तवा खान में हुई दुर्घटना में दो कामगारों की मौत एक घायल, बीएमएस ने हॉस्पिटल में दिया धरना

Advertisements

तवा खान में हुई दुर्घटना में दो कामगारों की मौत एक घायल, बीएमएस ने हॉस्पिटल में दिया धरना


सारनी। शुक्रवार को वेकोलि पाथाखेड़ा की तवा 1 खदान में प्रबंधन की लापरवाही से बड़ी दुर्घटना घट गयी जिसमे ठेका श्रमिक भोला, स्थाई कामगार चैतराम पद जनरल मज़दूर की घटना स्थल पर ही रूफ के निचे दबकर मौत हो गयी। जबकि एक ठेका श्रमिक बुरी तरह घायल हो गया।
दुर्घटनाग्रस्त श्रमिकों को क्षेत्रीय चिकित्सालय लाया गया जहाँ दो श्रमिकों को डॉ द्वारा मृत घोषित किया गया तथा घायल कामगार को इलाज शुरू कर दिया गया जिसके पैर में गंभी चोटे आई है।

दोनों कामगार की तवा एक में रात्रि लगभग 10 बजे रूफ सपोर्ट के होल लगते समय रूफ की बड़ी परत गिरने से दब गए और स्पॉट पर ही मौत हो गयी। प्रबंधन मृतकों को हॉस्पिटल में आकर मृत होना घोषित करने, खान में सुरक्षा के नियमो को ताक पर रखकर लापरवाही से खदान चलाने तथा मृतकों के परिवारों को 15 लाख की राशि तथा अन्य देयको को तत्काल भुगतान करने को लेकर बीएमएस के पदाधिकारी हॉस्पिटल में ही धरने पर बैठ गए।

भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ पाथाखेड़ा एरिया के अध्यक्ष प्रमोद सिंह तथा महामंत्री ओमकार शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया की सुबह से ही सैकड़ो कोयला कामगार और यूनियन के पदाधिकारी एकत्रित हो गए थे प्रबंधन जल्दी जल्दी से मृतकों को घर भेजने के लिए आमादा थी लेकिन बीएमएस के सैकड़ो कार्यकर्ताओ ने मृतक परिवारों में फैले असंतोष तथा उन्हें तमाम देयको को तत्काल भुगतान का मुद्दा उठाते हुए दोपहर 1:30 बजे तक हॉस्पिटल परिसर में मौन धरना दिया।

आखिर प्रबंधन को मृतकों के परिवारों और बीएमएस की बात मानते हुए 15 लाख देने का लिखित में आश्वासन देते हुए राशि के सेंगसन के दस्तावेज सौपे तथा मृतक के आश्रित को दस्तावेज जमा कर देने के 15 दिनों में रोजगार देने का लिखित पत्र दिया. तब धरना समाप्त किया गया। धरना प्रदर्शन में अध्यक्ष महामंत्री समेत सभी एरिया पदाधिकारी शाखा के अध्य्क्ष/सचिव एवं कार्यकर्ता कामगार उपस्थित थे।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.