इलाहाबाद : 31 जनवरी को होगा चंद्र ग्रहण, देश देखेगा ‘सुपर मून’

Advertisements

NEWS IN HINDI

इलाहाबाद : 31 जनवरी को होगा चंद्र ग्रहण, देश देखेगा ‘सुपर मून’

इलाहाबाद। 31 जनवरी को साल का पहला चंद्र ग्रहण है और इसके कारण रोज दिखने वाला चंद्रमा अधिक बड़ा व चमकदार दिखाई देगा। प्रकृति का यह अद्भुत नजारा देश के किसी भी कोने से आसानी से देखा जा सकेगा। इसे वैज्ञानिक दृष्टिकोण से “सुपर मून” कहा जाता है। यह हर किसी के लिए देखने लायक होगा। यह इस साल का पहला चंद्रग्रहण होगा। पृथ्वी सूर्य के चारों ओर व चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर दीर्घवृत्ताकार कक्षा में घूमते हैं। एक समय आता है जब यह तीनों एक लाइन में आ जाते हैं। ऐसे में इन दिनों पृथ्वी सूर्य के निकट है और चंद्रमा पृथ्वी के निकट। 31 जनवरी को चंद्रमा 14 प्रतिशत बड़ा व 30 प्रतिशत अधिक चमकदार दिखेगा। प्रकृति की यह खगोलीय घटना कोरी आंखों से भी देख सकते हैं। इससे आंखों को किसी भी तरह से नुकसान नहीं होगा। आनंद भवन, इलाहाबाद में स्थित तारामंडल में इसे दूरबीन के जरिये दिखाए जाने की व्यवस्था भी की गई है।

पृथ्वी की छाया से ढका रहेगा चंद्रमा
यह पूर्ण चंद्रग्रहण शाम पांच बजकर 18 मिनट से आरंभ होकर रात आठ बजकर 42 मिनट पर समाप्त होगा। चंद्रमा शाम छह बजकर 21 मिनट से रात सात बजकर 38 मिनट तक पूरी तरह से पृथ्वी की छाया से ढका रहेगा। इलाहाबाद में चंद्रमा शाम पांच बजकर 40 मिनट पर पूर्ण ग्रहण की अवस्था में उदय होगा जो कि लाल रंग का दिखायी देगा।

क्या है चंद्रग्रहण
चंद्रग्रहण वह खगोलीय घटना है जिसमें सूर्य व चंद्रमा के बीच में हमारी पृथ्वी भी आ जाती है। इसलिए पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है। जब हम लोग पृथ्वी से चंद्रमा को देखते हैं तो वह भाग हमें काला दिखायी देता है, इसलिए इसे चंद्रग्रहण कहते हैं।
“31 जनवरी को चंद्रमा अधिक बड़ा व चमकदार होगा। अंधविश्वास से ऊपर उठकर इसे हर किसी को देखकर इसके बारे में जानकारी हासिल करनी चाहिए।” सुरूर फातिमा, एजुकेटर, जवाहर तारामंडल, इलाहाबाद

 

NEWS IN English

Allahabad: On January 31 will be the moon eclipse, the country will see ‘Super Moon’

Allahabad. On January 31, the first lunar eclipse of the year is eclipse and due to this, the daily visible moon will look bigger and more bright. This amazing sight of nature will be easily seen from any corner of the country. This is called “super moon” from a scientific perspective. It would be worth watching for everyone. This will be the first lunar eclipse of this year. Earth revolves around the Sun and in the elliptical orbit around the Earth. There comes a time when these three come in one line. In these days, the earth is near the sun and the Moon near the Earth. On January 31 the moon will look 14 percent larger and 30 percent more luminous. This astronomical phenomenon of nature can also be seen from the eyes. This will not damage the eyes in any way. Arrangements have also been made to show it through binoculars in the constellations located in Anand Bhawan, Allahabad.

The moon will be covered with the shadow of the earth
This complete lunar eclipse begins at 5.00 pm and ends at 8:20 pm. The moon will be covered with the shadow of the earth from 6 am to 21 minutes, from 7:00 to 38 minutes in the evening. In Allahabad, the moon will emerge in the state of full eclipse at 5 o’clock 40 minutes, which will show the red color.

What is lunar eclipse
Lunar eclipse is a celestial phenomenon in which our earth also comes between the Sun and the Moon. So the shadow of the earth falls on the moon. When we see the moon from the earth, then that part shows us black, hence it is called lunar eclipse.
“On the 31st of January, the moon will be bigger and more brighter. It should be seen by seeing everybody from superstition and getting information about it.” Suroor Fatima, Educator, Jawahar Planetarium, Allahabad

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.