26 जनवरी 68 साल बाद दोहराएगा इतिहास,इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे

Advertisements

NEWS IN HINDI

26 जनवरी 68 साल बाद दोहराएगा इतिहास,इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे

नई दिल्ली। इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर इतिहास अपने आप को दोहराएगा, जब इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। इससे पहले 1950 में पहले गणतंत्र दिवस के अवसर पर उस वक्त के इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो मुख्य अतिथि थे और इतिहास के उस सुनहरे दौर के गवाह बने थे। इस बार जोको विडोडो अकेले नहीं होगे बल्कि उनके साथ नौ आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी रहेंगे जो गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि होंगे और देश की सांस्कृतिक झलक, सामरिक शक्ति के साथ बढ़ते भारत की तस्वीर से रुबरू होंगे।

आसियान के बेहतर रिश्तों की दिखेगी झलक-
इस मामले को ज्यादा विस्तार से बताते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि “वर्तमान में जरूरत है भारत और आसियान देशों के बीच बेहतर होते रिश्तों को युवाओं तक पहुंचाने की। ऐसा पहली बार हुआ है कि 10 देशों के राष्ट्राध्यक्षों को गणतंत्र दिवस के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया है। इस बात के संकेत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात के दौरान कही थी कि इस बार का गणतंत्र दिवस कुछ खास रहेगा”।

आसियान राष्ट्रों के राष्ट्रप्रमुख होंगे मुख्य अतिथि-
गणतंत्र दिवस के मौके पर इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो, म्यानमार की स्टेट काउंसलर आंग सन सू की, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली लूंग, मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक, थाइलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओचा, वियतनाम के पीएम नयून तंग जंग, फिलिपींस के राष्ट्रपति रौड्रिग दुतार्तो, कंबोडिया के पीएम हुन सेन, लाओस के पीएम थोंगलोउन सिसोउलिथ और ब्रुनेई के सुल्तान हसन अल बोल्किया बदलते भारत की झलक के गवाह बनेंगे।

आसियान देशों को समर्पित होगी दो झांकियां-
मंगलवार को हुई गणतंत्र दिवस की फूल ड्रेस रिहर्सल के बाद मेजर जनरल राजपाल पूनिया ने कहा कि “परेड के दौरान सेना के जवान तिरंगे के साथ दस आसियान देशों के झंडे को लेकर मार्च करेंगे।
इस अवसर पर निकलने वाली 23 झांकियों में से दो आसियान देशों को समर्पित रहेगी, जिसमें आसियान देशों की शिक्षा, कारोबार, संस्कृति और धर्म की झलक होगी साथ में बच्चे इन देशों के गानों को भी गाएंगे। “

 

NEWS IN English

History will repeat January 26, 68 years, Indonesia President Joko Widodo will be the chief guest of the Republic Day program.

new Delhi. This time, history will repeat itself on Republic Day, when President of Indonesia Joko Widodo will be the chief guest of the Republic Day program. Earlier, in 1950, on the occasion of the first Republic Day, Indonesia’s President Sukarno was the chief guest of the day and was witness to that golden period of history. This time Joko ViDoO will not be alone, but he will also be the President of the nine ASEAN countries, who will be the chief guest of the Republic Day celebrations and the cultural spectrum of the country will be accompanied by a picture of growing India with tactical power.

ASEAN’s Better Relationships –
Describing this matter in more detail, External Affairs Minister Sushma Swaraj said: “Presently, the need to reach the better relations between India and the ASEAN countries to the youth. This is the first time that the heads of 10 countries will be given the opportunity of the Republic Day But as a chief guest has been invited. Significantly, Prime Minister Narendra Modi said during the talk of the mind that this time the Republic Day Uc special will “.

The chief guest of the ASEAN nations will be the head of the nation-
Indonesian President Joko Widodo, Myanmar’s State Counselor Ang Sun Suu Kyi, Singapore’s Prime Minister Lee Lung, Prime Minister Najib Razak of Malaysia, Prime Minister of Thailand Puitta Chan Ocha, Vietnam’s Prime Neon Tung Jung, President of the Philippines Rodriguez Doctoro, PM Hun Sen of Cambodia, PM Thongloun Sisoulith of Laos and Sultan Hasan of Brunei, Hasan al-Bolkia changed They will become witnesses of the glimpse of India.

ASEAN countries will be dedicated to two floats-
Maj Gen Rajpal Poonia, after the Republican Day Floral Rehearsal held on Tuesday, said that during the parade, the army personnel will marched with the flag of the ten ASEAN countries along with the tricolor.
Two of the 23 floating flags will be dedicated to the ASEAN countries, which will reflect the education, business, culture and religion of the ASEAN countries, along with the children singing these countries also. “

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.