होली पर अखिलेश यादव ने पैर छूकर लिया शिवपाल सिंह यादव का आशीर्वाद

Advertisements

NEWS IN HINDI

होली पर अखिलेश यादव ने पैर छूकर लिया शिवपाल सिंह यादव का आशीर्वाद

इटावा । समाजवादी पार्टी के सबसे बड़े परिवार की होली जिले के सैफई में काफी विख्यात है। इस बार तो होली बेहद ही रंगीन तथा निराली हो गई। सैफई में होली के एक मंच पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव तथा वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव एक साथ दिखे। इतना ही नहीं अखिलेश यादव ने पैर छूकर अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव का आशीर्वाद भी लिया।

इटावा के सैफई में कल समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव का परिवार होली खेलने एक मंच पर दिखाई दिया। मंच पर अखिलेश यादव के साथ शिवपाल यादव को देखने के बाद तो वहां पर लोगों का उत्साह दोगुना हो गया। वहां पर बड़ी संख्या में एकत्र कार्यकर्ताओं ने एक स्वर में अखिलेश- शिवपाल यादव जिंदाबाद के नारे भी लगाए। मंच पर लगे पोस्टर में केवल अखिलेश और मुलायम की फोटो थी शिवपाल की नहीं। उसके बाद अखिलेश ने बैनर हटावा दिया। इस मौके पर सपा समर्थकों की होली की खुशी और दोगुनी हो गई जब शिवपाल सिंह यादव भी होली खेलने अपने बेटे आदित्य यादव के साथ मंच पर पहुंचे।

वहां मंच पर पहुंते ही अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। समाजवादी पार्टी में चल रही घरेलू कलह के बीच यह पहला मौका था जब पूरा परिवार एक साथ इकट्ठा हुआ। चाचा-भतीजे ने एक साथ मंच साझा किया। पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने सैफई वालों के फूलों की होली खेली। इस मौके पर एक मंच पर साथ बैठकर सभी ने एक-दूसरे को होली की शुभकामनाएं दी।

सैफई में एक जमाने में कुर्ता फाड़ होली खेली जाती थी। बाद में मुलायम सिंह यादव ने कुर्ता फाड़ होली के स्थान पर फूलों की होली की नई परंपरा की शुरूआत की। सैफई में मुलायम सिंह यादव के परिवार के साथ गांव एवं आसपास के लोग बड़ी तादाद में फूलों की होली खेलने जाते हैं। होली का फाग गायन भी होता हैं। फाग गायक फाग गाते हैं और मुलायम सिंह यादव उन्हें इनाम देते हैं। सैफई में होली मिलन की तैयारियां की गई। मुलायम सिंह यादव एवं अखिलेश यादव के आवास के बाहर होली खेलने एवं लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई।

समाजवादी पार्टी में चल रही घरेलू कलह के बीच यह पहला मौका था। जब होली खेलने परिवार एक साथ सैफई में इकट्ठा हुआ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक एवं पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की तबियत खराब होने के कारण लखनऊ चले गए। इस मौके पर मंच पर पहुंते ही अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव के पैर छूकर आशीर्वाद लिया।

होली कार्यक्रम में शामिल होने राष्ट्रीय महासचिव डॉ. रामगोपाल यादव के मौजूद नहीं थे। पोस्टर व बैनर में डॉ रामगोपाल यादव की फोटो न होने पर कायकर्ताओं ने कहा कि यह तो अभी शुरुआत है। अखिलेश यादव ने राम गोपाल की गैर मौजूदगी में कोई सफाई नहीं दी। चाचा शिवपाल के अपने साथ होने पर कहा कि हमें बड़ों का सम्मान करना चाहिए।

शिवपाल व अखिलेश का झगड़ा चंद घंटों का मेहमान
समाजवादी पार्टी से अध्यक्षी जाने के बाद अखिलेश यादव से नाराज चल रहे मुलायम सिंह यादव ने फिर इस बात को स्वीकार किया कि शिवपाल और अखिलेश का झगड़ा अब सिर्फ एक घंटे का रह गया है। जिस दिन हम तीनों बैठ जाएंगे, उस दिन झगड़ा खत्म हो जाएगा। सभी लोग पार्टी मजबूत करने को निकल पड़ेंगे। शिवपाल के कांग्रेस में जाने की चर्चाएं बेबुनियाद हैं। उन्होंने सैफई से लखनऊ रवाना होने से पहले कहा कि 2019 में सपा अकेले दम पर चुनाव लड़ेगी।

