श्रमिक संगठनों के सदस्यता सत्यापन अभियान को लेकर शुरू हुई द्वार सभा

Advertisements

श्रमिक संगठनों के सदस्यता सत्यापन अभियान को लेकर शुरू हुई द्वार सभा


सारनी। पाथाखेड़ा क्षेत्र में संघ का सत्यापन अभियान 2022-2023 का शुभारंभ 16 अगस्त से शुरू होगा। जिसके प्रथम चरण में 16 अगस्त से 21 अगस्त तक यूनियन सदस्यता सत्यापन किया जाना है। इसके उपरांत दूसरे दौरे में सितम्बर माह 12 और 13 को दो दिवसीय शेष बचे कामगारो का सत्यापन किया जायगा। पिछले वर्ष पाथाखेड़ा मे लगभग 3200 से अधिक कामगारो का सत्यापन हुआ था। गौरतलब हो कि करीब 300 से अधिक कामगार सेवा मुक्त हो गये और कोई नवीन कामगार की भर्ती नही हुई इस लिए इस वर्ष लगभग 2900 कामगारो का सत्यापन होगा।

यूनियनों में पिछले दिनों काफी उठल पलट हुआ भारी संख्याओ में पदाधिकारियों का एक यूनियन से दूसरी यूनियन मे प्रवेश हुआ जिससे इस वर्ष प्रथम स्थान में कौन सी यूनियन आएगी कहना मुश्किल है।

वही पिछले वर्ष के आंकड़े के अनुसार प्रथम स्थान पर बीएमएस 1058 सदस्यों के साथ दूसरे स्थान पर 1008 एटक थी, तीसरे स्थान पर 810 पर एचएमएस रही। इंटक के पास कुल 190 के लगभग सदस्यता हुई थी परन्तु इस वर्ष पुराने आकड़ो पर आधार मानकर अंदाजा नही लगाया सकता क्योंकि बढ़ी संख्या में श्रमिक नेताओं ने संगठन बदला है और अपने संघ को छोड़ा है।

हालांकि अपनी-अपनी सदस्यता बढ़ाने के लिए और वर्ष भर जो संगठन ने प्रगति किये क्षेत्र के सभी नेता मंच पर आ गए और प्रत्येक इकाई पर अपना द्वार सभा और सम्पर्क स्थापित कर रहे हैं। कोयला श्रमिक सभा एचएमएस के अध्यक्ष अशोक नामदेव, महामंत्री ओमकार शुक्ला, जेसीसी महेंद्र यादव, अशोक मालवी, वेकोलि टीएससी सदस्य सादिक रिज़वी, मनोज मानकर, राजेश देशमुख समेत सभी पदाधिकारी ने द्वार सभा ली और वर्ष संघठन की वर्ष भर उपलब्धि मजदूरो को बताये। इस प्रकार बीएमएस के अध्यक्ष प्रमोद सिंह, संयुक्त महामंत्री संजय सिंह, विजेंद्र सिंह सहित सभी पदाधिकारी भी द्वार सभा ले रहे।

प्रथम स्थान की दौड़ मे शामिल एटक से महामंत्री श्रीकांत चौधरी, हबीब अंसारी, जेसीसी भारत सिंग, इन्द्रेश सिंह, अशोक चौहान, सेन गुप्ता, सीटू से अध्यक्ष अशोक बुंदेला, जगदीश डिगरसे, जगदीश रघुवशी, अंचित डाये सहित सभी पदाधिकारी सदस्यता अभियान में जुट गये हैं।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.