छत्तरपुर ग्राम पंचायत में अवैध तरीके से हो रहा रेत का उत्खनन

Advertisements

NEWS IN HINDI

छत्तरपुर ग्राम पंचायत में अवैध तरीके से हो रहा रेत का उत्खनन

बैतूल/सारनी। जनपद पंचायत घोडाडोंगरी के ग्राम पंचायत छत्तरपुर में अवैध उत्खनन का कार्य लंबे दिनों से बड़े पैमाने पर चल रहा है। पंचायत के उपसरपंच देवकराम काकोडिया ने बताया की पंचायत में शासन की घोषणा के बाद भी रायल्टी के लिखित आदेश पंचायत में प्राप्त नहीं हुए है। जिसके कारण कई दिनों से अवैध उत्खनन बिना किसी रोक टोक के चल रहा है। उन्होंने बताया कि रेत माफिया इतने शातिर है कि खनिज अधिकारी के बैतूल से निकलने का पता भी उन्हें आसानी से चल जाता है। जिससे वे अपने स्थान से निकल जाते है। युवा समाजसेवी सुनिल सरयाम ने बताया कि प्रतिदिन ट्रैक्टर ट्राली के चलने से रोड भी खराब हो चुकी है। यदि सरकार की घोषणा के बाद भी रायल्टी की आदेश पंचायत को नहीं मिल रहा है। जिससे बड़ी मात्रा में राजस्व का नुकसान शासन को हो रहा है। उन्होने बताया कि तवा नदी से रेत का खनन रेत माफियाओं के माध्यम से बेखौफ होकर किया जा रहा है। ग्रामीणों ने मांग की है कि रेत रायल्टी का आदेश पंचायत को मिले ताकि अवैध उत्खनन का कार्य रूक सके। अवैध रेत का उत्खनन रोकने की मांग दिलीप वरकडे, मनोज, मुकेश धुर्वे, दिलीप सरयाम, धनराज धुर्वे, संतोष सहित अन्य ग्रामीणों ने की है।

 

NEWS IN English

Extraction of illegal sand in Chhattarpur Gram Panchayat

Betul / Sarani Gram Panchayat of Ghodadongri, village panchayat of Chhattarpur, has been working on illegal excavation for a long time. Panchayat’s Deputy Chief, Devkram Kakodia said that even after the announcement of the rule in Panchayat, the written order of royalty was not received in Panchayat. Due to this, illegal quarrying has been running without any barrage for several days. He told that the sand mafia is so vicious that even the mineral officer gets to know the exit of Betul, he goes easy. Where they leave their place. Youth social activist Sunil Saram told that the road has been spoiled due to the ongoing trakra trolley running every day. Even after the announcement of the government, the panchayat is not getting orders of royalty. This is due to the loss of revenue in a large amount of revenue to the government. He said that sand sands from Tawa river are being deserted through sand mafia. The villagers have demanded that the order of sand royalty be given to Panchayat so that the work of illegal mining can be stopped. Demand for preventing the excavation of illegal sand has been demanded by Dilip Verma, Manoj, Mukesh Dhurve, Dilip Siram, Dhanraj Dhrew, Santosh and other villagers.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.