इमरान ने भी सिर पर उठाई चरण पादुका,एकात्म यात्रा का हुआ स्वागत

Advertisements

NEWS IN HINDI

इमरान ने भी सिर पर उठाई चरण पादुका,एकात्म यात्रा का हुआ स्वागत

चिचोली नगर में दिखी समरसता की झलक

सुरेंद्र बामने
चिचोली। न कोई जात-पात, न कोई भेद। कोई हाथ मे फूल लिये खड़ा था, तो कोई पूजा की थाल। यह नजारा नगर मे पहुंची एकात्म यात्रा के स्वागत के दौरान दिखाई दिया। नगर में प्रवेश करने के साथ ही नगरवासियों ने पुष्ष वर्षा कर आदि शंकराचार्य की चरण पादुका का पूजन किया। चिचोली पहुंची एकात्म यात्रा मे उमड़े जनसैलाब में इमरान ने भी आदि शंकराचार्य की चरण पादुका को सिर पर रखकर पुण्य लाभ लिया। चिचोली के तपश्री स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में मुक्तानंद गिरी महाराज ने कहा कि आदि शंकराचार्य ने मानवता मे फैले अंधकार दूर करने के लिए कार्य किया। एकात्म यात्रा का भी उद्देश्य मानवता मे फैली अज्ञानता को दूर करके ज्ञान की ओर ले जाने का है। उन्होने सभी को जातपात और आपसी भेदभाव न करने की समझाईस दी। कार्यक्रम के अन्त मे नगरपरिषद अध्यक्ष संतोष मालवीय ने जनसमुदाय को संकल्प दिलाया।

NEWS IN English

Imran also took the stepped foot on the head, welcome to Ekadam Yatra

Glimpse of samarasata in Chicholi town

Surendra Bamne
Chicholi No caste, no distinction Someone stood for flowers in hand, then there was no pooja of puja. This sight appeared during the reception of Ekad Yatra which reached the city. As well as entering the city, the townspeople worshiped the Paduka of Purusha Varsha Shankaracharya’s feet. Imran, who was born on an integral journey to Chicholi, Imran also took advantage of the virtue of Adi Shankaracharya by keeping Paduka on his head. Muktanand Giri Maharaj said that Adi Shankaracharya worked to remove the blackout spreading in humanity in the program organized at Tageshi Stadium in Chicholi. The objective of the Ekatmam Yatra is to remove ignorance spread in humanity and move towards knowledge. He explained to all the people not to discriminate between castes and castes. At the end of the program, Municipal Councilor Santosh Malaviya gave a resolution to the masses.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.