2019 तक 77% भारतीयों के पास नहीं होगी अच्‍छी JOB, बढ़ेगी बेरोजगारी : ILO रिपोर्ट

Advertisements

NEWS IN HINDI

2019 तक 77% भारतीयों के पास नहीं होगी अच्‍छी JOB, बढ़ेगी बेरोजगारी : ILO रिपोर्ट

नई दिल्‍ली। अंतरराष्‍ट्रीय श्रमिक संगठन की ताजा रिपोर्ट में चौंकाने वाला दावा किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2017 से 2019 के दौरान भारत में नौकरियों पर संकट होगा।

ऐसा नहीं है कि इस अवधि में नौकरियां नहीं होंगी, लेकिन इनका स्‍तर ठीक नहीं होगा। संगठन ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि भारत सहित एशिया के देशों में दो से ढाई करोड़ के बीच नौकरियों का सृजन तो होगा, लेकिन वे अच्‍छे किस्‍म की नहीं होंगी।

भारत पर भी इसका खासा प्रभाव पड़ेगा। यहां लगभग 39 करोड़ लोगों के पास ढंग का काम नहीं होगा जिसकी मार सबसे ज्‍़यादा युवाओं को झेलना होगी। इसका मतलब ये हुआ कि भारत में 77 प्रतिशत कर्मचारी अच्‍छे जॉब के लिए परेशान हो रहे होंगे। बेरोजगारी दर भी बढ़ने की आंशका है।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशिया में 72 प्रतिशत, दक्षिण पूर्व एशिया में 46 एवं पूर्वी एशिया में 31 प्रतिशत कर्मचारियों के पास बेकार जॉब होंगे। यह स्थिति काफी चिंताजनक होगी।

 

NEWS IN English

By 2019 77% of Indians will not have good JOB, unemployment will rise: ILO report

new Delhi. The latest report of the International Labor Organization has been shocking. The report says that there will be a crisis on jobs in India between 2017 and 2019.

Not that there will be no jobs in this period, but their level will not be well. The organization has stated in its report that jobs will be created between two and a half crore in Asia countries including India, but they will not be of good quality.

It will have a big impact on India as well. There will not be any kind of work with around 39 million people, which will be the worst hit by most young people. This means that 77% of the employees in India are going to be worried about their good job. The unemployment rate is also a fraction of the increase.

It has been said in this report that 72 percent in South Asia, 46 percent in South East Asia and 31 percent in East Asia will have unemployment jobs. This situation will be very worrying.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.