ड्यूटी के दौरान डॉक्टर्स सहित पूरा स्टाफ रहे निर्धारित ड्रेसकोड में-कलेक्टर सुमन

Advertisements

ड्यूटी के दौरान डॉक्टर्स सहित पूरा स्टाफ रहे निर्धारित ड्रेसकोड में-कलेक्टर सुमन

प्रत्येक डिलीवरी प्वाइंट पर गर्भवती माताओं को अटैंड करने के लिए हो समुचित व्यवस्थाएं-कलेक्टर

कलेक्टर सुमन ने ली स्वास्थ्य विभाग की बैठक अस्पतालों की बेहतरी और कायाकल्प पर फोकस


छिंदवाड़ा। कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की मैराथन बैठक ली। बैठक में उनका मुख्य फोकस जिले के सभी सिविल अस्पतालों की बेहतरी और उनके कायाकल्प पर रहा। उन्होंने कायाकल्प के सभी आठों घटकों पर विस्तृत चर्चा करते हुए सभी स्वास्थ्य अधिकारियों का उन्मुखीकरण किया और उसी दिशा में आज से ही कार्य में जुटने के निर्देश दिए । उन्होंने निर्देश दिए कि सिविल अस्पतालों में ड्यूटी के दौरान सभी डॉक्टर्स एवं स्टाफ निर्धारित ड्रेस कोड में ही रहें। उन्होंने मातृ एवं नवजात शिशु मृत्यु दर व रुग्णता में कमी के लिए संचालित लक्ष्य कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के निर्देश दिए और प्रत्येक डिलीवरी प्वाइंट पर गर्भवती महिलाओं के पहुंचने पर उन्हें अटैंड करने की सभी समुचित व्यवस्थाएं आवश्यक रूप से सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया।

कलेक्टर सुमन ने स्वास्थ्य विभाग के राष्ट्रीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण, एनसीडी प्रोग्राम, परिवार कल्याण कार्यक्रम, राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम एवं अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमों की भी समीक्षा की जिसमें कार्यक्रम की उपलब्धि के आधार पर राज्य स्तर से जारी रैंक के आधार पर विकासखंडों के परफॉर्मेंस की भी समीक्षा की और बेहतर प्रदर्शन करने वाले विकासखंडों को बधाई देते हुए गुणात्मक रूप से बेहतर प्रदर्शन नहीं करने वाले विकासखंडों के खंड चिकित्सा अधिकारी एवं अन्य विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अगले सप्ताह में सभी योजनाओं में बेहतर प्रदर्शन करें, अन्यथा जिम्मेदारी तय की जायेगी।
बैठक में कलेक्टर सुमन ने कायाकल्प के घटकों के अंतर्गत हॉस्पिटल अपकीप, सेनिटेशन एंड हाइजीन, वेस्ट मैनेजमेंट, इन्फेक्शन कंट्रोल, सपोर्ट सिस्टम, हाइजीन प्रमोशन, बियोंड हॉस्पिटल बाउंड्री आदि के विस्तृत बिंदुओं पर कार्यवाही करने के लिए शॉर्ट, मीडियम और लॉन्ग टर्म लक्ष्यों में विभाजित कर कार्य करने के निर्देश दिए।

बिजली, पानी, परिसर व शौचालयों की साफ-सफाई, जंक की निकासी, छोटी-मोटी टूट-फूट और मरम्मत के कार्य को एक माह के अंदर कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर सुमन ने कहा कि अस्पताल को अपने घर की तरह समझें और उसी तरह उसका मेंटेनेंस करें। इसे अपनी जीवन शैली में शामिल करें। अस्पताल में कहीं भी कचरे का जमाव नहीं दिखे। अभियान चलाकर हाइजीन मेंटेन करें। आप शुरुआत करेंगे तो समुदाय का भी पूरा सहयोग मिलेगा।

बैठक में सीईओ जिला पंचायत हरेंद्र नारायण, एडीएम ओ.पी.सनोडिया, एसडीएम अतुल सिंह, डिप्टी कलेक्टर अजीत तिर्की, सीएमएचओ डॉ.जी.सी.चौरसिया व सिविल सर्जन डॉ.शिखर सुराना सहित सभी बीएमओ, सीईओ जनपद छिंदवाड़ा, तहसीलदार छिंदवाड़ा सभाकक्ष से, जबकि अन्य सभी एसडीएम, सीईओ जनपद व तहसीलदार वीसी के माध्यम से उपस्थित हुए।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.