बैतूल – जमीन आवंटन को लेकर बवाल,मंत्री से हुई जीएम के खिलाफ शिकायत

Advertisements

NEWS IN HINDI

जमीन आवंटन को लेकर बवाल,मंत्री से हुई जीएम के खिलाफ शिकायत

पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने चहेतों को उपकृत करने का लगाया आरोप

जीएम के पक्ष में आए उद्योग संघ ने शिकायत करने वाले को बताया ब्लैकमेलर

बैतूल संवाददाता
बैतूल। जिले में औद्योगिक विकास के लिए उद्यमियों को जमीन आवंटन करने की प्रक्रिया विवादों में घिर गई है। गुरूवार को विधायक और प्रशासन की साझा पे्रस कांफें्रस में पहुंचकर पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने जमकर हंगामा किया था जिसके बाद शिकवा शिकायतों का दौर शुरू हो गया है। पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने उद्योग विभाग के जीएम पर गंभीर आरोप लगाते हुए राज्यमंत्री, प्रमुख सचिव समेत कलेक्टर को शिकायत भेजकर जांच की मांग की है। इधर जिला उद्योग संघ खुलकर जीएम के पक्ष में आ गया और शिकायत करने वाले पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। हालांकि प्रेस कांफ्रेंस में अभद्रता करने के मामले में उद्योग विभाग के जीएम गुरूवार की शाम रिपोर्ट दर्ज कराने गंज थाना पहुंचे थे लेकिन बिना आवेदन दिए वापस लौट गए थे। नगर के कोसमी और भग्गूढाना के औद्योगिक क्षेत्र में नए उद्योग स्थापित करने के लिए उद्योग विभाग के द्वारा 48 भूखंड आवंटित करने के लिए ऑन लाइन पंजीयन कराया गया है। इस पूरी प्रक्रिया को पारदर्शी तरीके से न किए जाने के आरोप लगाते हुए पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष सिद्दीक पटेल ने शिकायत कर जांच की मांग की है। श्री पटेल ने मध्यम एवं लघु सूक्ष्म विभाग के मंत्री संजय पाठक समेत प्रमुख सचिव उद्योग से की गई शिकायत में आरोप लगाया है कि जिला उद्योग केन्द्र के जीएम द्वारा साजिश रचकर भग्गूढाना औद्योगिक क्षेत्र के भूखंडों को अचानक ऑन लाइन पोर्टल पर दर्ज कर आवंटन की प्रक्रिया कर दी। उद्योग विभाग के द्वारा भग्गूढाना क्षेत्र में अपने चहेतों को लाभ देने की नियत से बिना नक्शा काटे ही आवंटन की प्रक्रिया में भूखंडों को शामिल किया है। जिले के लोगों को इसकी कोई जानकारी दी ही नहीं गई जिसके चलते इस क्षेत्र में केवल उन्हीं लोगों ने अपने आवेदन जमा किए हैं जिन्हें जीएम के द्वारा कहा गया था। शिकायत में कहा गया है कि उद्योग विभाग के जीएम द्वारा पिछले 2 वर्ष के दौरान औद्योगिक क्षेत्र में किए गए सभी कार्यों में गंभीर अनियमितताएं की गईं हैं जिनकी जांच कराई जाए। श्री पटेल ने आर्थिक अनियमितता के आरोप लगाते हुए भूखंड आवंटन के लिए अपनाई गई ऑन लाइन प्रक्रिया को निरस्त करते हुए दोबारा निष्पक्ष रूप से आवंटन करने की मांग की है।

प्रक्रिया पर इस कारण उठ रहे सवाल
नए उद्योग के लिए जमीन आवंटन की प्रक्रिया में जीएम पर लग रहे आरोपों के बाद जिला उद्योग संघ उनके बचाव में खुलकर सामने आ गया है। उद्योग संघ के अध्यक्ष ब्रज आशीष पांडे, सचिव पीयूष तिवारी के हस्ताक्षर युक्त एक ज्ञापन शुक्रवार को कलेक्टर के नाम सौंपा गया। ज्ञापन में कहा गया है कि उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक जिले के विकास में कार्य कर रहे हैं। जिले के तथाकथित ब्लैकमेलर द्वारा अधिकारी के विरूद्घ दुर्भावनापूर्वक षड़यंत्र रचा जाता है जिससे जिले का विकास संभव नही है। उद्योग संघ ने पूरी घटना की निंदा करते हुए कहा है कि संघ एवं सारे उद्योगपति जिला उद्योग केन्द्र के जीएम के समर्थन में खड़े हुए हैं।

