शी चिनफिंग फिर बन सकें राष्ट्रपति, इसलिए यह कदम उठाएगा चीन

Advertisements

NEWS IN HINDI

 शी चिनफिंग फिर बन सकें राष्ट्रपति, इसलिए यह कदम उठाएगा चीन
बीजिंग: चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने संविधान से राष्ट्रपति के दो कार्यकाल की सीमा हटाने का आज प्रस्ताव रखा. इससे संभवत: राष्ट्रपति शी चिनफिंग को दूसरे कार्यकाल के बाद भी सत्ता में बने रहने का रास्ता खुल जाएगा. चिनफिंग का कार्यकाल 2023 तक है.

सरकारी संवाद समिति ‘शिन्हुआ’ ने बताया कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की केंद्रीय समिति ने देश के संविधान से इस उपबंध को हटाने का प्रस्ताव रखा है, जिसमें राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के कार्यकाल दो बार से ज्यादा नहीं होने का प्रावधान है. कार्यकाल की सीमा हटाने के प्रस्ताव पर पार्टी के पूर्ण अधिवेशन में मुहर लग सकती है. इससे आधुनिक चीन के सबसे शक्तिशाली शासक समझे जाने वाले 64 वर्षीय शी को असीमित कार्यकाल मिल जाने की संभावना है.

राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पिछले साल सीपीसी की राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद 5 साल के अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत की है. वह सीपीसी और सेना के भी प्रमुख हैं. पिछले साल 7 सदस्यीय जो नेतृत्व सामने आया था, उसमें कोई भी उनका भावी उत्तराधिकारी नहीं है. ऐसे में इस संभावना को बल मिलता है कि शी का अपने दूसरे कार्यकाल के बाद भी शासन करने का इरादा है. तब से पार्टी के सभी अंग ने पिछले तीन दशक से चले आ रहे सामूहिक नेतृत्व के सिद्धांत को दरकिनार कर उन्हें पार्टी का शीर्षतम नेता घोषित कर दिया है.

शी चिनफिंग 2013 में पार्टी के प्रमुख और राष्ट्रपति निर्वाचित हुए थे. बाद में उन्होंने सेना के प्रमुख की कमान भी संभाली थी. वर्ष 2016 में सीपीसी ने आधिकारिक रुप से उन्हें ‘प्रमुख’ नेता का खिताब दिया था. 5 साल में एक बार होने वाली सीपीसी की कांग्रेस पिछले साल शी की विचारधारा को संविधान में जगह देने पर राजी हो गई थी. यह सम्मान आधुनिक चीन के संस्थापक माओ त्से तुंग और उनके उत्तराधिकारी देंग शियोपिंग के लिए ही आरक्षित था.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करकेhttps://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Chinfing can become president again; therefore, China will take this step

BEIJING: China’s ruling Communist Party proposed the constitution to remove the limit of two terms of the President’s tenure today. This will probably open the way for President Xi Chenfing to remain in power even after the second term. The term of chinfying is up to 2023.

The official dialogue committee ‘Xinhua’ said that the Central Committee of the Chinese Communist Party (CPC) has proposed to remove this provision from the Constitution of the country, in which there is a provision of not having more than two terms for the term of President and Vice-President. Proposal to remove the tenure of the term can be stamped in the full session of the party. With this, 64-year-old Sheey, who is considered to be the most powerful ruler of modern China, is likely to get unlimited time.

President Xi Chunfing has started his second term of 5 years after the CPC National Congress. He is also the head of the CPC and the army. In the last seven years, which led to the leadership, no one has his future successor. In such a situation, the possibility that Shi has the intention to rule after his second term. Since then, the party has declared the party’s top leader bypassing the principle of collective leadership that has been running since the last three decades.

Shi Chinfing became the party’s president and president in 2013. Later he also took over the command of the army chief. In the year 2016, the CPC officially gave him the title of ‘Chief’ leader. The Congress of the once-in-5-year-old Congress agreed to give Shi’s ideology to the constitution last year. This honor was reserved for the founder of Modern China Mao Tse Tung and his successor Deng Shoiping.

 

Advertisements
Advertisements

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.