भीमपुर : आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर से की शिकायत,सेक्टर सुपरवाइजर पर लगाए अवैध वसूली के आरोप

Advertisements

NEWS IN HINDI

भीमपुर : आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर से की शिकायत,सेक्टर सुपरवाइजर पर लगाए अवैध वसूली के आरोप

गजेंद्र सोनी
बैतूल। महिला एवं बाल विकास के अंतर्गत बैतूल जिले की भीमपुर परियोजना में पदस्थ आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने सेक्टर सुपर वाइजर बबीता सावरकर पर कार्यकर्ताओं से अवैध वसूली का आरोप लगाया है। मंगलवार जनसुनवाई में कार्यकर्ताओं ने शिकायत करते हुए बताया कि लंबे समय से सेक्टर सुपर वाइजर द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को डरा-धमकाकर शासन की विभिन्ना योजनाओ तदर्थ समिति सांझा चुल्हा, पोषण आहार, खिलौने किट, रजिस्टर चार्ट, पोस्टर आदि के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। इसको लेकर कुछ आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने जनसुनवाई में कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर जिला कार्यक्रम अधिकारी को शपथ पत्र के साथ एक लिखित शिकायत मुख्यमंत्री व महिला बाल विकास मंत्री के नाम दी है। इस संबंध में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका एकता युनियन के संरक्षक कुंदन राजपाल ने शासन और प्रशासन से मांग की है कि जिले की आदिवासी परियोजनाओं व अन्य परियोजनाओं में परियोजना अधिकारियों व सेक्टर सुपर वाइजरो द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को अनावश्यक प्रताडित कर की जा रही अवैध वसूली पर तत्काल रोक लगाते हुए दोषी अधिकारी, कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसकी शिकायत शिकायतकर्ता आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सावित्री नागले, फूले दहिकर, कविता बारस्कर द्वारा जनसुनवाई में कलेक्टर से की गई है। श्री राजपाल ने बताया कि अधिकारियों द्वारा बडे पैमाने पर भ्रष्टाचार कर कार्यकर्ताओं को परेशान किया जाता है। उन्होंने बताया कि इसके पूर्व भी कलेक्टर, परियोजना अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत में भी लिखित शिकायत की गई है। साथ ही मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पर 13 जनवरी को शिकायत की थी। जिसको बाद में प्रभारी परियोजना अधिकारी रोला धुर्वे एवं परियोजना में पदस्थ बाबू छन्नाू सिंह युवने द्वारा शिकायतकर्ताओं पर दबाव डालकर लिखित में शिकायत वापस करवाई। इसके पश्चात 19 जनवरी को सेक्टर सुपर वाइजर पुलिस को लेकर ग्राम चोहटा पहुंची व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पति कमलेश नागले को डरा धमकाकर पुलिस में 100 नंबर पर शिकायत कर परेशान किया जा रहा है। जिसकी पुनः सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की गई। सेक्टर सुपर वाइजर द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर दबाव डालकर अपने ड्राइवर सुनील मांडेकर के माध्यम से बैंक में ले जाकर खातो से पैसे निकाले गए। जिसमें 25 जनवरी 2016 को खाते से 15 हजार रुपए निकाले जिसमें से 10 हजार रुपए, 18 अक्टूबर 2017 को 3 हजार रुपए, 1 अक्टूबर 2015 को 4 हजार रुपए, 6 अगस्त 2014 को 3 हजार रुपए, 19 नवंबर 2011 को 8 हजार रुपए तथा 26 अक्टूबर 2013 को सांझा चूल्हा की राशि 18 हजार रुपए निकालकर उसमें से 12 हजार रुपए रख ली। वहीं प्रतिवर्ष आडिट के नाम पर भी पांच-पांच सौ रुपए की वसूली की जाती है।

 

NEWS IN English

Bhimpur: Anganwadi activists complained to the collector, allegations of illegal recovery imposed on Sector Supervisor

Gajendra Soni
Betul Anganwadi workers stationed in Bhimpur project of Betul district under women and child development have accused the sector super-vigilator Babita Savarkar for illegal recovery from the workers. On Tuesday, activists complained that the long time Sector Super Wishers intimidated Anganwadi workers by misleading the various schemes of the government ad-hoc committee, chess, nutrition, toy kit, register charts, posters, etc, to be illegitimate. Has been there. About this, some Anganwadi workers have given the names of Chief Minister and women’s Child Development Minister, a written complaint to the district program officer with the affidavit after reaching collector’s office in Jansunewane. In this regard, Kundan Rajpal, patron of Anganwadi activist union unit, has demanded from the governance and administration that immediate action on the illegal recovery being done by the project officers and sector super-viziers in the district is being rendered unnecessary to the Anganwadi workers. Applying against the guilty officer, employee should be taken action. The complaint was made by complainant Anganwadi activist Savitri Nagle, Phule Dahikar, Kavita Baskar, collector in Jansunewai. Shri Rajpal said that the workers are harassed by the officials by corruption in large scale. He said that earlier, a written complaint has also been made to the collector, project officer, district program officer, district panchayat. He also complained to the Chief Minister on 13th January. Which was later reinstated by the in-charge project officer Rola Dhavai and Babu Chhanu Singh, who is posted in the project, by pressuring the complainants to return the complaint in writing. After this, on January 19, the Sector Super Vision Police reached village Chowta and Anganwadi activist husband Kamlesh Nagale threatened to scare and complain to the police in 100 numbers. Which was again complained to the CM Helpline. By putting pressure on Anganwadi workers through Sector Super Wishers, money was withdrawn from the account by taking the driver through Sunil Mandekar. Which collected 15 thousand rupees from the account on January 25, of which 10,000 rupees, Rs. 3 thousand on 18th October 2017, Rs. 4 thousand on 1 October 2015, Rs. 3 thousand on 6th August 2014, Rs. 8 thousand on November 19, 2011 and 26 On October 2013, after removing the amount of Rs 18,000 from Sangha Sthal, he kept 12 thousand rupees from it. At the same time every five or five hundred rupees are collected in the name of audit.

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.