मंदिर निर्माण के इतिहास में गिलहरी की तरह याद रखा जाएगा बैतूल का योगदान – डॉ पंडाग्रे

Advertisements

मंदिर निर्माण के इतिहास में गिलहरी की तरह याद रखा जाएगा बैतूल का योगदान – डॉ पंडाग्रे

सरहदों की मिट्टी, पवित्र जल से बनी ईंटों का आमला में संग्रहण कार्यक्रम


बैतूल। यह हमारे लिए बड़े गर्व और खुशी की बात है 492 वर्षों की तपस्या के बाद जन्म भूमि पर रामलला के भव्य मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो चुका है। जब भगवान राम लंका पर चढ़ाई करने जा रहे थे तो समुद्र पर राम सेतु के निर्माण में हर सैनिक, वानर, पशु-पक्षियों ने यहां तक कि गिलहरी ने भी अपना योगदान दिया था। आज पूरे राष्ट्र के लोग श्री राम मंदिर निर्माण में अपना योगदान दे रहे है।

बैतूल का यह योगदान भी ठीक उसी तरह इतिहास में याद रखा जाएगा जिस तरह गिलहरी का योगदान याद रखा गया। यह बातें विधायक योगेश पंडाग्रे ने 21 सरहदों, अखंड भारत के केन्द्र बिंदु बरसाली की मिट्टी में 27 नदियों, सागर, महासागर एवं कुंड का जल मिलाकर बनाई गई ईंटों के संग्रहण कार्यक्रम सरहद से राष्ट्र रक्षा केन्द्र से वंदे मातरम में कही। आमला क्षेत्र में 11 ईंटे पूजन के लिए विभिन्न मंदिरों में रखी गई थी। जिनका संग्रहण करने श्री रामदरबार राम मंदिर अयोध्यानगर आमला, बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति एवं वंदेमातरम समिति बैतूल द्वारा समाजसेवी मनोज विश्वकर्मा के संयोजन में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ योगेश पंडाग्रे, समाजसेवी मुकेश खण्डेलवाल, वंदे मातरम समिति संस्थापक आनंद प्रजापति, विश्वकर्मा समाज समिति के संयोजक समाजसेवी बलवीर मालवीय, राम मंदिर समिति के संस्थापक जी आर लोनारे, अजय लोनारे, समाजसेवी एवं पूर्व पार्षद ओमवती विश्वकर्मा, बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति के सचिव भारत पदम, सहसचिव ईश्वर सोनी, वरिष्ठ सदस्य सुमित नागले, संगीता अवस्थी, प्रदीप निर्मले, रामचन्द्र देशमुख, नरेन्द्र गढ़ेकर, विट्ठल गीद, बबलु चड्डा, राजेश पंडोले, पंजाबराव देशमुख, मंडल अध्यक्ष यदुराज सिंह रघुवंशी, समाजसेवी अकरम खान, प्रमोद हारोड़े, रोमी बिलगैये, पूर्व सैनिक मनोज वाधवा, देवेन्द्र राजपूत, इकबाल खान,गोपाल खटारे, सीमा विश्वकर्मा, पुष्पा मालवीय, अनिल पटेल मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन संयोजक मनोज विश्वकर्मा द्वारा किया गया। इस अवसर पर श्रद्धालुओं के लिए प्रसादी की भी व्यवस्था की गई।

देश की एकता और अखंडता का प्रतीक बन जाएगा राम मंदिर

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ पंडाग्रे ने आगे कहा कि पूरे राष्ट्र मिट्टी जब श्री राम मंदिर के निर्माण में प्रयुक्त होगी तो वह मंदिर देश की एकता और अखंडता का प्रतीक होगा। जब हम मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचेगे तो हमें मंदिर को देखकर प्रसन्नता होगी कि भव्य मंदिर निर्माण में हमारा भी अंशदान का उपयोग हुआ है। भगवान राम की कृपा पूरे राष्ट्र पर बनी रहे यह मैं प्रार्थना करता हूं। उन्होंने कहा कि राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए अपना योगदान देने वाले सभी आयोजकों का प्रयास सराहनीय है।

इस अवसर पर पूर्व नपाध्यक्ष बैतूल एवं वंदे मातरम समिति के संस्थापक आनंद प्रजापति ने कहा कि आमला क्षेत्र की मंदिर समितियों ने उत्साह के साथ बैतूल पहुंचकर ईंटों को पूजन के लिए ग्रहण किया था। उन्होनें बताया कि अखंड भारत के केन्द्र बिंदु की मिट्टी भी इन ईंटों में लगी है, यहां भविष्य में भारत माता के मंदिर का निर्माण किया जाना है। भव्य कार्यक्रम के लिए श्री प्रजापति ने सभी श्रद्धालुओं एवं मंदिर समितियों को बधाई दी। समाजसेवी मुकेश खण्डेलवाल द्वारा जिले में राष्ट्रीय एकता एवं अखंडता के निमित्त हो रहे कार्य की सराहना करते हुए कहा कि यह अभियान हमेशा याद रखा जाएगा।

कार्यक्रम को बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति की अध्यक्ष गौरी पदम ने संबोधित करते हुए सरहदों से मिट्टी उठाने से लेकर ईंटों के निर्माण एवं अब पूजन व संग्रहण के क्रम की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूर्व सांसद हेमंत खण्डेलवाल के सौजन्य से ईंटों को अयोध्या पहुंचाया जाएगा। जिले भर से ईंटों को अयोध्या पहुंचाने के लिए श्रद्धालु काफिले में शामिल होंगे। विश्वकर्मा समाज समिति के संयोजक बलवीर मालवीय ने शीघ्र ही विश्वकर्मा मंदिर बैतूल में ईंटों का संग्रहण कार्यक्रम आयोजित किए जाने की जानकारी दी।

बालिका पूजन के बाद मंदिर समितियों का किया अभिनंदन

ईंटों के संग्रहण के बाद नन्हीं बालिका श्रेया विश्वकर्मा, सुहानी, प्रिया, तुलिका निर्मले सहित अन्य श्रद्धालुओं ने सर पर रखकर ईंटों को रामदरबार तक लाया। इस दौरान श्रद्धालुओं ने बालिकाओं का पूजन कर ईंटों पर पुष्पवर्षा की। कार्यक्रम में विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे, पूर्व सांसद हेमंत खण्डेलवाल, समाजसेवी मुकेश खण्डेलवाल,बजरंग समिति बम्हनी, श्री राम भक्त हनुमान मंदिर आमला, श्री कृष्ण मंदिर समिति आमला, श्री रामदरबार राम मंदिर समिति अयोध्यानगर,राम मंदिर समिति रतेड़ा, मां रेणुका मंदिर छावल, श्री सांई मंदिर समिति आमला, रामपाली समिति जम्बाड़ा, मां दुर्गा सेवा समिति आमला, श्री नागेश्वर मनोकामनानाथ शिव मंदिर आमला, श्री राम मंदिर समिति कसारी मोहल्ला, श्री महावीर हनुमान गौशाला समिति आमला, पूर्व सैनिक संघ आमला, समाजसेवी प्रमोद हारोड़े, अकरम खान को पूर्व पार्षद एवं समाजसेवी ओमवती विश्वकर्मा के सौजन्य से अभिनंदन पत्र भेंट किए गए।

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.