पद्मावत का चौतरफा विरोध : रैली निकाली, प्रदर्शन किया, नोएडा में तीन किमी जाम

Advertisements

NEWS IN HINDI

पद्मावत का चौतरफा विरोध : रैली निकाली, प्रदर्शन किया, नोएडा में तीन किमी जाम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जिले जिले पद्मावती से अब पद्मावत नाम वाली फिल्म के रिलीज पर रोक लगाने की मांग को लेकर आंदोलन हो रहा है। इसके तहत जुलूस, तोड़फोच, आगजनी, पुतला दहन, ज्ञापन और जौहर जैसे प्रदर्शन के तरीके अपनाए जा रहे हैं। इसी क्रम में आज कल्कि नगरी संभल में सक्रिय एक संगठन खून से खत लिखकर इसे रोकने की गुहार राष्ट्र प्रमुख तक पहुंचाई है। लखीमपुर, संभल, फैजबाद और यूपी की राजधानी लखनऊ समेत ज्यादातर जिलों में क्षत्रिय और राजपूत समाज के संगठनों ने प्रर्दशन किया। कुछ जिलों में पद्मावत रिलीज रोकने के लिए सोमवार को बंद का आह्वान किया गया है। पद्मावत के विरोध में तोडफ़ोड़ और आगजनी भी की गई। कुछ स्थानों पर फिल्म विरोध के उपद्रवियों में भाजपा समर्थक भी शामिल नजर आए।

पद्मावत फिल्म को लेकर क्षत्रिय समाज का आक्रोश कम होने का नाम नहीं ले रहा है। ग्र्रेटर नोएडा में जहां करणी सेना व कई अन्य राजपूत संगठनों के युवकों ने रविवार सुबह से लेकर शाम तक जमकर उत्पात मचाया, मॉल व रोडवेज बस में तोडफ़ोड़ की, एक्सप्रेस वे जाम कर दिया, वहीं नोएडा में डीएनडी टोल बूथ पर जमकर हंगामा व तोडफ़ोड़ की। प्लास्टिक के एक बैरियर में आग कुछ वाहनों में तोडफ़ोड़ की गई। वहां मौजूद कुछ लोगों से मारपीट भी हुई है। इसके अलावा अलीगढ़ में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने एलान किया है कि 25 जनवरी को रिलीज होने जा रही फिल्म पद्मावत नहीं चलने देंगे। इसका विरोध हथियारों से किया जाएगा। इसी तरह संभल में क्षत्रिय समाज ने प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और प्रदेश के मुख्यमंत्री को खून से पत्र लिखा है।

तीन किलोमीटर लंबा जाम
नोएडा में पद्मावत फिल्म के विरोध में सैकड़ों युवकों ने रविवार दोपहर डीएनडी टोल बूथ पर जमकर हंगामा, तोडफ़ोड़ व आगजनी की। इस कारण डीएनडी पर दिल्ली और नोएडा की तरफ करीब तीन किलोमीटर लंबा जाम लग गया। इस जाम में भाजपा के वरिष्ठ नेता व सांसद लालकृष्ण आडवाणी का काफिला भी फंस गया। बाद में पुलिस ने एक दर्जन उपद्रवी युवकों को हिरासत में लिया है। इसी तरह ग्र्रेटर नोएडा में करणी सेना व कई अन्य राजपूत संगठनों के युवकों ने जमकर उत्पात मचाया। प्रदर्शनकारियों ने ग्रांड वेनिस मॉल के बाहर एसओ रबूपुरा राजवीर ङ्क्षसह चौहान को गोद में उठा लिया और नारे लगाए। युवकों ने बीटा दो सेक्टर में स्थित मॉल में और रोडवेज बस में तोडफ़ोड़ की।

अलीगढ़ में हथियारों के प्रयोग की धमकी
अलीगढ़ में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने बैठक कर एलान किया है कि अलीगढ़ में फिल्म नहीं चलने देंगे। इसका विरोध हथियारों से किया जाएगा। बैठक में संगठन के प्रदेश महासचिव कमल प्रताप, प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश चौहान, प्रदेश संगठन मंत्री डीपी सिंह आदि मौजूद थे। सम्भल में क्षत्रिय समाज ने फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध की मांग करते हुए प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और प्रदेश के मुख्यमंत्री को खून से पत्र लिखा है। फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की है।

