बैतूल : अवैध कालोनियों के बेखौफ निर्माण के मामले में कमिश्नर ने अपनाया कड़ा रुख,राजस्वकर्मियों की टीम बनाकर 28 फरवरी को सीमांकन करने के आदेश जारी

Advertisements

NEWS IN HINDI

बैतूल : अवैध कालोनियों के बेखौफ निर्माण के मामले में कमिश्नर ने अपनाया कड़ा रुख,राजस्वकर्मियों की टीम बनाकर 28 फरवरी को सीमांकन करने के आदेश जारी

बैतूल। जिलेभर में अवैध कालोनियों के बेखौफ निर्माण का मामला जहां इन दिनों सुर्खियों में चल रहा है वहीं एक कालोनी बनाने के लिए सरकारी जमीन हड़पने का भी खुलासा हुआ है। सरकारी नाला गायब कर देने की शिकायत के बाद कमिश्नर ने जांच के आदेश किए हैं। इसके चलते एसएलआर द्वारा 9 राजस्वकर्मियों की टीम बनाकर 28 फरवरी को सीमांकन करने के आदेश जारी करने से हड़कंप मचा हुआ है। प्रशासनिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बैतूल शहर के गौठाना क्षेत्र में एक कालोनी का निर्माण करने के लिए सरकारी नाले की पूरी जमीन हड़प कर ली है। गौठाना के खसरा क्रमांक 176 में 0.446 हेक्टेयर शासकीय भूमि राजस्व रिकार्ड में दर्ज है। इस भूमि को कालोनी का निर्माण करने वालों ने हड़प कर लिया और अपने उपयोग में ले ली है। सरकारी जमीन को गायब कर देने के मामले की शिकायत साल 2016 में कमिश्नर से की गई थी। इसके बाद अपर कलेक्टर को जांच के आदेश दिए गए थे। अपर कलेक्टर के निर्देश पर बैतूल तहसीलदार ने जांच भी कराई लेकिन आज तक जांच का प्रतिवेदन ही कमिश्नर कार्यालय नहीं पहुंच पाया। इस मामले में जब कमिश्नर कार्यालय से जवाब तलब किए गए तो अपर अक्टूबर 2017 में अपर कलेक्टर ने एसएलआर को तत्काल जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के लिए आदेश दिया था। जांच का प्रतिवेदन ही तहसील कार्यालय से न मिलने की दशा में एसएलआर ने अपर कलेक्टर को पत्र लिखकर जवाब प्रस्तुत कर दिया।

अब कमिश्नर ने अपनाया कड़ा रुख
सरकारी जमीन को गायब कर देने के मामले की जांच के नाम पर हीला-हवाली किए जाने के कारण कमिश्नर उमाकांत उमराव ने कड़ा रुख अपना लिया है। कमिश्नर ने 22 फरवरी को कलेक्टर बैतूल को अर्धशासकीय पत्र लिखकर मामले की जांच कर प्रतिवेदन मांग लिया। कमिश्नर के कड़े रवैये के बाद कलेक्टर ने भी 22 फरवरी को ही आनन-फानन में गौठाना में नाला मद की भूमि का सीमांकन करने के लिए अपर कलेक्टर को आदेश जारी कर दिए हैं। अपर कलेक्टर के निर्देश पर अधीक्षक भू अभिलेख ने 23 फरवरी को सीमांकन करने के लिए राजस्व निरीक्षक की अगुवाई में 9 राजस्व कर्मियों की टीम का गठन करने का आदेश जारी किया है।

28 को होगा जमीन का सीमांकन
अधीक्षक भू अभिलेख द्वारा 2 राजस्व निरीक्षकों के साथ 9 राजस्वकर्मियों के सहयोग से गौठाना के खसरा क्रमांक 176 में दर्ज नाला मद की 0.446 हेक्टेयर शासकीय जमीन का सीमांकन 28 फरवरी को किया जाएगा। अधीक्षक भू अभिलेख द्वारा जारी किए गए आदेश में जमीन का सीमांकन करने के लिए राजस्व निरीक्षक सुखराम सिरसाम, नीरज बैस के साथ ईटीएस प्रशिक्षित पटवारी दिलीप करोचे, उदयराम धुर्वे, मोहन धुर्वे और पटवारी गोपाल महस्की, मंजुला सोनी,चैनमेन मीना जगदेव को शामिल किया गया है।

