देर रात तक चला रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाकर 62 साल करने पर मंथन

Advertisements

NEWS IN HINDI

देर रात तक चला रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाकर 62 साल करने पर मंथन

भोपाल। राज्य सरकार कर्मचारियों को साधने का आखिरी मौका भी नहीं खोना चाहती है। बुधवार को आ रहे सरकार के आम बजट में कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु सीमा 60 से बढ़ाकर 62 करने की घोषणा की जा सकती है। इसे लेकर मंगलवार देर रात तक मंत्रालय में बैठक का दौर चला। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और वित्तमंत्री जयंत मलैया इस विषय पर मंथन करते रहे।

रिक्त पदों पर भर्ती न होने के कारण मैन पॉवर कम हो रहा है। इसे देखते हुए कर्मचारी सेवानिवृत्ति आयुसीमा बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। उधर, पदोन्‍नति में आरक्षण का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित होने के कारण पदोन्न्ति से भरे जाने वाले पद भी रिक्त हैं। इसलिए सरकार को काम करने वाले अफसर-कर्मचारी नहीं मिल रहे हैं। जिसे देखते हुए कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति उम्र 62 साल की जा सकती है।

मुख्यमंत्री ने देर रात कर्मचारी कल्याण परिषद के अध्यक्ष रमेश शर्मा को बुलाकर इस विषय पर काफी देर मंथन किया। उनसे पूछा गया कि किन राज्यों में यह व्यवस्था पहले से है। शर्मा ने बताया कि प्रदेश में ज्यादातर संवर्ग के कर्मचारी 62 साल की आयु में रिटायर हो रहे हैं। चंद कर्मचारी संवर्ग इससे छूटे हैं। जिन्हें यह लाभ दिया जा सकता है। उन्होंने बताया कि छग में वर्तमान में यह व्यवस्था लागू है।

किसान विरोधी छवि को बदलेगी सरकार
मंदसौर में किसान आंदोलन के दौरान हुए गोलीकांड के कारण शिवराज सरकार इस बजट में किसान विरोधी छवि को बदलेगी। किसानों की आमदनी बढ़ाने को लेकर समर्थन मूल्य और कई तरह की घोषणाएं बजट में की जा सकती हैं। गौरतलब है कि चुनावी साल होने के कारण सरकार के बजट का फोकस गांव, खेत-किसान, स्वास्थ्य सहित सोशल सेक्टर पर रहने की संभावना है।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Churning up to 62 years of retirement age till late night

Bhopal. The state government does not want to lose the last chance to employ employees. In the general budget of the Government coming on Wednesday, the retirement age of employees can be increased from 60 to 62. Till this, the meeting was held in the ministry till late late nights. Chief Minister Shivraj Singh Chauhan and Finance Minister Jayant Malaiya kept churning on this subject.

Due to non recruitment of vacant posts, man power is decreasing. In view of this, the employees are demanding retirement age limits. On the other hand, the post of reservation in the promotion due to the pending reservation in the Supreme Court is also vacant. That’s why the government employees are not getting the workforce. Seeing the retirement age of the employees can be 62 years.

The Chief Minister called late Ramesh Sharma, the chairman of the Kalyan Council late night and chanted this topic for a long time. They were asked which states already have this arrangement. Sharma said that most cadre employees in the state are retiring at 62 years of age. A few staff cadres are absent from this Those who can benefit from this. They said that this system is currently in chhag.

Government will change anti-farmer image
Due to the firing during the Kisan movement in Mandsaur, the Shivraj Sarkar will change the anti-farmer image in this budget. The support price and the various announcements can be made in the budget for increasing the income of the farmers. Significantly, due to the election year, the government’s budget is likely to focus on the social sector, including village, farm-farmer, health.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.