फेल रहे हैं अरुण जेटली, मैं होता तो अब तक इस्तीफा दे चुका होता: पी चिदंबरम

Advertisements

NEWS IN HINDI

फेल रहे हैं अरुण जेटली, मैं होता तो अब तक इस्तीफा दे चुका होता: पी चिदंबरम

कोलकाता पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि अगर वह वित्त मंत्री अरुण जेटली की जगह पर होते तो अब तक इस्तीफा दे देते. भारत चैंबर ऑफ कामर्स की ओर से आयोजित चर्चा के दौरान चिदंबरम ने कहा, ‘अगर मैं जेटली की जगह पर होता तो मैं क्या करता? मैं इस्तीफा दे देता.’ वह आम बजट 2018-19 में राजकोषीय घाटे को कम करने के उपायों के मुद्दे पर बात कर रहे थे.

चिदंबरम ने कहा, ‘जेटली ने दूसरों द्वारा लिखे गए बजट भाषण को पढ़ने में निश्चित तौर पर मुश्किल स्थिति का सामना किया होगा.’ केंद्रीय बजट की आलोचना करते हुए चिदंबरम ने कहा कि सरकार राजकोषीय घाटे को कम करने में पूरी तरह विफल रही है. उन्होंने कहा कि इस बजट से आने वाले दिनों में महंगाई बढ़ेगी.

उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार को कच्चे तेल की कीमतों में कमी का फायदा मिल रहा है, लेकिन वह आम लोगों को यह फायदा नहीं दे रही है. चिदंबरम ने कहा कि सरकार ने बजट में अनुमान लगाया है कि 2018-19 में राजकोषीय घाटा जीडीपी का 3.3 फीसदी रहेगा. उन्होंने कहा कि राजस्व और व्यय की स्थिति संदिग्ध होने की वजह से यह लक्ष्य पाना भी मुश्किल होगा.

चिदंबरम ने कहा कि यह जीएसटी नहीं है, जीएसटी उनकी सरकार ला रही थी , जिसमें सभी चीजों पर 18 फीसदी टैक्स का प्रावधान था. उन्होंने कहा है कि मौजूदा प्रावधान जीएसटी को बदनाम कर रहे हैं. बता दें कि नोटबंदी, जीएसटी समेत तमाम आर्थिक मामलों पर चिदंबरम मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली पर हमलावर रुख अपनाते रहे हैं.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Arun Jaitley failing, I would have had to resign till now: P Chidambaram

Kolkata: Former Union Finance Minister P Chidambaram has said that if he was at the place of Finance Minister Arun Jaitley, he would have resigned so far. During the discussion organized by the India Chamber of Commerce, Chidambaram said, “If I were at Jaitley’s place then what would I do? I will resign. ‘ The General Budget was talking about the issue of measures to reduce fiscal deficit in 2018-19.

Chidambaram said, “Jaitley must have faced a difficult situation to read the budget speech written by others.” Criticizing the Union Budget, Chidambaram said that the government has completely failed to reduce the fiscal deficit. He said that this budget will increase inflation in coming days.

He said that the present government is benefitting from the reduction in crude oil prices, but it is not giving benefit to the common people. Chidambaram said that the government has estimated in the budget that fiscal deficit in 2018-19 will be 3.3 percent of GDP. He said that due to the state of revenue and expenditure being questionable, it would also be difficult to achieve this goal.

Chidambaram said that this is not GST, GST was bringing his government, in which there was a provision of 18 percent tax on all things. He has said that the existing provision is defaming GST. Let me tell you that Chidambaram has been taking an aggressive approach to current Finance Minister Arun Jaitley on all financial matters, including note-taking, GST.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.