भोपाल : अगस्त तक शुरू होगी बोन मेरो ट्रांसप्लांट की सुविधा, गंभीर बीमारियों का स्थाई इलाज होगा

Advertisements

NEWS IN HINDI

भोपाल : अगस्त तक शुरू होगी बोन मेरो ट्रांसप्लांट की सुविधा, गंभीर बीमारियों का स्थाई इलाज होगा

भोपाल। राजधानी के कमला नेहरू अस्पताल में बनाई जा रही हमीदिया अस्पताल की बोन मेरो ट्रांसप्लांट यूनिट अगस्त तक बनकर तैयार हो जाएगी। यूनिट बनाने का काम शुरू हो गया है। वहीं, इसी महीने से ट्रांसप्लांट के लिए मरीजों को चिन्हित करने काम भी शुरू हो जाएगा। हमीदिया के पीडियाट्रिक और मेडिसिन विभाग में हिमैटोलॉजी ओपीडी शुरू की जाएगी। फोर्टिस एस्कार्ट अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. राहुल भार्गव, चिकित्सा शिक्षा आयुक्त शिवशेखर शुक्ला ने पिछले हफ्ते निर्माणाधीन यूनिट का निरीक्षण किया। कमला नेहरू अस्पताल की चौथी मंजिल पर यह यूनिट बनाई जा रही है। यूनिट में सात कमरे होंगे। ट्रांसप्लांट यूनिट के अलावा मरीजों को भर्ती करने के लिए वार्ड व जांच कक्ष होंगे। ट्रांसप्लांट के लिए शुरू में निजी अस्पतालों के हीमैटोलॉजिस्ट की मदद ली जाएगी। इस बीच हमीदिया के मेडिसिन, पीडियाट्रिक, माइक्रोबायोलॉजी और पैथोलॉजी के दो-दो डॉक्टरों को बोनमेरो ट्रांसप्लांट के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग के बाद वे खुद ट्रांसप्लांट कर सकेंगे। इसके लिए किसी हीमैटोलॉजिस्ट की जरूरत नहीं होगी।

जल्द बनेगा डे-केयर सेंटर
बोनमेरो ट्रांसप्लांट यूनिट का प्रभारी मेडिसिन विभाग के प्रमुख डॉ. केके कावरे को बनाया गया है। डॉ. कावरे ने बताया कि इसी महीने से हीमैटोलॉजी क्लीनिक शुरू किया जाएगा। साथ ही डे-केयर सेंटर भी शुरू किया जाएगा। इसमें ब्लड कैंसर, थैलीमिया, हीमोफीलिया, सिकल सेल एनीमिया व खून से होने वाली अन्य बीमारियों का इलाज किया जाएगा। इस दौरान उन मरीजों को चिन्हित भी किया जाएगा, जिन्हें बोनमेरो ट्रांसप्लांट की जरूरत है।

इलाज पर सिर्फ दो लाख रुपए आएगा खर्च
बोनमेरो ट्रांसप्लांट के लिए मरीजों को अभी प्रदेश के बाहर के अस्पतालों में जाना पड़ता है। इन अस्पतालों में ट्रांसप्लांट का खर्च 10 लाख रुपए है। रहने व अन्य मिलाकर मरीजों के 13 लाख रुपए तक खर्च हो जाते हैं। हमीदिया अस्पताल में अधिकतम दो लाख रुपए खर्च होंगे। यह खर्च दवाओं व जांचों का होगा। बता दें कि प्रदेश के किसी भी सरकारी या निजी अस्पताल में अभी बोनमेरो ट्रांसप्लांट की सुविधा नहीं है। इंदौर के सरकारी मेडिकल कॉलेज में ट्रांसप्लांट यूनिट बनाई जा रही है। इसी महीने यह यूनिट शुरू हो जाएगी।

 

NEWS IN English

Bhopal: Bone Marrow transplant facility will be started till August, a permanent treatment for serious diseases

Bhopal. Bom Merro Transplant Unit of Hamidia Hospital being constructed at Kamla Nehru Hospital in the capital will be ready by August. The construction of the unit has started. At the same time, work will begin to mark patients for transplant from this month. Hematology OPD will be started in Hamidia’s Pediatric and Medicine Department. Dr Rahul Bhargava, Director of Fortis Escort Hospital, Medical Education Commissioner Shivshaykh Shukla inspected the unit under construction last week. The unit is being built on the fourth floor of Kamala Nehru Hospital. There will be seven rooms in the unit. In addition to the Transplant Unit, there will be a ward and check room for recruitment of patients. The help of the hematologist of the private hospitals will be started for the transplant. Meanwhile, two-two doctors of Medicine, Pediatrics, Microbiology and Pathology of Hamidia will be given training for the Bonnaro Transplant. They will be able to transplant themselves after training. There will be no need for a hamatologist.

Will Become Early Day Care Center
Dr. KK Kaware, Head of the Department of Medicine in Bonemero Transplant Unit, has been made. Dr Kaver said that starting this month, hematology clinics will be started. Also the daycare center will also be started. In this, treatment for blood cancer, thalemia, hemophilia, sickle cell anemia and other diseases will be treated. During this time, those patients who will need the Bonnaro transplant will also be marked.

Only two lakh rupees will be spent on treatment
Patients now have to go to hospitals outside the state for the Bonemero transplant. The cost of transplantation in these hospitals is 10 lakh rupees. 13 lakhs of living and other patients are spent. A maximum of two lakh rupees will be spent in Hamidia Hospital. This will be the cost of drugs and checks. Explain that there is no facility of Bonnaro transplant in any government or private hospital in the state. Transplant unit is being set up at Government Medical College, Indore. This unit will start this month.

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.