्ली। काबुल आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान को एक बार फिर से उस समय शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा, जब अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी से टेलीफोन पर बातचीत करने से इनकार कर दिया। दिलचस्प बात यह है कि इस दौरान अशरफ गनी ने पीएम मोदी से फोन पर बातचीत की। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी दी।

अब्बासी ने गनी को काबुल में हुए आतंकी हमले के संबंध में अपनी संवेदना जताने के लिए फोन किया था, लेकिन गनी ने बात करने से इनकार कर दिया। इससे पहले अशरफ गनी ने काबुल में हुए हालिया हमलों से जुड़े सबूत को पाकिस्तानी सेना के साथ साझा करने के लिए अपना एक प्रतिनिधिमंडल इस्लामाबाद भेजा था। पाकिस्तान लंबे समय से अफगानिस्तान पर हमलों करने वाले आतंकी संगठनों को समर्थन देता आ रहा है। मालूम हो कि पिछले साल अगस्त में अपनी नई दक्षिण एशिया नीति में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान के नाकाम रहने की स्थिति में उसके खिलाफ सख्त कदम उठाए जाने का आह्वान किया था। ट्रंप ने इस साल अपने प्रथम ट्वीट में पाकिस्तान पर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में दोहरे मानदंड का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था।

अफगानिस्तान के गृहमंत्री वी। अहमद बरमाक और खुफिया एजेंसी नेशनल डायरेक्टरेट ऑफ सेक्युरिटी के प्रमुख मासूम स्तानकजई की सदस्यता वाला एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल सीमा के आर-पार होने वाले आतंकवाद से निपटने में संभावित सहयोग पर चर्चा करने के लिए इस्लामाबाद पहुंचे हैं। हालांकि दोनों देश एक दूसरे पर एक-दूसरे की सरजमीं का आतंकवादी गतिवधियों के लिए इस्तेमाल किए जाने का हमेशा से ही आरोप लगाते रहते हैं। हाल ही में काबुल में हुए सिलसिलेवार हमलों के बाद अफगानिस्तान प्रतिनिधिमंडल की यह यात्रा हो रही है। इन हमलों में करीब 100 लोग मारे गए थे। इसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन तालिबान और आईएस ने ली थी। इसके अलावा हाल ही में काबुल स्थित इंटर-कॉन्टिनेंटल होटल पर हुए तालिबानी हमले को लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई थी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान से कहा था कि वह तालिबान के आतंकियों को फौरन अपने यहां से निष्कासित करे।

 

NEWS IN ENGLISH

Afghan President did not call the PM, the talk of Modi

new Delhi. Kabul terrorism hideout Pakistan once again faced embarrassment when the Afghan President Ashraf Ghani refused to talk to Pakistan’s Prime Minister Shahid Khakon Abbasi on telephone. Interestingly, during this time Ashraf Gani talked to PM Modi on phone. The President of Afghanistan tweeted this information himself.

Abbasi called Ghani for his condolences on the terrorist attack in Kabul, but Ghani refused to talk. Earlier, Ashraf Ghani sent a delegation to Islamabad to share the evidence related to the recent attacks in Kabul with the Pakistani army. Pakistan has long been supporting terrorist organizations that have attacked Afghanistan. It is known that in his new South Asia policy in August last year, President Donald Trump called for stern action against him in the event of Pakistan failing in a war against terrorism. Trump had accused Pakistan of using double standards in the fight against terrorism in its first tweet this year.

Afghanistan’s Home Minister V. A high-level delegation comprising Ahmed Barmak and National Intelligence Directorate of the National Directorate of Security, Maasum Stankajai, has reached Islamabad to discuss possible cooperation in dealing with terrorism across the border. Although the two countries continue to accuse each other of using each other’s terrorism for terrorist activities. This visit of Afghan delegation is being done after the recent attacks in Kabul. About 100 people were killed in these attacks. The responsibility was taken by the terrorist organization Taliban and the IS. Apart from this, the US had strongly condemned Pakistan over the recent Taliban assault on the Inter-Continental Hotel in Kabul. US President Donald Trump had told Pakistan that he expelled the Taliban terrorists from their homes immediately.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.