जीएम ने पुलिस से मांगी सुरक्षा
जिला उद्योग केन्द्र के जीएम आत्माराम सोनी ने बताया कि उन्होंने गंज थाने में एक आवेदन देकर सुरक्षा की मांग की है जबकि गंज थाना पुलिस ऐसे किसी आवेदन से ही इंकार कर रही है। श्री सोनी ने बताया कि गुरूवार को हुई घटना के बाद से पूरा स्टाफ भयभीत है और इसी के कारण पुलिस को आवेदन देकर ऐसी घटना दोबारा घटित न हो इसकी मांग करते हुए सुरक्षा प्रदान करने की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि जो आरोप लगाए जा रहे हैं वे निजी स्वार्थ पूरा करने के लिए दबाव बनाने का प्रयास है।

प्रक्रिया पर इस कारण उठ रहे सवाल
औद्योगिक क्षेत्र में पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर नए उद्योग लगाने के लिए जमीन आवंटन करने की ऑन लाइन प्रक्रिया अपनाई गई थी। पहले ही दिन करीब 4 घंटे तक सर्वर ठप रहा और आवेदन जमा ही नहीं हो पाए। जैसे ही सर्वर प्रारंभ हुआ तो अचानक थोक में आवेदन जमा दिखाने लगे थे। इसे लेकर भी लोगों में प्रक्रिया के पारदर्शी होने पर संदेह हो रहा है। इतना ही नहीं भग्गूढाना के भूखंडों को आवंटित करने की जानकारी सार्वजनिक ही नही की गई थी जिससे प्रक्रिया पर सवाल उठ रहे हैं।

NEWS INEnglish

Complaint against GM alloted to land allotment, minister

Former District Congress President charged allegiance to lover

Blackmailer told the complainant who came in favor of GM, the industry association

Betul Correspondent
Betul The process of allotting land to entrepreneurs for industrial development in the district has been in dispute. On Thursday, when the MLA and administration took part in the Common Parrrons conference, the former Congress District President had furiously, after which the issue of education complaints has begun. Former District Congress President has made serious allegations against GM of the Industry Department, sending a complaint to the collector including the Minister of State, Principal Secretary, and has demanded a probe. Here, the District Industry Association candidly came in favor of GM and accused the complainant of blackmailing the administration to give a memorandum to the administration. However, in the case of indulgence in the press conference, GM of the Industry Department had gone to Ganj police station to file the evening report on Thursdays but returned without application. In order to set up new industries in the industrial area of ​​Kosami and Bhaggudana of the city, online registration has been done by the Department of Industry for allotment of 48 plots. Alleging that the entire process was not done in a transparent manner, former District Congress President Siddiq Patel complained and demanded a probe. Mr. Patel has complained to the Chief Secretary of the Ministry of Small and Medium Enterprises, including Sanjay Pathak, that the plot of plot by the GM of the Zilla Udyog Center is being done by making the allocation of Bharging industrial area plots on the on-line portal and allocating them. Given The Department of Industries has included plots in the process of allocating non-map only to the provision of giving benefits to their wards in the Bhaggudana area. No information was given to the people of the district so that only those people in this area have submitted their applications which were said by GM. It has been stated in the complaint that serious irregularities have been done in all the work done by GM of the Industries Department during the last two years in the industrial sector, which should be examined. Mr. Patel, while accusing the economic irregularity, has called for the allocation of the unauthorized allocation while repealing the online process adopted for the allotment of the plot.

Industry Association told the Blackmailer
After the charges against GM in the process of land allocation for the new industry, the District Industry Association has come out openly in their defense. A Memorandum of Understanding signed by Industry Association President Brij Ashish Pandey, Secretary Piyush Tiwari was given to the collector on Friday. It has been said in the memorandum that the General Manager of the Industry Center is working in the development of the district. The alleged blackmailer of the district is maliciously conspiring against the officer, so that development of the district is not feasible. Industry association has condemned the entire incident saying that the Sangh and all industrialists have stood in support of GM of the District Industry Center.

GM sought police protection
GM Atmaram Soni of District Industry Center informed that he has demanded security by giving an application in Ganj police station, whereas Ganj police station is denying such application. Mr. Soni said that since the incident on Thursday, the entire staff is frightened and due to this, the police have requested to provide security by demanding that such incidents do not happen again by applying the police. He said that the allegations being made are an attempt to put pressure on to fulfill the personal interests.

The question arises due to the process
On the basis of first-come-first-served basis in the industrial sector, the online process of allotment of land for adoption of new industries was adopted. The server was stalled for about 4 hours on the first day and the application could not be submitted. As soon as the server started, the applications were started suddenly in bulk. It is also suspected that people are transparent in the process. Not only this, the information about the allotment of Bhaggudana plots was not made public, which raised questions on the process.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.