वर्षा भी बाधित नहीं कर सकीं आचार्य श्री का पगविहार

Advertisements

वर्षा भी बाधित नहीं कर सकीं आचार्य श्री का पगविहार

मोहगांव हवेली आगमन पर भव्य स्वागत

अनेक राज्यों से दर्शन हेतु आए भक्तगण


छिन्दवाड़ा, (दुर्गेश डेहरिया)। प.पू. महामुनिराज विश्व वंदनीय संत आचार्य श्री श्री 108 श्री विद्यासागर महाराज ने स्व. शालिग्राम डोमा वंजारी शिक्षा परिसर मोहगांव हवेली में रात्रि विश्राम के पश्चात् झमाझम बारिश के बीच आज प्रातः 5:09 बजे पगविहार शुरू कर ग्राम पंधराखेड़ी के शासकीय हाईस्कूल में कुछ क्षण रुककर भक्तों को मंगल प्रवचन दिया। तत्पश्चात् शासकीय माध्यमिक शाला में आहारचर्या की।

आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का ससंघ विहार चल रहा हैं। कल सायं 4 बजे अर्ध नारीश्वर ज्योतिर्लिंग की पावन भूमि मोहगांव हवेली आगमन हुआ, नगर सीमा पर सैकड़ों भक्तों नें पहुंचकर अगवानी एवं भव्य स्वागत किया गया। तत्पश्चात् आचार्य श्री नें स्व. शालिग्राम वंजारी शिक्षा परिसर में पहुंचकर उपस्थित भक्तगणों को दर्शन दिए। इसके बाद लगभग 6:45 बजे, शाम ढलने के साथ ही आचार्यश्री नें यहीं रात्रि विश्राम किया। उनकी एक झलक पाने एवं उन्हें आहार कराने महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, कर्नाटक सहित अनेक राज्यों से उनका शिष्यवर्ग भारी संख्या में उपस्थित हुआ।

यहां आचार्य श्री के दर्शन हेतु सपरिवार पधारी, महाराष्ट्र के हिंगोली जिले की श्रीमती वैष्णवी वैभव गंधी (जैन) ने कहा कि, ऐसे संतों का दर्शन करना परम सौभाग्य की बात है। सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. गोपाल वंजारी ने हमारे संवाददाता को बताया कि, आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज की बहन एवं प्रथम शिष्या साध्वी श्री श्री 105 गुरुमती माताजी का स्व. शालिग्राम वंजारी शिक्षा परिसर मोहगांव हवेली में दो बार ससंघ आगमन हुआ हैं। उन्होंने कहा कि, माताजी के दूसरी बार, मार्च 2021 में यहां आगमन एवं आहार के बाद से ही मेरी प्रबल इच्छा कि, आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का एक बार मोहगांव हवेली में आगमन हो। आज अर्ध नारीश्वर भगवान ने इच्छा पूर्ण की।

झलकियां

आचार्य श्री के सौंसर से मोहगांव हवेली की ओर मुड़ते ही नागपुर, रामटेक में उनके आगमन की आस लगाए भक्तजनों ने यहां की दौड़ लगाई। देर रात्रि से आज दोपहर तक सैकड़ों गाड़ीयों से भक्तजनों के पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। वंजारी शिक्षा परिसर में आचार्य श्री के पग पड़ते ही छात्राओं का स्वागत गीत गायन सभी के आकर्षण का केंद्र रहा।

मोहगांव हवेली नगर सीमा गेट पर जैन समाज द्वारा गाजे बाजे की व्यवस्था तथा वंजारी शिक्षा परिसर के गेट पर स्कूल बैंड़ की व्यवस्था थी। किंतु साथ में चल रहे सुरक्षा स्वयंसेवकों ने बजाने से मना करने पर उनमें मायूसी छाई।
दर्शनार्थियों में पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों की संख्या थी। आचार्य श्री से चुनाव में विजयश्री का आशीर्वाद लेने पहुंचे थे प्रत्याशी।

मोहगांव हवेली के अतिप्राचीन जैन मंदिर में आचार्य श्री को ले जाने का जैन समाजबंधुओं ने काफी आग्रह किया। साथ में चल रहे सुरक्षा स्वयंसेवकों के मना करने पर उनमें मायूसी छाई।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.