मनसंगी पत्रिका ग्यारवा अंक

“हताश करते लोग” का सफल प्रकाशन मनसंगी साहित्य संगम की ओर से मासिक पत्रिका की कड़ी में ग्यारहवें अंक -“हताश,करते लोग ” का सफल प्रकाशन किया गया, जिसे संपादक आ. निहारिका पाटीदार जी के द्वारा सुंदर चित्रों द्वारा सुसज्जित करके पत्रिका को आकर्षक बनाया व संकलन का कार्य आ. जागृति शर्मा ने किया। मनसंगी परिवार की ओर से संस्थापक अमन राठौर “मन” और सह संस्थापिका मनीषा कौशल के सानिध्य में, सत्यम द्विवेदी की अध्यक्षता में मनसंगी परिवार की समाज की वर्तमान स्थिति को दर्शाते हुए व जीवन व लक्ष्यों के…

Read More

बैतूल : शाप के चलते पत्थर बन गए थे कारीगर, अधूरा रह गया था शिव मंदिर का निर्माण

NEWS IN HINDI बैतूल : शाप के चलते पत्थर बन गए थे कारीगर, अधूरा रह गया था शिव मंदिर का निर्माण बैतूल। भगवान शिव के हरेक मंदिर और तीर्थ से जुड़ी हजारों रोचक किवदंतियां और पौराणिक मान्यताएं हैं। ऐसा ही प्राचीन शिव मंदिर सिद्धेश्वरनाथ मध्यप्रदेश के बैतूल जिले की भैंसदेही तहसील में पूर्णा नदी के किनारे स्थित है। वास्तुकला में बेजोड़ इस मंदिर का निर्माण 11वीं सदी में रघुवंशी राजा गय ने कराया था। इस मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि नागर-भोगर नाम के दो भाई थे…

Read More

सांची: जहां पत्थर बोलते हैं, जानें अतित से जुड़ी कुछ रोचक बातें

NEWS IN HINDI सांची: जहां पत्थर बोलते हैं, जानें अतित से जुड़ी कुछ रोचक बातें पर्यटन। दिल्ली से सदूर दक्षिण की ओर जाने वाली रेलवे की प्रमुख लाइन पर भोपाल से पहले विदिशा स्टेशन पड़ता है। पौराणिक और ऐतिहासिक काल में यही विदिशा चक्रवर्ती सम्राटों की राजधानी और क्रीड़ास्थली रही है। आज भी विदिशा के पचास वर्ग मील के क्षेत्र में इतनी अपार पुरातत्व सम्पदा भरी पड़ी है कि संसार के किसी अन्य क्षेत्र में ऐसी सामग्री ढूंढने को भी नहीं मिलेगी। इसी विदिशा से दक्षिण-पश्चिम में चार मील की…

Read More