ट्रंप ने खोला राज़- भारत व चीन के कारण अमेरिका अलग हुआ पेरिस समझौते से

Advertisements

NEWS IN HINDI

 ट्रंप ने खोला राज़- भारत व चीन के कारण अमेरिका अलग हुआ पेरिस समझौते से
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल पेरिस जलवायु समझौते से खुद को अलग करने के फैसले के लिए फिर भारत और चीन को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि यह समझौता अनुचित था क्योंकि इसमें अमेरिका पर सख्त वित्तीय व आर्थिक बोझ लादा गया है, जो वॉशिंगटन को इस समझौते से सबसे ज्यादा लाभान्वित होने वाले देशों को चुकाना है. उन्होंने भारत और चीन को निशाना बनाया और कहा कि इन दोनों देशों को पेरिस समझौते से सबसे ज्यादा फायदा हुआ, जबकि अमेरिका के लिए यह संधि ठीक नहीं थी.

ट्रंप ने जून में इस ऐतिहासिक समझौते से खुद को अलग करने की घोषणा की थी. उन्होंने कहा कि पेरिस समझौते से उनके देश को हजारों अरब डॉलर की कीमत चुकानी पड़ती, जिससे नौकरियां जातीं, तेल, गैस कोयला और विनिर्माण उद्योग प्रभावित होते. हालांकि उन्होंने कहा कि वह अमेरिका के हित में बेहतर समझौता करने को तैयार हैं, अथवा शर्तो में सुधार करने पर संधि में फिर से शामिल हो सकते हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने शुक्रवार को कंज़रवेटिव पॉलिटिकल एक्शन कान्फ्रेंस में कहा, “हम पेरिस संधि से बाहर हो गए, जो एक आफत साबित होती.”

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करकेhttps://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Trump Opens Opposition – America, Separated from the Paris Agreement

US President Donald Trump has blamed India and China for the decision to separate itself from the Paris Climate Agreement last year. He said that this agreement was inappropriate because in the United States, strict fiscal and financial burden has been imposed, which Washington has to pay to the countries most benefited from this agreement. They targeted India and China and said that these two countries benefited the most from the Paris accord, while the treaty was not well for the United States.

Trump had announced to separate himself from this historic agreement in June. He said that the Paris Agreement required the country to pay the price of thousands of billion dollars, which resulted in jobs, oil, gas, coal and manufacturing industries. However, he said that he is ready to make a better deal in America’s interest, or to rectify the conditions, he may be able to rejoin the deal again. The US president said on Friday at the Conservative Political Action Conference, “We were out of the Treaty of Paris, which proved to be an offense.”

 

Advertisements
Advertisements

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.