पद्मावत फिल्म पर कमेंट को लेकर मारपीट, तनाव
शामली में पद्मावत फिल्म के विरोध में फेसबुक पर राजपूत समाज की पोस्ट पर जय भीम लिखने को लेकर शनिवार रात हरड़ फतेहपुर गांव में विवाद हो गया। दलित समाज के एक युवक के साथ मारपीट की गई। इससे गांव में तनाव पसर गया। पद्मावत फिल्म के विरोध में गांव के युवक सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे थे। इस पर दलित समाज के एक युवक ने कमेंट में जय भीम लिख दिया। रात कुछ देर बाद लगभग नौ बजे गांव के ही दो युवक आरोपी युवक के घर पहुंच गए। दोनों युवकों ने उसे घर से बाहर बुलाकर मारपीट की। उसकी दादी के साथ भी धक्का-मुक्की की गई। दोनों पक्षों के लोग घरों से निकल आए। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत कराया। गांव हरड़ फतेहपुर निवासी नितिन पुत्र पाल्लाराम ने थाने में तहरीर दी थी। इसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया।

 

NEWS IN English

All-round protests in Padmavat: rally rally, demonstrated, three km Jam in Noida

Lucknow. There is a movement against the demand for a ban on the release of Padmavat in the district district of Padmavati now in Uttar Pradesh. Under this, methods of display like procession, fragrance, arson, effigy of combustion, memorandum and jawahar are being adopted. In this order, today, an organization active in Kalki Nagar Sambhal has written a letter written by blood to the chief of the nation. Kshatriya and Rajput community organizations in most districts including Lakhimpur, Sambhal, Faizabad and UP’s capital Lucknow have performed. In some districts, the bandh call has been called on Monday to stop the Padmavat release. There was also a tumult and arson against Padmavat. In some places, anti-BJP protests have also included BJP supporters.

Padmavat is not taking the name of the Kshatriya society to reduce the resentment of the film. In Greater Noida, where the Karaani army and several other Rajput organizations organized the fury from Sunday morning to evening, broke the expressway into the mall and roadways bus, while the expressway was blocked at DND toll booth in Noida. . In a plastic barrier a fire broke out in some vehicles. Some people present there have been assaulted. Apart from this, the All India Kshatriya Mahasabha in Aligarh has announced that the film going to be released on January 25 will not be allowed to be done in Padmavat. It will be opposed by weapons. Similarly, in Sambhal, Kshatriya Samiti wrote a letter to the Prime Minister, the President and the Chief Minister of the state.

Three kilometer long jam
In Noida hundreds of youths protested against the Padmavat film, on Sunday afternoon, on the DND toll booth, fiercely, commotion, and arson. For this reason, the DND was about three kilometer long jammed towards Delhi and Noida. A senior BJP leader and MP LK Advani’s convoy was also trapped in this jam. Later the police has detained a dozen rowdy youths. Similarly, in Greater Noida the youth of Karani army and several other Rajput organizations organized a massacre. Protestors lifted SO Rabupura Rajveer Singh Chauhan from outside the Grand Venice Mall and raised slogans. The youth broke into the mall in Beta-2 sector and on the roadways bus.

Threats to use weapons in Aligarh
In Aligarh, All India Kshatriya Mahasabha held a meeting and announced that the film will not run in Aligarh. It will be opposed by weapons. In the meeting, the state general secretary Kamal Pratap, state vice president Rajesh Chauhan, state organization minister DP Singh were present. In Sambhal, the Kshatriya Samiti has written a letter to the Prime Minister, the President and the Chief Minister of the state, asking for a ban on the release of the film. Also demanded action against film producer Sanjay Leela Bhansali.

Comments on Padmavat film, Strike, Stress
In Shamli, in protest against the Padmavat film, on the post of Rajput society on Facebook, there was a dispute in the village of Fatehpur village on Saturday night to write Jai Bhima. A young man of the dalit society was assaulted. This caused tension in the village. The youth of the village were protesting against the film Padmavat on social media. On this, a young man from a dalit society wrote Jai Bhima in the comment. After some time, at around nine o’clock in the night, two youths of the village reached the accused’s house. Both the youth called him out of the house and beat him. His grandmother was also beckoned with. People from both sides came out of the house The police reached the spot and calm the matter by explaining both the sides. Nitin son of village Harad Fatehpur, Palam, gave Tahar in the police station. After this the police took the two accused into custody.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.