भारत सरकार ने लॉन्च की डायबिटीज की सस्ती दवा ‘सीटाग्लिप्टिन’, कीमत काफी कम

Advertisements

भारत सरकार ने शुक्रवार को मधुमेह यानी डायबिटीज की दवा सीटाग्लिप्टिन (Sitagliptin) और इसके मिश्रण को बाजार में उतारा। इसकी 10 गोलियों के पत्ते का दाम सिर्फ 60 रुपये रखा गया है। इस दवा की बिक्री जेनेरिक फार्मेसी स्टोर यानी जन-औषधि केंद्रों पर ही होगी। रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि भारतीय औषधि और चिकित्सा उपकरण ब्यूरो (PMIB) ने जन औषधि केंद्रों पर सीटाग्लिप्टिन और इसके नए संस्करणों को उपलब्ध करवाना शुरू कर दिया है।

बाजार से सस्ती हैं ये दवाएं

सीटाग्लिप्टिन फॉस्फेट की 50 मिलीग्राम की दस गोलियों के पैकेट का अधिकतम खुदरा मूल्य 60 रुपये है और 100 मिलीग्राम की गोलियों का पैकेट 100 रुपये का है। रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय ने बयान में कहा गया, ‘‘इस दवा के सभी प्रकार के दाम ब्रांडेड दवाओं से 60 से 70 प्रतिशत कम हैं। ब्रांडेड दवाओं की कीमत 160 रुपये से लेकर 258 रुपये तक है।’’

देश में फिलहाल 8700 जन औषधि स्टोर

जेनेरिक दवा (Generic Medicine) के तहत सीटाग्लिप्टिन (Sitagliptin) और मेटफॉर्मिन का कॉन्बिनेशन भी जल्द ही जन औषधि स्टोर पर मिलने लगेगा. भारत में फिलहाल 8700 जन औषधि स्टोर हैं, जहां 1600 दवाएं बिकती हैं. जल्द ही 138  और दवाओं को इसी श्रेणी में शामिल कर जेनेरिक दवा के तौर पर सस्ते दामों में बेचा जा सकेगा. 138 नई दवाओं की पहचान भी कर ली गई है. इस साल के अंत तक उनके जेनेरिक स्टोर पर पहुंच जाने की उम्मीद जताई जा रही है.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.