धूमधाम से होली मनाने के अरमान, भारी पड़ेगा अफसरों का फरमान!

Advertisements

NEWS IN HINDI

धूमधाम से होली मनाने के अरमान, भारी पड़ेगा अफसरों का फरमान!

अंबाला : प्रदेशभर के अन्य सरकारी विभागों के कर्मचारी जब फरवरी माह का वेतन लेकर धूमधाम से होली के रंगों में सरोबार होंगे तो प्रदेश के जनसंपर्क एवं जिला सूचना अधिकारी कार्यालयों के कर्मचारी अपने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के ‘फरमान’ को कोस रहे होंगे। विभाग के आला अधिकारियों का जिला स्तर के अधिकारियों को 28 फरवरी को पंचकूला में बैठक में बुलाना सैंकड़ों कर्मचारियों को होली पर वेतन नहीं मिलने का कारण बन जाएगा। हालांकि यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भी हो सकती थी लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

विभागों के मुखियाओं को जिला स्तर के अधिकारियों की मीटिंग लेने के कारण प्रदेश सरकार की ओर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई हुई है। इस सुविधा पर सरकार ने करोड़ों रुपए की राशि खर्च की हुई है। अधिकांश विभाग प्रमुख जिला स्तर पर अधिकारियों की बैठक लेने के लिए वी.सी. का इस्तेमाल करते हैं लेकिन कुछ विभागों के वरिष्ठ अधिकारी बैठक के लिए जिला स्तर के अधिकारियों को चंडीगढ़ या पंचकूला बुलाते हैं। इससे न सिर्फ अधिकारियों के समय की बर्बादी होती है बल्कि गाड़ियों के फ्यूल पर भारी-भरकम खर्च हो जाता है। साथ ही मीटिंग में आने वाले जिला स्तर के अधिकारियों और कर्मचारियों के रहने और खाने की व्यवस्था पर मोटा पैसा खर्च होता है। जो काम वी.सी. के जरिए आसानी से हो सकता है, उसे फिजीकल प्रैजैंट से अंजाम दिया जाता है।

जनसंपर्क एवं सूचना विभाग के आला अधिकारियों ने विभाग के जिला स्तर के अधिकारियों की बैठक 27 फरवरी को पंचकूला बुलाई थी। इस बैठक की तिथि बदलकर अब 28 फरवरी कर दी गई है। बैठक में वेतन जारी करने वाले डी.डी.ओ. भी शामिल होने हैं। दूर-दराज के जिलों से जो डी.डी.ओ. पंचकूला बैठक में भाग लेने जाएंगे वे अगले दिन भी कार्यालय नहीं पहुंच पाएंगे। चूंकि 28 फरवरी वेतन जारी करने का दिन है। इसलिए इस दिन कर्मचारियों के वेतन बिलों पर साइन ही नहीं हो पाएंगे। ट्रैजरी ओर ई.पी.एफ. बिलों पर साइन हुए बिना कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल सकता। ऐसे में कर्मचारियों के लिए बिना वेतन के यह होली फीकी ही साबित हो सकती है। कई कर्मचारी अभी से बात को लेकर चिंतित हैं कि उन्हें होली पर्व पर वेतन मिल पाएगा या नहीं।

चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए ज्यादा मुश्किल
आम कर्मचारियों को अगर समय पर वेतन नहीं मिले तो ज्यादा वेतन होने के कारण उन्हें कोई खास फर्क नहीं पड़ता। कम वेतन होने के कारण चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए पूरा महीना निकालना मुश्किल बना रहता है। खासकर त्यौहार के समय ऐसे कर्मचारियों को वेतन की सख्त जरूरत होती है। इस बार दूर-दराज वाले जिलों में कई ऐसे कर्मचारियों को समय पर वेतन मिलने की संभावनाओं पर एक अधिकारी के निर्णय ने पानी फेरने का काम कर दिया है।

होली के बाद भी करना होगा इंतजार
28 फरवरी को पंचकूला मीटिंग में जाने वाले डी.डी.ओज के लिए 1 मार्च को कार्यालय में पहुंचना आसान नहीं होगा। 2 मार्च को होली का अवकाश रहेगा। 3 मार्च को शनिवार होने के कारण सरकारी अवकाश रहेगा। 4 मार्च को रविवार होगा। 5 मार्च को जब डी.डी.ओज अपने कार्यालयों में पहुंचेंगे तो सैलरी सिस्टम डोंगल के माध्यम से हुआ मिलेगा। 2 दिन कर्मचारियों को डोंगल की व्यवस्था जानने में लग जाएंगे। ऐसे में कर्मचारियों को कुछ दिन और इंतजार करना पड़ सकता है। वहीं, मंत्री कविता जैन ने कहा कि मीटिंग कोई सारा दिन नहीं चलती। मीटिंग का और सैलरी को कोई संबंध नहीं है। मीटिंग के बाद अधिकारी वापस जाकर साइन कर देंगे।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Araman to celebrate Holi with pomp, it will be the fate of the officers!

Ambala: Employees of other government departments across the state, when the salary of the month of February is celebrated in the colors of the Holi, the employees of public relations and district information officer offices of the state will be cursing the senior officers of their department. Calling the senior officials of the department to the district level officials at a meeting in Panchkula on 28th February, hundreds of employees will get the reason for not getting salaries on Holi. Although this meeting could also be done through video conferencing but it was not done.

Video conferencing facility has been provided by the State Government for taking meeting of the district level officers to the heads of the departments. At this facility the government has spent the crores of rupees. Most of the departments are required to meet V.C. But some of the senior officials of the departments call the district level officials as Chandigarh or Panchkula for a meeting. This is not only a waste of time for the officers but also the heavy expenditure on the fuel of the trains. At the same time, there is a huge amount of money spent on living and eating arrangements of district level officers and employees coming to the meeting. The work that V.C. It can be easily done through a physical presentation.

Senior officials of the Public Relations and Information Department had convened a meeting of district level officers of the department on 27th February for Panchkula. The date of this meeting has been changed to 28 February. DDO issuing salary in the meeting Also have to join. DDOs from distant districts Panchkula will be attending the meeting and they will not be able to reach the office the next day. Since 28th February is the day of issue of salary. Hence, the salaries of employees will not be signed on this day. Treasury and E.P.F. Without signing the bills, the employees can not get salaries. In such a way, this holi can be proved only for employees without pay. Many employees are still worried about whether they will get salary on the Holi festival.

More difficult for the fourth grade employees
If the employees do not get salary on time, they do not make any difference due to the higher wages. Due to low pay, it is difficult to get a full month for the fourth class employees. Especially during the festival, such employees are in dire need of wages. This time, in the far-flung districts, an officer’s decision has made the job of watering on the possibility of getting the salary on time for many such employees.

Will wait after Holi
It will not be easy for DDOs to go to Panchkula meeting on February 28 to reach the office on 1st March. Holi will be on March 2 Government holiday will remain due on March 3 Sunday will be on 4th March. When D.D.O.J goes to its offices on March 5, the salary system will be done through Dongal. Two days employees will be able to know the arrangement of dongle. In this case, employees may have to wait a few more days. At the same time, Minister Kavita Jain said that the meeting does not last all day. There is no connection between meeting and salaries. Officers will go back and sign after the meeting.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.