गायब हो गया नाला, बने मकान
गौठाना के पटवारी हल्का क्रमांक 35 में खसरा नंबर 176 नाला मद की भूमि लगभग पूरी तरह से गायब कर दी गई है। इससे सटे क्षेत्र में बैतूल टाऊन के नाम से कालोनी का निर्माण किया गया है। कमिश्नर से की गई शिकायत में आरोप लगाए गए हैं कि कालोनी का निर्माण करने वालों के द्वारा सरकारी जमीन पर भी प्लाट काटकर बेच दिए गए और लोगों ने उस पर मकान भी बना लिए हैं। अब जब कमिश्नर के आदेश पर जमीन का सीमांकन करने की नौबत आ रही है तो प्लाट खरीदकर मकान बनाने वालों में खलबली मच गई है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करकेhttps://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

 

NEWS IN ENGLISH

Betul: In the case of unauthorized construction of illegal colonies, the commissioner adopted a strict stance, forming a team of revenue workers and issuing orders for demarcation on 28th February

Betul The case of unauthorized construction of illegal colonies in the district, where the headlines are going on these days, there has also been disclosure of grabbing government land to build a colony. Following the complaint of the government drain disappeared, the commissioner ordered the inquiry. This led to the stirring of the SLR to create 9 teams of revenue workers and issuing orders to demarcate on February 28. According to information received from the administrative sources, Betul has grabbed the entire land of the government drain to build a colony in the Gothana area of ​​the city. Gothana’s measles number 176 recorded 0.446 hectare of government land revenue records. The people who created the colony of this land grabbed it and took it in their use. Complaint was made to the commissioner in the year 2016 for the disappearance of government land. After this the order was investigated to the additional collector. On the instructions of the Additional Collector, Betul tehsildar also carried out the investigation but till today the report of the inquiry has not reached the Commissioner’s office. In this case, when the replies were asked by the Commissioner’s Office, the Additional Collector ordered the SLR to submit an immediate report of the investigation in October, 2017. In the case of non-receipt of the report from the Tehsil office, the SLR submitted a written reply to the additional collector and submitted the reply.

Now the Commissioner adopted a tough stance
The commissioner Umakant Umrao has taken a stern stand due to the deferment of the name of the investigation into the disappearance of government land. On 22nd February, the commissioner wrote a letter to the Collector, Betul, asking for a report after scrutinizing the case. After the hardline attitude of the Commissioner, the collector has also ordered the Additional Collector to demarcate the land of Nala item in Gauthana in Anthan-Fanan on 22nd February. On the instructions of the Additional Collector, Superintendent of Land Records has issued an order to constitute a team of 9 revenue personnel headed by Revenue Inspector to demarcate on February 23.

28 will be demarcated land
With the help of 9 revenue officials with 2 revenue inspectors, Superintendent Geo Records will be demarcated on 0.44 hectare of government land in Nasala, measuring 0.446 hectares of land in Khasra No. 176. In order to demarcate the land in the order issued by Superintendent of Land Records, the revenue inspector Sukhram Sirasam, Neeraj Bass, ETS-trained Patwari Dilip Karochi, Udayam Dhurve, Mohan Dhurve and Patwari Gopal Mehsaki, Manjula Soni, Chainman Meena Jagdev were inducted. is.

Disappeared drain, house built
Land of Khasra No. 176 Nalla item of Patiala light number 35 in Gothana has almost completely disappeared. In this area, the colony was built in the name of Betul Town. In the complaint made to the Commissioner, it has been alleged that those who created the colony were also sold and sold on government land, and people have also built houses on it. Now, on the order of the commissioner, if the land is going to be demarcated, the plot of the house has been created by buying the plot.

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.