जबलपुर का सिविल लाइन थाना बना आइडियल, इसी तर्ज पर बनेंगे सभी थाने

Advertisements

NEWS IN HINDI

जबलपुर का सिविल लाइन थाना बना आइडियल, इसी तर्ज पर बनेंगे सभी थाने

जबलपुर। पुलिस अपनी कार्यप्रणाली को एडवांस करने के साथ थानों को भी आधुनिक कर रही है। प्रदेश के पुराने थानों को तोड़कर जहां नया बनाया जा रहा है। ऐसे ही निर्माणाधीन थानों के लिए जबलपुर के सिविल लाइन थाने की डिजाइन आइडियल (आदर्श) बन गई है। दिसंबर 2017 में थाने के लोकार्पण के दौरान डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला और अन्य आला अफसरों को इसकी डिजाइन इतनी पसंद आई कि उन्होंने इसी की तर्ज पर प्रदेश के सभी थानों को बनाने के निर्देश दिए हैं।

डिजाइन बदली और बन गया मिसाल
कुछ वर्ष पूर्व थानों के नवीनीकरण को लेकर पुलिस हाउसिंग सोसायटी ने नई डिजाइन के तहत निर्माण कराए। प्रदेश के अन्य बड़े शहरों की तरह शहर में गोरखपुर, घमापुर, यातायात, महिला और कैंट थाना बना। लेकिन पुरानी डिजाइन में तरह-तरह की खामियां सामने आने के कारण सिविल लाइन थाने के नए भवन के निर्माण में नई डिजाइन का उपयोग किया गया। जिसे पूरे प्रदेश में सराहा गया और अब इसी की तर्ज पर प्रदेश के अन्य थानों के नए भवन बनेंगे।

इन थानों में होगा नया निर्माण
शहर के ओमती, गोहलपुर, हनुमानताल, बेलबाग, अधारताल, रांझी, मदनमहल, लार्डगंज जैसे पुराने थानों को जल्द ही तोड़कर नए भवन बनाए जाएंगे। पुलिस विभाग की तरफ से पुराने थानों का ध्वस्तीकरण शुरू करा दिया गया। करीब 2 साल के भीतर सभी थानों का नवीनीकरण कराने का टारगेट रखा गया है।

नए थानों में हर सुविधा होगी
नए थानों में ड्यूटी, रोजनामचा, ऑफिसर चैंबर, पुरुष-महिला लॉकअप, टॉयलेट, अतिथि कक्ष के अलावा आम लोगों के लिए पीने के लिए आरओ वॉटर और अन्य तरह की मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध होंगी। थानों के अंदर-बाहर हाईटेक सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे। इनका कंट्रोल रूम भी होगा। इसके अलावा दोपहिया-चार पहिया वाहनों की पार्किंग के साथ साफ-सफाई का इंतजाम होगा।

 

NEWS IN English

Ideal of the Civil Lines station of Jabalpur, all the stations will be built on the same lines.

Jabalpur. With the advancement of its functioning, the police is also modernizing the police stations. Breaking the old places of the state where new is being made. The design of Jabalpur Civil Lines Police station has become Ideal (Ideal) for similarly under construction stations. During the launch of the police station in December 2017, DGP Rishi Kumar Shukla and other senior officials were so impressed by the design that they had instructed to make all the locations of the state on the lines of this.

Design changed and became precedent
A few years ago, police housing societies built new designs for the upgradation of police stations. Like other big cities of the state, in the city, Gorakhpur, Ghamapur, Traffic, Women and Cantt station. But due to the different flaws in the old design, the new design was used in the construction of a new building of Civil Lines Police Station. Which was appreciated across the state and now on the lines of this, new buildings of other places of the state will be built.

These new locations will be built
Old buildings such as Omita, Gohalpur, Hanumanlal, Belabag, Adhartal, Ranjhi, Madan Mahal, Lordganj will be demolished soon and new buildings will be built soon. The demolition of old police stations was started on behalf of the Police Department. The target for renewal of all police stations has been kept in close to 2 years.

Every facility will be in new locations
In addition to duty, routine, officer chamber, male-female lockup, toilet, guest room, new water supply for ROs and other basic amenities will be available for the common people. Hightech CCTV cameras will be located inside and outside the station. They also have control rooms. Apart from this, parking of two-wheeler vehicles will be provided with cleanliness.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.