बैतूल : अवैध कालोनिया बनाने वालों में हड़कम्प,2010 और 2011 में हुआ जुर्माने की फाइले गायब

Advertisements

NEWS IN HINDI

बैतूल : अवैध कालोनिया बनाने वालों में हड़कम्प,2010 और 2011 में हुआ जुर्माने की फाइले गायब

वामन पोटे
बैतूल। बैतूल शहर और आस पास के 15 किलोमीटर के गांवों में बन रही अवैध कालोनियों के कर्ताधर्ताओं ने जांच के आदेश होते ही कालोनियों में लगाया चूने के निशान पर झाड़ू लगाना शुरू कर दिया है। वही पत्थर के भी उखाड़ कर फेंक दिए हालांकि भूमाफिया को ऐसे करने की सलाह शहर के पटवारियों और राजस्व महकमे के आला अधिकारियों ने मुफ्त में  सलाह दी है। इधर एसडीएम कार्यालय से जुड़े सूत्रों ने बताया कि दायरा पंजी सहित पूरी  फाइल ही कार्यालय से गायब हो गई है। वही पूर्व एसडीएम ने बताया कि 2010 और 2011 में अवैध कालोनियों के निर्माण करने वाले 50 लोगो पर भारी जुर्माना कर वसूली के आदेश जारी किए थे। उन्होंने बताया कि इसमें अधिकत 5 करोड़ रुपये का जुर्माना भी एक अवैध कालोनी बनाने वाले पर किया था। और कई मामलों में आर आर सी भी जारी की थी। इसकी पूरी जानकारी बैतूल नगर पालिका को भी सूची भेजकर दी थी। और पटवारी,आरआई सहित नायब तहसीलदार को भी सूची दी गई थी। इधर इस मामले से जुड़े जानकारों ने बताया कि राजस्व महकमे ने भूमाफिया से मिलकर पूरा रिकार्ड ही गायब कर दिया है। इधर जिला कलेक्टर शशांक मिश्र ने मंगाई जानकारी के बाद राजस्व महकमे में हडकम्प मच गया है। और अब बीते तीन दिनों से पटवारी और आरआई सहित नायब तहसीलदार,तहसीलदार भी अब पूरे मामले में चौकने हो गए है। इधर जानकर बताते ही पूरे मामले को जिला कलेक्टर ने टाइम लिमिट की बैठक में रख लिया है। जिसमे 20 कालोनियों की पूरी जानकारी मंगाई गई है। इधर गौठना में नाला गायब कर मकान बनाने के मामले में भी अब अपर कलेक्टर और भूअभिलेख शाखा में हड़कंप मच गया है। सूत्रों ने बताया कि पूर्व अपर कलेक्टर पवन जैन ने उक्त मामले की फाइल पर कोई कार्यवाही ही नही की थी। अब मामला संज्ञान में आने के बाद सीमांकन की रिपोर्ट मंगाई जा रही है। इस मामले में मानस नगर के एक व्यक्ति ने शिकायत की थी।

 

NEWS IN English

Betul: Charges of illegal colonizers made in 2010, 2011, files of penalties disappeared

Vaman Pote
Betul Actors of illegal colonies formed in Betul city and nearby villages of around 15 kms have started brooming on lime marks planted in colonies as soon as they are ordered to investigate. Although the same stone was overthrown, although the landmasters advised to do this, top officials of the city’s patrols and revenue department have given free advice. According to sources attached to the SDM office, the entire file including the scanner register has disappeared from the office. The same former SDM told that in 2010 and 2011, the people who created illegal colonies had issued a huge fine on the people and ordered to recover them. He said that he had also imposed a fine of Rs 5 crore on an illegal colony maker. And in many cases RRC was also released. The full information of this was also sent by the list to the Betul Municipality. And Patwari, RI, were also given list to the nb tehsildar. Here, the experts associated with this case said that the revenue department has made a complete record with the landmass disappeared. Here, the information collected by the district collector Shashank Mishra has ripped through the revenue department. And now, for the last three days, including Tahwildars and Tehsildars, including Patwari and Rai, they have now become chaotic in the whole matter. After knowing this, the District Collector has kept the entire matter in the time limit meeting. In which 20 complete information of colonies has been floated. In this case, in the matter of making the house by disappearing of the drain in Gothana, there has also been a stir in the Upper Collector and Land records branch. Sources said that the former Additional Collector Pawan Jain did not take any action on the file of the said case. Now after the case comes to light, demarcation report is being floated. In this case a man from Manas Nagar complained.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.