उन्होंने माना कि गठबंधन से पार्टी को नुकसान हुआ है। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि अब वह समाजवादी पार्टी को काफी मजबूती प्रदान करने के लिए निकले हैं। उन्होंने कहा कि आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में किसी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे। वह खुद की दम पर चुनाव लड़ेगे। उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश में काबिज भाजपा सरकार ने जनता को छलने का काम किया है। बढ़ रही मंहगाई के चलते व्यापारी से लेकर आम आदमी कराह रहा है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों से अभी लोकसभा तैयारियों में जुट जाएं और पार्टी को मजबूत करने का काम करें।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Akhilesh Yadav on Holi touches the feet of Shivpal Singh Yadav’s blessings

Etawah Samajwadi Party’s largest family is very famous in Saifai in the Holy District of the district. This time Holi became very colorful and variegated. Samajwadi Party President Akhilesh Yadav and senior leader Shivpal Yadav are seen together on a stage of Holi in Saifai. Not only that, Akhilesh Yadav also touched the feet and blessed the blessings of his uncle Shivpal Singh Yadav.

In Saifei of Etawah yesterday, the family of Mulayam Singh Yadav, the Samajwadi Party’s patron, appeared on a platform playing Holi. After seeing Shivpal Yadav with Akhilesh Yadav on the stage, the enthusiasm of the people doubled there. There a large number of workers gathered in the slogan of Akhilesh – Shivpal Yadav Zindabad. The poster on the stage only had photos of Akhilesh and Mulayam, not Shivpal. After that Akhilesh removed the banner. On this occasion, the happiness of the SP supporter was doubled when Shivpal Singh Yadav also reached the stage with his son Aditya Yadav playing Holi.

While reaching there, Akhilesh took blessings from the feet of uncle Shivpal Yadav. This was the first time between the domestic discord in the Samajwadi Party when the whole family got together. Uncle-nephew shared the platform together. Party President Akhilesh Yadav played the Holi of the flowers of his Saifai people. On one occasion, all of them greeted each other on a platform with a good luck.

Holi was played in saifai during a time of kurta tadar. Mulayam Singh Yadav later started the new tradition of Holi with flowers instead of Kurta Dard Holi. With the family of Mulayam Singh Yadav in Saifee, the people of the village and the surrounding people go to play Holi of flowers. Holi fag singing also happens. Fag singer Phag sings and Mulayam Singh Yadav reward him. Holi preparations were made in Saifai. Arrangements were made to play Holi outside the residence of Mulayam Singh Yadav and Akhilesh Yadav and to sit for the people.

This was the first time among the domestic discord in the Samajwadi Party. When the Holi playing family gathered together in Saifai. Samajwadi Party’s patron and former Chief Minister Mulayam Singh Yadav went to Lucknow due to poor health. On reaching the stage on this occasion, Akhilesh Yadav blessed the touch of his uncle Shivpal Yadav.

National General Secretary Dr. Ram Gopal Yadav was not present at the Holi program. Without posting of Dr. Ramgopal Yadav in poster and banner, the workers said that this is just the beginning. Akhilesh Yadav did not clear any of the absence of Ram Gopal. On being with uncle Shivpal, he said that we should respect elders.

Fight of Shivpal and Akhilesh for a few hours
After being presided over by the Samajwadi Party, Mulayam Singh Yadav, resentful to Akhilesh Yadav, again acknowledged that the fight between Shivpal and Akhilesh has now remained for just an hour. The day the three of us sit, the fight will end. Everyone will get out to strengthen the party. The discussions about Shivpal going to the Congress are baseless. Before leaving for Saifai from Lucknow, he said that in 2019, SP will contest the elections alone.

They believed that the party was harmed by the coalition. Mulayam Singh Yadav said that now he has come out to give strong support to the Samajwadi Party. He said that he will not co-align with anyone in the upcoming 2019 Lok Sabha elections. He will contest the elections on his own. He said that the BJP government, occupying the center and the state, has worked to deceive the public. Due to rising inflation, the common man from the trader is groaning. He will join party workers and office bearers now in the Lok Sabha preparations and work to consolidate the party.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.